Saturday, June 15, 2024
34.1 C
New Delhi

Rozgar.com

34.1 C
New Delhi
Saturday, June 15, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img

कर्नाटक हाईकोर्ट ने यौन उत्पीड़न मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी

बेंगलूरू कर्नाटक हाईकोर्ट ने यौन उत्पीड़न मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने उनको राहत...
HomePoliticsअंतिम चरण के लिए सभी दलों ने ताकत झोंक दी, लू से...

अंतिम चरण के लिए सभी दलों ने ताकत झोंक दी, लू से परेशान राहुल गांधी ने पानी पीकर बोतल सिर पर उड़ेल लिया

बांसगांव
लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए सभी दलों ने ताकत झोंक दी है। भीषण गर्मी में एक जिले से दूसरे जिले को उड़न खटोले और कार से नाप रहे हैं। गर्मी से बचने के लिए तरह-तरह के जतन कर रहे हैं। ऐसा ही जतन मंगलवार को इंडिया गठबंधन की रैली के दौरान बांसगांव लोकसभा क्षेत्र के रुद्रपुर में देखने को मिला। यहां राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने संयुक्त जनसभा को संबोधित किया। अखिलेश के बाद रैली को संबोधित कर रहे राहुल गांधी मंच पर लू से इतना परेशान हो गए कि भाषण देते-देते सामने रखी बोतल से एक घूंट पानी पिया, फिर पूरी बोतल अपने सिर पर उड़ेल ली। यह भी कहा कि काफी गर्मी है।

ऐसा नहीं है कि राहुल गांधी ही गर्मी से परेशान हुए हैं। इससे पहले अखिलेश यादव ने भदोही में गर्मी में चुनाव के लिए तो बीजेपी को दोषी बता दिया था। अखिलेश यादव ने लोगों से कहा कि बीजेपी ने सभी को तरह तरह से परेशान कर रखा है। बीजेपी से इसका बदला लेना है। कहा कि बीजेपी ने इतनी गर्मी में चुनाव करवाकर हमें और आपको परेशान कर रखा है। गर्मी में चुनाव करवाने के लिए भी बीजेपी को हराना है।

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 13 सीटों पर एक जून को मतदान होगा। पूरा चुनाव पूर्वांचल में योगी के शहर गोरखपुर से लेकर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में है। यह पूरा इलाका इस समय भीषण गर्मी से तप रहा है। राहुल और अखिलेश यादव को बांसगांव के बाद वाराणसी में भी चुनावी सभा को संबोधित करना है। वाराणसी में मंगलवार की दोपहर तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है।
 
भीषण गर्मी में चुनाव को लेकर राहत की खबर यही है कि मौसम विभाग ने एक जून को होने वाली वोटिंग के दिन मौसम खुशगवार रहने की उम्मीद जताई है। पूर्वी यूपी में 30 मई से दो जून तक आंधी-बारिश की आशंका जताई गई है। इस बार हर चरण में पिछले साल से कम वोटिंग हुई है। इसके पीछे भी गर्मी को कारण बताया जा रहा है। ऐसे में माना जा रहा है गर्मी से राहत मिलने पर वोट प्रतिशत भी बढ़ेगा।