16.8 C
New Delhi
Tuesday, March 5, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeArvind Kejriwal: जेनेटिक बीमारी एसएमए से ग्रसित कनव की सेहत में सुधार,...

Arvind Kejriwal: जेनेटिक बीमारी एसएमए से ग्रसित कनव की सेहत में सुधार, सीएम केजरीवाल ने की मुलाकात।

Arvind Kejriwal: Met him on Tuesday and inquired about his health.

Arvind Kejriwal: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जेनेटिक बीमारी एसएमए से ग्रसित डेढ़ साल के कनव से मंगलवार को मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। कनव के माता-पिता के साथ लंबी बातचीत के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनको जन्म से ही एसएमए नामक गंभीर बीमारी है। इसके चलते उनके पैरों में बिल्कुल जान नहीं थी। अगर 24 महीने के अंदर बीमारी का इलाज नहीं होता तो जान को खतरा हो सकता था। इसके लिए कनव को 17.5 करोड़ रुपए का इंजेक्शन लगना था, जो अमेरिका से आना था। कनव को नई ज़िंदगी देने के लिए हमारे के सांसद संजीव अरोड़ा और संजय सिंह के प्रयासों और जनता के सहयोग से वो इंजेक्शन लग गया है और अब कनव के हाथ काम करने लगे हैं और पैरों में भी सुधार है। इस नेक काम में परिवार की मदद करने वाले सभी सेलिब्रिटीज, नेताओं और मीडिया संस्थानों का बहुत-बहुत शुक्रिया यदा करता हूं। इस दौरान पंजाब से ‘‘आप’’ के राज्यसभा सदस्य संजीव अरोड़ा और स्थानीय विधायक गुलाब सिंह भी पहुंचे.

Screenshot 2023 09 12 at 6.34.15 PM
Arvind Kejriwal: जेनेटिक बीमारी एसएमए से ग्रसित कनव की सेहत में सुधार, सीएम केजरीवाल ने की मुलाकात। 2

Arvind Kejriwal: सीएम अरविंद केजरीवाल जेनेटिक स्पाइनल मस्कुलर अट्रोफी (एसएमए) से ग्रसित कनव से मिलने के लिए नजफगढ़ के नंगली सकरावती स्थित उनके घर पहुंचे और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कनव डेढ़ साल का बच्चा है। कनव जब पैदा हुए थे तो उनको एक जेनेटिक बीमारी थी। इसकी वजह से कनव के पैरों में बिल्कुल जान नहीं थी। वो खड़े नहीं हो सकते थे। पैर काम नहीं कर रहे थे। यह बीमारी धीरे-धीरे पैरों से उपर शरीर में जाने लगी और कनव को बैठने में दिक्कत होने लगी। कनव के माता-पिता ने बहुत सारे टेस्ट करवाए। टेस्ट से पता चला कि कनव को आनुवंशिक बीमारी है। अगर 24 महीने के अंदर इस बीमारी का इलाज नहीं कराया गया तो ये बीमारी धीरे-धीरे पूरे शरीर में फैल जाएगी और फेफडे भी काम करना बंद कर देंगे। इससे जान का खतरा हो सकता है।

Arvind Kejriwal: सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कनव के माता-पिता ने इस बीमारी के इलाज के बारे में पता किया और पता चला कि इस बीमारी का एक ही इंजेक्शन है, जिसकी कीमत 17.5 करोड़ रुपए है। यह इंजेक्शन अमेरिका से आएगा। सीएम ने कहा कि भारत में इस बीमारी के अभी तक 9 मामले आए हैं और दिल्ली में यह पहला मामला है।

Arvind Kejriwal: सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि कनव के माता-पिता मध्यम वर्गीय परिवार से हैं। इनके लिए 17.5 करोड रुपए का इंतजाम करना आसान नहीं था। इस पैसे के इंतजाम के लिए कनव के माता- पिता ने पंजाब से हमारे राज्यसभा सदस्य संजीव अरोड़ा से संपर्क किया। सांसद संजीव अरोड़ा कई सारे चैरिटेबल कार्य करते हैं। इनकी कई सारी एनजीओ भी हैं। एनजी के जरिए संजीव अरोड़ा लोगों की मदद करते हैं। संजीव अरोडा ने लोगों से अपील कर कहा कि कनव को बचाने के लिए डोनेशन दीजिए। संजीव अरोड़ा की अपील पर बहुत सारे लोगों ने डोनेशन दिया। इस देश में अच्छे दिल वालों, दानवीरों की कमी नहीं है। लिहाजा, कनव की मदद करने के लिए बहुत सारे लोग सामने आए।

Arvind Kejriwal: सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि कुछ लोगों ने संजीव अरोड़ा से ये प्रश्न भी किया कि एक बच्चे के लिए इतना पैसा कैसे खर्च कर सकते हैं? इस पर संजीव अरोड़ा ने जवाब दिया कि आपके लिए यह एक बच्चा हो सकता है, लेकिन कनव के माता-पिता के लिए वो एक बेशकीमती बच्चा है। कनव को बहुत सारे लोगों से मदद मिली। बहुत सारे सेलिब्रिटीज ने मदद की। कई पार्टियों के नेताओं ने भी मदद की। पंजाब केसरी अखबार ने बड़ी छूट पर पूरे पेज का विज्ञापन प्रकाशित किया, ताकि लोग मदद के लिए आगे आ सकें। कनव को मदद करने वाले सभी लोगों का हम शुक्रिया करना चाहते हैं।

Arvind Kejriwal: सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि विभिन्न लोगों से मिले डोनेशन से कनव के माता-पिता के पास 10.50 करोड़ रुपए इकट्ठा हुए। इसके बाद इन्होंने इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी को फोन किया और 10.50 करोड रुपए में इंजेक्शन देने की अपील की। कंपनी वालों ने भी सहयोग किया और उन्होंने 10.50 करोड रुपए में वो इंजेक्शन दे दिया। हम कंपनी का भी शुक्रिया यदा करना चाहते हैं। केंद्र सरकार ने इंजेक्शन पर से आयात शुल्क हटा दिया था। हम केंद्र सरकार का भी शुक्रिया यदा करते हैं।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि इंजेशन लगने के बाद कनव के स्वास्थ्य में सुधार है। पहले कनव के हाथ काम नहीं कर रहे थे लेकिन अब हाथ काम करने लगे हैं। पैरों में भी सुधार आने लगा है। मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि कनव को लंबी आयु दे और खुशहाल जिंदगी दे।

Arvind Kejriwal: सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दिल्ली के डेढ़ साल के कनव को जन्म से ही एसएमए नाम की गंभीर बीमारी है। देश में अब तक ऐसे कुल 9 मामले ही हैं। इस बच्चे को 17.5 करोड़ का इंजेक्शन लगना था, जो अमेरिका से आना था। इस छोटे बच्चे को एक नई ज़िंदगी देने के लिए हमारे सांसद संजीव अरोड़ा जी और संजय सिंह जी के प्रयासों और जनता के सहयोग से वो इंजेक्शन लग गया है और बच्चा अभी स्वस्थ है। धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। जितने भी सेलेब्रिटीज़, नेताओं और मीडिया संस्थानों ने इस नेक काम में परिवार की मदद की है, उन सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। ईश्वर इस बच्चे को हमेशा स्वस्थ और खुशहाल रखें।’’

बता दें कि कनव (18 माह) को जेनेटिक स्पाइनल मस्कुलर अट्रोफी (एसएमए) बीमारी से ग्रसित था, जिसको जोलगेनेस्मा इंजेक्शन के लिए 17.50 करोड़ रुपए चाहिए थे। एसएमए की बीमारी शरीर में एसएमएन-1 जीन की कमी से होती है। इसके लिए आम आदमी पार्टी और पंजाब से राज्यसभा सांसद संजीव अरोड़ा ने काफी सहयोग किया, जिसके बाद बच्चे को ये इंजेक्शन लग पाया और ये बच्चा आज काफी स्वास्थ्य है। मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद बच्चे का हाल जानने के लिए बीमार बच्चे के घर नजफगढ़ पहुंचकर मुलाकात की।

यह भी पढ़ें :https://www.khabronkaadda.com/aap-punjab-arvind-kejriwal-visit-punjab/