29 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi News188 New Court Rooms: दिल्ली के ज़िला न्यायालयों में 188 नए कोर्ट...

188 New Court Rooms: दिल्ली के ज़िला न्यायालयों में 188 नए कोर्ट रूम बनाने के लिए आतिशी ने की बैठक।

Atishi held a meeting to create 188 new court rooms in the district courts of Delhi.

  • कानून व पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने दिल्ली के ज़िला न्यायालयों में 188 नए कोर्ट रूम बनाने की दिल्ली सरकार की योजना को लेकर की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक
  • क़ानून मंत्री आतिशी ने अधिकारियों को दिए निर्देश- न्यायालयों में कोर्ट रूम की कमी को पूरा करने के लिए निर्धारित समय सीमा के भीतर तैयार करें विस्तृत योजना
  • टाइमलाइन के साथ पीडब्ल्यूडी और क़ानून विभाग के अधिकारी सुनिश्चित करें कि जल्द से जल्द शुरू हो निर्माण कार्य-पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी
  • दिल्ली के ज़िला न्यायालयों में कोर्ट रूम्स की कमी दूर करने के लिए युद्धस्तर पर हो काम, इसमें कोई भी देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी- कानून मंत्री आतिशी
  • जल्द और सुलभ न्याय हर भारतीय का मूल अधिकार; ऐसे में राजधानी में पर्याप्त न्यायिक इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाना केजरीवाल सरकार की प्रतिबद्धता-क़ानून मंत्री आतिशी
  • न्यायालयों में जज़ों, वकीलों और नागरिकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए बेहतर सार्वजनिक सुविधाओं के साथ किया जाए कोर्ट रूम का निर्माण – कानून मंत्री आतिशी

दिल्ली के ज़िला न्यायालयों में 188 नए कोर्ट रूम बनाने की केजरीवाल सरकार की योजना को लेकर क़ानून व पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। शहर के न्यायालयों में कोर्ट रूम्स की कमी को दूर करने की तत्काल आवश्यकता को पहचानते हुए, क़ानून मंत्री आतिशी ने अधिकारियों को न्यायिक इंफ्रास्ट्रक्चर की मांग को पूरा करने के लिए टाइमलाइन के साथ विस्तृत योजनाएं तैयार करने का निर्देश दिया।

युद्ध स्तर पर न्यायालयों की क्षमता का विस्तार करने के इरादे से, मंत्री द्वारा अधिकारियों को इन नए कोर्ट रूम्सकी तैयारी के लिए अधिकारियों को चरण-वार तरीक़े और चेकलिस्ट तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इस महत्वपूर्ण कार्य में केजरीवाल सरकार कोई भी देरी स्वीकार नहीं करेगी।

समीक्षा बैठक के दौरान, मंत्री आतिशी ने पीडब्ल्यूडी और कानून विभाग को ज़िला अदालतों में कोर्ट रूम्स के निर्माण को समय पर सुनिश्चित करने के लिए युद्ध स्तर पर काम करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि, जल्द और सुलभ न्याय मिलना हर भारतीय का मूल अधिकार है और यह तभी संभव है जब न्यायालयों में पर्याप्त इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध हो। ऐसे में राजधानी में पर्याप्त न्यायिक इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाना केजरीवाल सरकार की प्रतिबद्धता है। दिल्ली में 188 नए कोर्ट रूम बनाने का मिशन इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण होगा।

क़ानून मंत्री आतिशी ने कहा, “केजरीवाल सरकार शहर में न्यायैक इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। वर्तमान में, देश भर में न्यायाधीशों और अदालतों पर लंबित मुकदमों का बहुत बोझ है, जिससे मामलों के समाधान में अनावश्यक देरी हो रही है। ऐसे में दिल्ली में 188 नए कोर्ट रूम बनाने की सरकार की प्रतिबद्धता एक न्यायिक प्रणाली को मजबूत करने की दिशा में बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा।

बैठक में क़ानून मंत्री आतिशी ने बिना किसी देरी के सभी नए कोर्ट रूम्स तैयार करने और उनमें आवश्यक सुविधाओं को शामिल करने पर जोर दिया।