Tuesday, May 21, 2024
37.1 C
New Delhi

Rozgar.com

37.1 C
New Delhi
Tuesday, May 21, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img

अब UP में सात साल से कोई दंगा नहीं हुआ, इंडिया गठबंधन यूपी के बुलडोजर से घबराया हुआ- योगी

नई दिल्ली पूर्वी दिल्ली में सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पार्टी प्रत्याशी हर्ष मल्होत्रा के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया।...
HomeStatesRajasthanआज चुनाव से पहले बीजेपी ने बदले कई जिलों के जिलाध्यक्ष, लिस्ट...

आज चुनाव से पहले बीजेपी ने बदले कई जिलों के जिलाध्यक्ष, लिस्ट जारी, सीएम ने दी बधाई

जयपुर

आगामी लोकसभा चुनावों के पहले राजस्थान में, भारतीय जनता पार्टी ने कई जिलों के जिलाध्यक्षों में बदलाव किया है। वहीं इस बदलाव के बाद, राजस्थान के मुख्यमंत्री, भजनलाल शर्मा ने अपने ट्विटर अकाउंट X पर इसकी जानकारी दी है। इस दौरान उन्होंने लिखा की “भारतीय जनता पार्टी के सभी नवनियुक्त ज़िलाध्यक्षों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ।”

दरअसल भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान में आगामी लोकसभा चुनाव से पहले यह बड़ा कदम उठाया है। इसके अनुसार, नए जिलाध्यक्षों को निम्नलिखित जिलों में नियुक्त किया गया है। जानकारी के अनुसार भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सी.पी. जोशी जी के नेतृत्व में, झुंझुनू, सीकर, टोंक, डूंगरपुर, कोटा शहर, कोटा देहात, बूंदी, और बारां जिलों के नए जिलाध्यक्षों का ऐलान किया गया है।

बीजेपी की जिलाध्यक्षों की नई टीम:

झुंझुनू – बनवारीलाल सैनी
सीकर – कमल सिकवाल
टोंक – अजीत मेहता
डूंगरपुर – हरीश पाटीदार
कोटा शहर – राकेश जैन
कोटा देहात – प्रेम गोचर
बूंदी – सुरेश अग्रवाल
बारां – नन्दलाल सुमन

वहीं यह घोषणा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सी.पी. जोशी के निर्देशानुसार तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई है। इसी के साथ, प्रदेश महामंत्री दामोदर अग्रवाल ने भी जिलाध्यक्षों को बधाई और उन्हें आगामी चुनाव के लिए तैयार रहने का संदेश दिया है।

दरअसल बीजेपी का यह परिवर्तन चुनावी युद्ध की तैयारी के माध्यम से एक बड़ा कदम हो सकता है। नए जिलाध्यक्षों के नियुक्ति से पार्टी की बेहद जरूरी रणनीतिक गतिविधियों को मजबूती मिलेगी। दरअसल बीजेपी ने जो जिलाध्यक्षों की नई टीम का ऐलान किया है, इसमें अनुभवी और नए लोगों को समाहित किया गया है। दरअसल यह चुनौतीपूर्ण समय में भी एक मजबूत दल की क्षवि छोड़ सकता है, जो चुनावी रणनीति को बदलने की कोशिश कर रहा है।