26.8 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeAmazon India: केजरीवाल सरकार के बिज़नेस ब्लास्टर्स ने 'अमेज़ॅन इंडिया' के शीर्ष...

Amazon India: केजरीवाल सरकार के बिज़नेस ब्लास्टर्स ने ‘अमेज़ॅन इंडिया’ के शीर्ष नेतृत्व से सीखे एंत्रप्रेन्योरशिप के गुर।

Business blasters of Kejriwal government learned the tricks of entrepreneurship from the top leadership of ‘Amazon India’.

  • बेंगलुरु में आयोजित अमेज़ॅन के साथ सेशन में दिल्ली सरकार के स्कूलों के नन्हे एंत्रप्रेन्योर्स को दिग्गजों से मिली मार्केटिंग, ब्रांडिंग, स्केलिंग ग्रोथ, सेल्स और फ़ाइनेंशियल मैनेजमेंट पर मेंटरशिप
  • केजरीवाल सरकार का ‘बिजनेस ब्लास्टर्स’ भविष्य के बिजनेस लीडर्स को तैयार करने पर केंद्रित है जो विश्व स्तर पर नेतृत्व कर सकते हैं, इस तरह के प्रदर्शन से उन्हें फलने-फूलने में मदद मिलेगी- शिक्षा मंत्री आतिशी
  • इन युवा एंत्रप्रेन्योर्स को प्रसिद्ध कंपनियों और एक्सपर्ट्स के साथ जोड़कर, हम उन्हें अपने बिज़नेस को नए स्तर पर ले जाने के स्किल्स से लैस कर रहे हैं- शिक्षा मंत्री आतिशी
  • छात्रों ने किया साझा- मेंटरशिप सेशन से हमें भारत के साथ-साथ ग्लोबल मार्केट में भी अपने बिज़नेस और सेल्स बढ़ाने के लिए मिला ज़रूरी नॉलेज
  • अमेज़ॅन से पहले केजरीवाल सरकार के बिज़नेस ब्लास्टर्स को डेल, टीसीएस, नेटवेस्ट सहित दर्जनभर कंपनियों के एक्सपर्ट्स से मिल चुकी है मेंटरशिप

केजरीवाल सरकार अपने फ्लैगशिप प्रोग्राम बिज़नेस ब्लास्टर्स के तहत दिल्ली सरकार के स्कूलों के बच्चों के बिज़नेस आइडियाज़ को शानदार स्टार्टअप्स में तब्दील करने के लिए वर्ल्ड क्लास एक्सपोज़र प्रदान कर रही है। इस दिशा में हाल ही में, केजरीवाल सरकार के स्कूलों की 15 बिजनेस ब्लास्टर्स टीमों में शामिल 28 छात्रों के एक बैच के लिए बेंगलुरु में ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म अमेज़ॅन के शीर्ष नेतृत्व से ब्रांडिंग और मार्केटिंग में वन टू वन मेंटरिंग सेशन आयोजित किया गया। इस मेंटरिंग सेशन के दौरान इन नन्हे एंत्रप्रेन्योर्स को अमेज़ॅन इंडिया के दिग्गजों से बिज़नेस के विभिन्न पहलुओं जैसे मार्केटिंग, स्केलिंग ग्रोथ, सेल्स, फाइनेंशियल मैनेजमेंट आदि पर मेंटरिंग मिली।

मेंटरिग सेशन के दौरान बिजनेस ब्लास्टर्स टीमों ने अमेज़ॅन के लीडरशिप के सामने अपने स्टार्टअप्स में आने वाली चुनौतियों के विषय में भी साझा किया और सेशन के दौरान उन्हें इन चुनौतियों से पार पाकर अपने बिज़नेस को बेहतर ढंग से आगे बढ़ाने को लेकर भी मदद मिली।

अमेज़ॅन इंडिया के साथ मेंटरशिप सत्र से अपने अनुभव साझा करते हुए, स्टार्टअप क्राफ्ट कॉटेज के फाउंडर और दिल्ली सरकार स्कूल की पूर्व छात्र दिव्यांशी चित्रांश ने कहा, “इस मेंटरशिप सत्र ने मुझे भारत में अग्रणी मार्केटिंग टीमों में से एक के साथ बातचीत करने का मौका दिया। सत्र के दौरान एक्सपर्ट्स ने मुझे और मेरी टीम को अपने प्रॉडक्ट्स को अमेज़ॅन पर बिक्री बढ़ाने के लिए एल्गोरिदम को समझने और लोगों के लिए उत्पाद को अच्छी तरह से ब्रांड करने के तरीके को समझने में मदद की। कुल मिलाकर, हमारे लिए ये मेंटरशिप सेशन बहुत ही महत्वपूर्ण था जिसकी बदौलत हमें हमारे बिज़नेस को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

बिजनेस ब्लास्टर्स की एक अन्य टीम, युडेकोर के टीम लीडर, कृष्णा राठौड़ ने कहा, “पिछले 1.5 वर्षों में, हमें बहुत से मेंटरशिप सेशन में शामिल होने का मौक़ा मिला हैं। लेकिन यह पहली बार था कि हमने अपने व्यवसाय के लिए किसी बहुराष्ट्रीय कंपनी की शीर्ष मार्केटिंग टीम से व्यक्तिगत रूप से बातचीत की। यह सीखने का एक शानदार अनुभव था, और यहाँ मेंटर्स ने हमारे पास पहले से उपलब्ध विशेष उत्पादों का उपयोग करके हमारी पैकेजिंग, ब्रांडिंग और हमारे व्यवसाय के विस्तार पर हमारा मार्गदर्शन किया।

मोबीसाइट के फाउंडर सुख सागर ने साझा किया, “मेरे स्टार्टअप का मौजूदा रेवन्यू 30 लाख रुपये से अधिक है। ये बिज़नेस रीफर्बिश्ड फोन का है। मेंटरशिप सत्र के दौरान, मुझे अमेज़ॅन के अधिकारियों के साथ एक डिस्कशन में शामिल होने का अवसर मिला, जो रीफर्बिश्ड फोन डिपार्टमेंट की देखरेख करते हैं। हमारी बातचीत मुख्य रूप से निदान, मार्केटिंग स्ट्रेटेजी और देश भर में हमारे ग्राहक आधार का विस्तार करने पर फोकस्ड थी।

अमेज़ॅन के साथ मेंटरशिप सत्र के बारे में बोलते हुए, शिक्षा मंत्री आतिशी ने कहा, “केजरीवाल सरकार के फ्लैगशिप प्रोग्राम ‘बिजनेस ब्लास्टर्स’ भविष्य के बिजनेस लीडर्स को तैयार करने पर फोकस्ड है जो देश के साथ-साथ दुनिया का नेतृत्व कर सकते हैं। इसके लिए उनका ग्लोबल एक्सपोजर होना जरूरी है। अपने व्यवसाय को सफल बनाने के लिए उन्हें तकनीकी ज्ञान होना आवश्यक है। उसी के मद्देनजर, अमेज़ॅन इंडिया लीडरशिप के साथ हालिया मेंटरशिप सत्र आयोजित किया गया था।

उन्होंने कहा, “हमारी बिजनेस ब्लास्टर्स टीमों को सबसे शानदार अवसर प्रदान करना केजरीवाल सरकार की प्रतिबद्धता है। हमारा मानना ​​है कि उन्हें प्रसिद्ध कंपनियों और विशेषज्ञों के साथ जोड़कर, हम इन युवा उद्यमियों को वैश्विक व्यापार परिदृश्य में आगे बढ़ने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान से लैस कर रहे हैं। हमारा उद्देश्य उन्हें न केवल अपने बिज़नेस में सफल होने के लिए सशक्त बनाना है, बल्कि दिल्ली और पूरे देश की आर्थिक तरक़्क़ी और विकास में भी योगदान देना है। ये वे छात्र हैं जो भविष्य में न केवल गूगल, माइक्रोसॉफ़्ट, अमेजन जैसी कंपनियों का नेतृत्व करेंगे बल्कि भारत में भी इस स्तर की कंपनियों की शुरुआत करेंगे और बेरोज़गारी की महामारी को ख़त्म करेंगे।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि केजरीवाल सरकार लगातार यह सुनिश्चित करती है कि बिजनेस ब्लास्टर्स टीमों को आवश्यक एक्सपोज़र के अवसर प्राप्त हों और वे यथासंभव अधिक से अधिक बहुराष्ट्रीय कंपनियों के साथ जुड़ें। अतीत में, छात्रों को डेल टेक्नोलॉजीज, एक्सेंचर, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एल एंड टी टेक्नोलॉजी सर्विसेज लिमिटेड, नेटवेस्ट ग्रुप, बीसीजी, चायोस और अन्य कंपनियों के प्रशिक्षकों के साथ काम करने का अवसर मिला है।

बिजनेस ब्लास्टर्स भविष्य के जॉब क्रिएटर्स को तैयार करना जारी रख रहे हैं

शैक्षणिक वर्ष 2023-24 के लिए स्कूलों में बिजनेस ब्लास्टर्स शुरू हो गया है। लगभग 2,50,000 छात्रों वाली लगभग 39,000 टीमों ने रुपये की प्रारंभिक धनराशि प्राप्त करने के लिए स्कूलों में अपने विचार रखे।वर्तमान में, लगभग 1.6 लाख छात्रों को सीड मनी प्रदान की गई है, और उन्होंने अपनी टीमों में अपने बिज़नेस आइडियाज़ पर काम करना शुरू कर दिया है। नवंबर में अगले चरण के रूप में, प्रत्येक स्कूल अपनी शीर्ष तीन टीमों का चयन करेगा।

क्या है दिल्ली सरकार का बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम?

बिजनेस ब्लास्टर्स दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढ़ाए जाने वाले एंत्रप्रेन्योरशिप माइंडसेट करिकुलम (ईएमसी) का एक अभिन्न अंग है। इस कार्यक्रम के तहत, छात्रों को अपने स्वयं के स्टार्टअप शुरू करने का वास्तविक अनुभव प्राप्त होता है, जिसमें सरकार 2000 रुपये प्रति छात्र की शुरुआती सीड मनी प्रदान करती है। देश भर के प्रसिद्ध और सफल उद्यमी इन छात्रों को मार्गदर्शन प्रदान करते हैं।

अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने पर, सफल बिजनेस ब्लास्टर्स टीम के सदस्यों को एनएसयूटी, आईजीडीटीयूडब्ल्यू, डीटीयू, डीएसईयू, आईआईआईटी-डी, डीपीएसआरयू और अंबेडकर विश्वविद्यालय सहित दिल्ली सरकार के शीर्ष कॉलेजों में भर्ती होने का अवसर मिलता है। बिजनेस ब्लास्टर्स के पहले सीज़न के बाद, टॉप 56 छात्रों को इन यूनिवर्सिटीज़ में दाख़िला दिया गया था।