21.8 C
New Delhi
Tuesday, March 5, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi NewsUrban Cleanliness: शहरी स्वच्छता के सबसे बड़े उत्सव का जश्न।

Urban Cleanliness: शहरी स्वच्छता के सबसे बड़े उत्सव का जश्न।

Celebrating the biggest festival of urban cleanliness.

मंच पूरी तरह तैयार हो चुका है! दुनिया के सबसे बड़े शहरी स्वच्छता सर्वेक्षण का 8वां संस्करण, जिसका सभी को बड़ी उत्सुकता से इंतजार था, आखिरकार उसके नतीजे आ गए हैं, जिनके अंतर्गत एक बार फिर शहरी भारत के सबसे स्वच्छ शहरों के नाम घोषित किए जाएंगे। भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 11 जनवरी 2024 को भारत मंडपम में आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय कार्यक्रम में स्वच्छ सर्वेक्षण के विजेताओं को सम्मान प्रदान करेंगी। इस कार्यक्रम में विभिन्न श्रेणियों के तहत 110 से अधिक पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। अकेले राष्ट्रीय श्रेणी में 20 से अधिक पुरस्कार होंगे। इसके अतिरिक्त, राज्यों को विभिन्न श्रेणियों में उनके प्रदर्शन के लिए भी मान्यता दी जाएगी और पुरस्कृत किया जाएगा।

image001006O

स्वच्छ सर्वेक्षण ने शहरों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की अनोखी भावना जगाई है, जिससे वे शहरी स्वच्छता बढ़ाने और अपने निवासियों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रेरित हुए हैं। साल 2016 में महज 73 प्रमुख शहरों के मूल्यांकन के साथ शुरू हुए इस स्वच्छ सर्वेक्षण के वर्तमान संस्करण में 4477 शहर शामिल हुए, इतने शहरों तक अपनी पहुंच बनाने के बाद स्वच्छ सर्वेक्षण का महत्व काफी तेजी से बढ़ा है। इस साल, स्वच्छ शहर पुरस्कारों में विरासत में मिले पुराने डंपसाइटों को खत्म करने, प्लास्टिक के कचरे का प्रबंधन करने, रिड्यूस, रीयूज, रीसाइक्लिंग के सिद्धांतों को लागू करने और सफ़ाईमित्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को प्राथमिकता दी गई है। सर्वेक्षण का 8वां संस्करण कचरे को मूल्यवान संसाधनों में परिवर्तित करने पर केंद्रित था और इसका मूल्यांकन 3,000 से अधिक मूल्यांकनकर्ताओं की एक टीम द्वारा किया गया था।

image002CGXW

नागरिकों की भागीदारी और प्रतिक्रियाओं पर जोर सर्वेक्षण की सफलता में सहायक रहा है। कुल मिलाकर सर्वेक्षण में लगभग 409 मिलियन की आबादी को शामिल किया गया। इस साल मूल्यांकन के दौरान आश्चर्यजनक रूप से 12 करोड़ नागरिकों की प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुईं, जो विभिन्न चैनलों के माध्यम से बड़े स्तर पर नागरिकों के जुड़ाव के अभूतपूर्व स्तर को दर्शाती हैं।

साल के सबसे प्रतीक्षित पुरस्कार समारोह के अलावा, 11 जनवरी 2024 को स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार स्थल भारत मंडपम में अपशिष्ट प्रबंधन में नवीनतम तकनीकों और उपकरणों की एक रोमांचक श्रृंखला प्रदर्शित की जाएगी। मैकेनिकल स्वीपिंग मशीनें, सीवेज क्लीनिंग रोबोट, कचरा संग्रहण और परिवहन वाहन यहां आने वाले लोगों का ध्यान आकर्षित करेंगे। इतना ही नहीं, प्रदर्शनी में कचरे से बने उत्पाद भी खरीदे जा सकते हैं! स्वयं सहायता समूहों द्वारा रंग-बिरंगे स्टॉल लगाए जाएंगे, जो कचरे से बनी अपनी कलाकृतियां बेच सकेंगे। यह आयोजन कागज रहित और शून्य-अपशिष्ट कार्यक्रम अवधारणा पर आधारित होगा।

पुरस्कार समारोह में शहरी विकास मंत्रियों समेत देश के विभिन्न हिस्सों के मेयर, राज्य और शहर प्रशासक, सेक्टर भागीदार, विषय विशेषज्ञ, युवा संगठन, उद्योग प्रतिनिधि, स्वच्छता और अपशिष्ट प्रबंधन क्षेत्र में स्टार्टअप, शैक्षणिक संस्थान, गैर सरकारी संगठन, सीएसओ, सफ़ाई मित्र, स्वयं सहायता समूह आदि शामिल होंगे।

स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कारों का ध्यान केवल विजेता स्वच्छ शहरों को पुरस्कृत करने पर नहीं है, बल्कि उन शहरों को मान्यता देने पर भी है जिन्होंने स्वच्छता की दिशा में महत्वपूर्ण प्रगति की है और कचरा मुक्त वातावरण प्राप्त करने के लिए विभिन्न पहलों को लागू किया है। एक साल की कड़ी मेहनत, स्वस्थ प्रतिस्पर्धा, स्वच्छता के प्रति उत्साह और जुनून के बाद शहर बेसब्री से 11 जनवरी 2024 का इंतजार कर रहे हैं, जिस दिन स्वच्छ सर्वेक्षण के 8वें संस्करण के विजेताओं की घोषणा की जाएगी।