Tuesday, April 16, 2024
28.1 C
New Delhi

Rozgar.com

29 C
New Delhi
Tuesday, April 16, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesChhattisgarhमुख्यमंत्री कन्या विवाह: एक-दूजे के हुए 175 जोड़े, पारंपरिक रिवाजों से हुई...

मुख्यमंत्री कन्या विवाह: एक-दूजे के हुए 175 जोड़े, पारंपरिक रिवाजों से हुई शादी; 21-21 हजार रुपये का मिला चेक

बीजापुर.

बीजापुर में जिला प्रशासन व महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत 175 जोड़ों का विवाह पारंपरिक रीति रिवाजों से संपंन्न कराया गया। इस दौरान वहां मौजूद कलेक्टर अनुराग पांडेय व जनप्रतिनिधियों ने नव दंपतियों को आशीर्वाद दिया।

बीजापुर, भैरमगढ़ और कुटरू तहसील के कुल 175  नव दंपतियों ने छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत एक-दूसरे के जीवन साथी बने। जिला प्रशासन एवं महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में हिंदू 95, आदिवासी 62 और ईसाई रीति रिवाज से 18 नव दंपतियों का विवाह उत्साह, उमंग और पारंपरिक रीति रिवाजों व बाजे-गाजे के आयोजन के साथ संपन्न हुआ। कलेक्टर अनुराग पांडेय सहित उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने नव दंपति को सुखद वैवाहिक जीवन का आशीर्वाद दिया। जनप्रतिनिधियों में जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, नगरपालिका अध्यक्ष बेनहूर रावतिया सहित डिप्टी कलेक्टर दिलीप उईके, विकास सर्वे, जिला कार्यक्रम अधिकारी लूपेंद्र महिनाग सहित जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी-कर्मचारी उत्साह के साथ कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। इस दौरान नव दंपतियों को राज्य शासन की ओर से 21-21 हजार रुपये का चेक प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना गरीब माता-पिता के लिए एक बेहद सुखमय योजना है। इससे माता-पिता को अपने बेटियों के विवाह, दहेज जैसे कु-प्रथा से निजात दिलाती है। इस योजना से प्रत्येक जोड़े को 50 हजार का अनुदान स्वीकृत किया जाता है। इसमें से 21 हजार रुपये को वित्तीय सहायता के रूप में बैंक खाते के माध्यम से राशि का भुगतान किया जाता है।

इसी तरह 15 हजार रुपये का उपहार सामग्री, 6 हजार रुपये का वर-वधु का श्रृंगार और वस्त्र इत्यादि तथा 8 हजार रुपये विवाह आयोजन पर व्यय किया जाता है। इस तरह प्रत्येक जोड़ों को 50 हजार रुपये की राशि स्वीकृत की जाती है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह आयोजन के दौरान वर-वधु एवं उपस्थित जन समुदाय को शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं पर आधारित जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रकाशित जनमत्र पत्रिका, मोदी की गारंटी पाकेट बुक, विष्णुदेव साय के त्वरित निर्णयों से हो रहा सुशासन का सूर्योदय, मातृत्व का जतन, महतारियों का वंदन पुस्तक, रामो विग्रहवान धर्म, कैलेंडर सहित विभिन्न पुस्तक एवं ब्रोसर का वितरण किया गया।