27.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi NewsCM केजरीवाल ने 32 और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे खोलने की...

CM केजरीवाल ने 32 और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे खोलने की दी मंजूरी।

CM Kejriwal gave approval to open 24 hours for 32 more business establishments.

  • सीएम केजरीवाल ने 32 और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे खोलने की दी मंजूरी, आर्थिक गतिविधियों को मिलेगा बढ़ावा
  • ये सभी दुकानें व व्यवसायिक प्रतिष्ठान कमर्शियल, रिटेल ट्रेड या बिजनेस, प्रोविजन स्टोर कटेगरी के हैं
  • इन व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे संचालित होने से युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे
  • दिल्ली के श्रम विभाग को 52 लोगों से मिले थे आवेदन, 20 आवेदन पत्र मानकों पर नहीं उतरे खरे
  • दिल्ली शॉप एस्टीब्लिशमेंट एक्ट 1954 के प्रावधानों व नियमों का कड़ाई से पालन नहीं करने पर की जाएगी कड़ी कार्रवाई
  • सीएम अरविंद केजरीवाल ने पिछले कुछ सालों में 667 दुकानों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे संचालित करने की दी है अनुमति

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को 32 और दुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे खोलने की मंजूरी दी है। मुख्यमंत्री की इस पहल से दिल्ली के अंदर आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलने के साथ ही युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे। इन प्रतिष्ठानों को 24 घंटे खोलने को लेकर दिल्ली के श्रम विभाग ने मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्ताव रखा था। ये व्यवसायिक प्रतिष्ठान कमर्शियल, रिटेल ट्रेड या बिजनेस, प्रोविजन स्टोर कटेगरी के हैं। सभी को दिल्ली शॉप एस्टीब्लिशमेंट एक्ट 1954 के प्रावधानों और नियमों का कड़ाई से पालन करना होगा। सरकार इन पर कड़ी निगरानी रखेगी, ताकि नियमों का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की जा सके। अब इस प्रस्ताव को अंतिम मंजूरी देने के लिए फाइल एलजी के पास भेजी गई है।

इन दुकानों और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को दिल्ली शॉप एस्टिब्लिशमेंट्स एक्ट 1954 की धारा 14, 15 व 16 के प्रावधानों और नियमों का सख्ती से पालन करना अनिवार्य है। मसलन, गर्मियों के दिनों में रात 9 से सुबह 7 बजे तक और ठंड के मौसम में रात 8 से सुबह 8 बजे के बीच किसी भी प्रतिष्ठान में महिला कर्मचारियों को काम करने की अनुमति नहीं होगी। दुकानों को तय समय के अंदर ही खोलना और बंद करना होगा। इसका उल्लंघन करने पर व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद कराए जा सकते हैं। अगर ग्राहक इंतजार कर रहे हैं तो दुकान खोलने के लिए 15 मिनट का अतिरिक्त समय मिलेगा। अलग- अलग इलाकों में दुकानों को खोलने या बंद रखने का अलग-अलग समय तय हो सकता है और स्वामियों को उसका पालन करना होगा।

दिल्ली शॉप एंड एस्टिब्लिशमेंट्स एक्ट 1954 के तहत दिल्ली के श्रम विभाग के पास 24 घंटे दुकानों का संचालन करने के इच्छुक 52 लोगों ने आवेदन किया था। श्रम विभाग द्वारा इन आवेदन पत्रों और दस्तावेजों की गहनता से जांच की गई। इस दौरान 52 में से 20 आवेदन पत्रों में कमियां पाई गई। जिसके बाद इन पर विचार नहीं किया गया। वहीं, 32 आवेदन पत्र सभी मानक पूरे करते पाए गए। जिसके बाद इनको स्वीकृति दी गई है।

गौरतलब है कि पिछले कुछ वर्षों में दिल्ली के अंदर 24 घंटे दुकानों व व्यसायिक प्रतिष्ठानों के संचालन की अनुमति लेने वालों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। सीएम द्वारा समय-समय पर मानदंडों को पूरा करने वाले व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को मंजूरी दी जाती है। इससे पहले, सीएम ने अगस्त माह में 29 और नवंबर माह में 83 दुकानों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को अनुमति दी थी। अब 32 और दुकानों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को अनुमति दी गई है। इसके बाद अब इनकी संख्या बढ़कर 667 हो गई है।

दरअसल, केजरीवाल सरकार दिल्ली में व्यवसायिक गतिविधियों के अनुकूल माहौल तैयार करने को लेकर बेहद गंभीर है, ताकि इसे बढ़ावा मिल सके। लिहाजा, सरकार ने इसको प्रोत्साहित करने और आर्थिक विकास को मजबूत करने के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल के सकारात्मक रूख के चलते 24 घंटे व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को संचालित करने के इच्छुक दुकान स्वामियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके पीछे सरकार का उद्देश्य रोजगार के अधिक अवसर पैदा करना और दिल्ली की अर्थव्यवस्था के समग्र विकास को बढ़ावा देना है। इससे व्यवसायों और उपभोक्ताओं दोनों पर समान रूप से सकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद है। साथ ही, व्यापारियों को ज्यादा समय तक सेवा प्रदान करने की अनुमित मिलने से जनता को भी बेहतर सुविधाएं मिल सकेंगी और वे 24 घंटे आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं का उपयोग कर पाएंगे।

वहीं, सीएम अरविंद केजरीवाल के हस्तक्षेप के बाद दिल्ली के अंदर इंस्पेक्टर राज पूरी तरह से खत्म हो गया है। साथ ही, दुकानों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के संचालन को लेकर आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है। इससे व्यापारियों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाना नहीं पड़ रहा है। आवेदन करने के चार सप्ताह के अंदर ही सत्यापन कार्य पूरा कर लिया जाता है। इसके अलावा, दिल्ली में दुकानों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को 24 घंटे संचालित करने की अनुमति देने का निर्णय दिल्ली में व्यापार और “इज ऑफ डूइंग बिजनेस” को बढ़ावा देने के सरकार के विजन को दर्शाता है। इसके अलावा, यदि कोई आवेदक अपेक्षित अनुमोदन प्राप्त करने में विफल रहता है, तो भी सरकार आवेदक को गाइडलाइन के अनुसार अपनी कमियों को सुधारने और दोबारा अनुमोदन प्राप्त करने का अवसर देती है।

इन इलाकों में व्यवसायिक प्रतिष्ठान खोलने की मिली अनुमति

दिल्ली सरकार ने जिन दुकानों को 24 घंटे संचालित करने की अनुमति दी है, उनमें कई काटेगरी दुकानें हैं। मसलन, अलीपुर, मेहरौली, बदरपुर, गांधी नगर में एक-एक लॉजिस्टिक एंड कूरियर सर्विस के व्यवसायिक प्रतिष्ठान 24 घंटे खुलेंगे। ओखला फेस-3 में एक स्वीट शॉप, मेहरौली में एक होटल एवं रेस्टोरेंट को अनुमति मिली है। इसी तरह, नेताजी नगर में एक रेस्टोरेंट एवं इवेंट मैनेजमेंट, अशोक विहार में एक डिपार्टमेंटल कंवेनियंस स्टोर, गुप्ता कालोनी में एक प्रोजिन स्टोर, विनोद नगर, राजौर गार्डेंन आसफ अली रोड, द्वारका सेक्टर 23ए, नजरफगढ़ रोड, अफ्रीकन एवेन्यू, हौज खास, शक्ति नगर एक्सटेंशन, महावीर एनक्लेव, प्रियदशर्नी विहार, राजेंद्र प्लेस, विकासपुरी, हौज खास, मुनिरका, छतरपुर में स्टोर मैनेजमेंट सर्विस को अनुमति दी गई है। जबकि, न्यू अशोक नगर में सोर्सिंग ऑफ मर्चेंडाइज, वसंत कुंज, ग्रीन पार्क, राजौर गार्डेेन, रोहिणी सेक्टर 10, द्वारका सेक्टर 4 में आयुर्वेदिक एवं फूड वस्तुओं की रिटेल सेल के प्रतिष्ठान खोलने की अनुमति दी गई है।