27.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeDelhi: महिला एवं बाल विकास मंत्री आतिशी ने 5000 आंगनवाड़ी वर्कर्स से...

Delhi: महिला एवं बाल विकास मंत्री आतिशी ने 5000 आंगनवाड़ी वर्कर्स से किया संवाद।

Delhi: Minister Atishi interacted with more than 5000 Anganwadi workers on Friday.

Delhi: महिला एवं बाल विकास मंत्री आतिशी ने शुक्रवार को 5000 से अधिक आंगनवाड़ी वर्कर्स के साथ संवाद किया। और उन्हें आंगनवाड़ी केंद्रों में भी शिक्षा क्रांति लाने के लिए प्रेरित किया।

Delhi: आंगनवाड़ी वर्कर्स से संवाद के दौरान महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि, “दिल्ली में हर बच्चे को शानदार अर्ली चाइल्डहुड शिक्षा मिले इसके लिए बड़ी संख्या में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को एक साथ इकट्ठा होते देखना बहुत खुशी की बात है। इससे मुझे उम्मीद है कि हम साथ मिलकर काम करेंगे और दिल्ली के हर बच्चे को एक उज्जवल भविष्य देंगे। उन्होंने कहा कि इस दिशा में ‘खेल पिटारा’ किट बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा। इस किट में बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए बहुत से खिलौने, पज़ल, किताबें और दिलचस्प वस्तुएँ है।उन्होंने कहा कि इस किट को बहुत सी रिसर्च के बाद डिज़ाइन किया गया है। इसमें बच्चों को मनोरंजक गतिविधियों के माध्यम से सीखने में मदद करने के लिए दिलचस्प किताबें, पहेलियाँ, खेल और खिलौने शामिल हैं।

WhatsApp Image 2023 07 22 at 12.41.01 PM 2
Delhi: महिला एवं बाल विकास मंत्री आतिशी ने 5000 आंगनवाड़ी वर्कर्स से किया संवाद। 4

उन्होंने आगे कहा कि, अक्सर जब परिवार या परिचितों में बच्चे होते हैं तो लोग उनके लिए महंगे खिलौने और किताबें खरीदते हैं। लेकिन जो बच्चे आंगनबाड़ियों में जाते हैं वे अक्सर बहुत गरीब पृष्ठभूमि से आते हैं, और उनके माता-पिता या परिवार उनके लिए महंगे खिलौने खरीदने में सक्षम नहीं होते हैं। ऐसे में मुझे खुशी है कि हमारे आंगनवाड़ी में आने वाले बच्चों के लिए ऐसी दिलचस्प अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन किट को दिल्ली सरकार की हर आंगनवाड़ी तक पहुँचाई जा रही है ताकि यहाँ आने वाले बच्चों का समग्र विकास सुनिश्चित हो सके।”

Delhi: डब्ल्यूसीडी मंत्री ने कहा, “यहां मौजूद प्रत्येक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को पता है कि 1-6 साल की उम्र में जब बच्चे आंगनवाड़ी में आते हैं तो वे कितने जिज्ञासु होते हैं। वे अपने आस-पास की हर चीज के बारे में जानने के लिए उत्सुक होते हैं। रिसर्च भी बताते है कि एक बच्चे के मस्तिष्क का सबसे ज़्यादा विकास 0-6 साल की उम्र के दौरान होता है। इसलिए यह तय करना प्रत्येक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की जिम्मेदारी है कि उनके आंगनवाड़ी केंद्र में आने वाले बच्चों को सबसे अच्छी शिक्षा मिले ताकि वो अगले एपीजे अब्दुल कलाम, कल्पना चावला, एआर रहमान, रवींद्र नाथ टैगोर बनें।”उन्होंने आंगनवाड़ी वर्कर्स को संबोधित करते हुए कहा कि, जब अपने आंगनवाड़ी में जाए तो यह न सोचे की आपकी आंगनवाड़ी में 20 और 40 बच्चे है, बल्कि ये याद रखे कि मेरी आंगनवाड़ी में देश का भविष्य बैठा हुआ है और देश के भविष्य को तराशना आपकी ज़िम्मेदारी है।

WhatsApp Image 2023 07 22 at 12.41.02 PM
Delhi: महिला एवं बाल विकास मंत्री आतिशी ने 5000 आंगनवाड़ी वर्कर्स से किया संवाद। 5

Delhi: गुरुवार को किट के लॉन्च के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा की गई घोषणाओं को दोहराते हुए, मंत्री आतिशी ने कहा, “जैसा कि सीएम ने वादा किया था, दिल्ली सरकार के स्कूल के शिक्षकों की तरह, अब हम अपने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों में प्रशिक्षण के लिए भेजेंगे। दूसरा, आंगनवाड़ी वर्कर बच्चों के विकास में अपना अधिक से अधिक समय लगा सके इसके लिए उनके अन्य काम के बोझ को कम करने का प्रयास किया जायेगा।

Delhi: डब्ल्यूसीडी मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में सरकार ने 2015 में दिल्ली सरकार के स्कूलों के लिए भी यही काम किया था। यह सुनिश्चित किया गया कि शिक्षक अपना अधिकांश समय कक्षाओं में बिताएं। अब सरकार चाहती है कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आंगनवाड़ी के बाहर किसी भी काम के बजाय अपना पूरा समय बच्चों को समर्पित करें।

WhatsApp Image 2023 07 22 at 12.41.02 PM 1
Delhi: महिला एवं बाल विकास मंत्री आतिशी ने 5000 आंगनवाड़ी वर्कर्स से किया संवाद। 6

उन्होंने कहा, “जैसा कि हर कोई इस तथ्य से अच्छी तरह से परिचित है कि दिल्ली शिक्षा मॉडल की सराहना दुनिया भर में की जा रही है। दुनिया भर से कई लोग हमारे मॉडल से प्रेरणा लेने के लिए आते हैं। मुझे यकीन है कि जिस तरह का उत्साह हमारी आंगनवाड़ी वर्कर्स में है, उससे वो दिन जल्द आयेगा जब दुनिया भर से लोग हमारे आंगनवाड़ी केंद्रों को भी देखने आएंगे।”

Delhi: गौरतलब है कि केजरीवाल सरकार द्वारा लॉंच की गई ‘खेल पिटारा’ किट दिल्ली सरकार के 11,000 आंगनवाड़ी केंद्रों में वितरित की जाएगी, जिनमें से 7,500 केंद्रों को किट पहले ही मिल चुकी हैं। खेल पिटारा किट बच्चों के सर्वांगीण विकास को बढ़ावा देने वाला एक उपकरण है। जो बच्चों के शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक, संज्ञानात्मक और भाषाई विकास पर बल देगा।

खेल पिटारा में ये सामग्री हैं शामिल

  1. जोड़-तोड़: लेसिंग टूल, रेत और ट्रे, खेलने का आटा और उपकरण, अकारो की किट, जियोबोर्ड और रबर बैंड, कनेक्टिंग ब्लॉक, मोती और धागा, कनेक्टिंग स्ट्रॉ, नेस्टिंग खिलौने, फ्लेक्सी तार, बटनिंग और ज़िपिंग फ्रेम, और जंबो नट बोल्ट (निर्माण किट)।
  2. विज़ुअल रीडिंग: कहानी की किताबें, स्पर्श कार्ड, कहानी कार्ड, पोस्टर, वर्णमाला पुस्तक और फ्लैशकार्ड।
  3. मॉडल: खिलौना सेट, आवर्धक कांच, संगीत वाद्ययंत्र, कठपुतलियां और दो तरफा स्लेट।
  4. पहेलियां और खेल: बिल्डिंग ब्लॉक, गेंदें, खेल उपकरण और जिग्सां पहेलियां।
  5. स्टेशनरी: प्लास्टिक क्रेयॉन, ओरिगेमी शीट, पेंट ब्रश, बच्चों के अनुकूल कैंची, पोस्टर रंग, ग्लिटर ट्यूब