27.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi NewsImportant Meeting: दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के व्यापारी...

Important Meeting: दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के व्यापारी संगठनों संग दिल्ली सचिवालय में की अहम बैठक।

Delhi’s Industries Minister Saurabh Bhardwaj held an important meeting with the business organizations of Delhi at the Delhi Secretariat.

  • दिल्ली की लगभग 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्रों को वैधता प्रदान करने के सन्दर्भ में की गई बैठक
  • व्यापारियों ने की थी शिकायत, नियोजित न होने के कारण विभिन्न समस्याओं का करना पड़ता है सामना
  • व्यापरियों का अनुरोध, हमारे क्षेत्र को न कहा जाए गैर पुष्टिकरण औद्योगिक क्षेत्र (Non Confirming Industrial Area), होता है अपमान
  • मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने व्यापार को आसान बनाने का दिल्ली के व्यापारियों से किया था वादा : सौरभ भारद्वाज
  • दिल्ली को रोजगार का हब बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का बड़ा सपना है : सौरभ भारद्वाज
  • इन 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र को नियोजित करने के संबंध में सभी व्यापारियों द्वारा सलाहकार नियुक्ति हेतु आवेदन पत्र जमा करा दिए गए
  • इन औद्योगिक क्षेत्रों के नियोजित होने से दिल्ली में रोजगार को बढ़ावा मिलेगा: सौरभ भारद्वाज
  • केजरीवाल सरकार और दिल्ली के व्यापारी मिलकर दिल्ली की व्यापार प्रणाली को सरल और सुगम बनाएंगे : सौरभ भारद्वाज
  • DSSIDC और औद्योगिक विभाग के अधिकारियों को टेंडर प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरा करने के दिए निर्देश : सौरभ भारद्वाज
WhatsApp Image 2023 12 27 at 7.54.49 PM
Important Meeting: दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के व्यापारी संगठनों संग दिल्ली सचिवालय में की अहम बैठक। 3

दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के व्यापारी संगठन द्वारा दिल्ली सचिवालय में की अहम बैठक, दिल्ली में रोजगार को बढ़ावा देने और दिल्ली को रोजगार हब बनाने की दिशा में दिल्ली सरकार लगातार कर रही है काम,
दिल्ली के 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्रों के व्यापारी संगठनों ने क्षेत्र को नियोजित करने के लिए लगाई थी गुहार,
पूर्व में भी इस संदर्भ में की जा चुकी हैं कई बैठकें,
अनियोजित औद्योगिक क्षेत्रों को नियोजित बनाने हेतु सभी व्यापारियों ने सलाहकार नियुक्ति हेतु जमा कर दिए हैं आवेदन पत्र,
औद्योगिक क्षेत्रों के नियोजित होने से व्यापारियों को मिल सकेगा बैंकों से लोन और सरकारी संस्थानों से लाइसेंस,
इस संबंध में टेंडर प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करने के मंत्री ने दिए आदेश I

बुधवार शाम, दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्र के व्यापारी संगठनों के साथ व्यापार संबंधी उनकी समस्याओं को लेकर की अहम बैठक I दिल्ली में लगभग 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र हैं I क्षेत्र को नियोजित करने के संदर्भ में लंबे समय से व्यापारी कर रहे थे संघर्ष, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के दिशा निर्देशन में जल्द ही इन व्यापारियों का यह सपना पूरा होने जा रहा है I आज इस श्रृंखला में दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इन व्यापारियों संग बैठक कर कार्य की प्रगति के संबंध में जानकारी ली और बैठक में मौजूद संबंधित विभागों के अधिकारियों को जल्द से जल्द बचे हुए कामों को पूरा करने के निर्देश दिए, ताकि इन 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र में जो लगभग 27000 कल कारखाने हैं, उन सभी कारखाना मालिकों को तथा उन कारखाने में काम करने वाले लाखों मजदूरों को राहत मिल सके I

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि दिल्ली के इन अलग-अलग 27 औद्योगिक क्षेत्र में स्थित व्यापारी संगठनों द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के समक्ष यह निवेदन प्रस्तुत किया गया था, कि इन अनियोजित औद्योगिक क्षेत्रों को भी दिल्ली के अन्य वेध औद्योगिक क्षेत्र की तरह नियोजित किया जाए I क्योंकि नियोजित न होने के कारण इस क्षेत्र के व्यापारी ना तो बैंक से किसी भी प्रकार का रोजगार संबंधी लोन ले पा रहे थे, ना ही किसी भी सरकारी विभाग से किसी प्रकार की सहायता प्राप्त हो पा रही थी I साथ ही साथ संबंधित विभागों से रोजगार संबंधी लाइसेंसों को लेने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था I मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने इन सभी व्यापारियों से वादा किया था, कि इन क्षेत्रों को भी बाकी अन्य क्षेत्रों की भांति नियोजित किया जाएगा I उस संदर्भ में लगातार दिल्ली का उद्योग मंत्रालय इन व्यापारियों संग बैठक कर समाधान का रास्ता निकालने की दिशा में काम कर रहा था I जल्द ही इन सभी औद्योगिक क्षेत्र को भी अब नियोजित औद्योगिक क्षेत्र की सूची में देखा जाएगा I

बैठक के दौरान व्यापारियों ने उद्योग मंत्री श्री सौरभ भारद्वाज जी के समक्ष अपनी शिकायत रखते हुए कहा, कि हमारे औद्योगिक क्षेत्र को गैर पुष्टिकरण औद्योगिक क्षेत्र अर्थात नॉन कंफर्मिंग इंडस्ट्रियल एरिया ना कहकर अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र अर्थात अनप्लांड इंडस्ट्रियल एरिया कहा जाए I व्यापरियों कहा कि ऐसा कहने से व्यापारियों को अपमानित महसूस होता है और अलग-अलग विभागों में तथा रोजगार करने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने तुरंत व्यापारियों कि इस अनुरोध का संज्ञान लेते हुए, बैठक में मौजूद विभाग के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए, कि व्यापारियों के आत्म सम्मान का ध्यान रखते हुए, आगे से कहीं भी नॉन कंफर्मिंग इंडस्ट्रियल एरिया शब्द का प्रयोग न किया जाए बल्कि व्यापारियों द्वारा सुझाए गए नाम अनप्लांड इंडस्ट्रियल एरिया का इस्तेमाल किया जाए I बैठक में मौजूद सभी व्यापारियों ने मंत्री सौरभ भारद्वाज जी का दिल से आभार व्यक्त किया I

WhatsApp Image 2023 12 27 at 7.54.49 PM 1
Important Meeting: दिल्ली के उद्योग मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के व्यापारी संगठनों संग दिल्ली सचिवालय में की अहम बैठक। 4

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि इन 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र में लगभग 27000 कल कारखाने हैं और इन 27000 कल कारखानों में लाखों लोग काम करते हैं I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि इस प्रकार की समस्याओं से केवल कारखाने के मालिकों का ही नुकसान नहीं हो रहा था, बल्कि इन कारखानों में काम करने वाले लाखों गरीब मजदूरों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था I उन्होंने कहा कि जब इन औद्योगिक क्षेत्र से जुड़े व्यापारी संगठनों ने दिल्ली के लोकप्रिय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी को अपनी समस्याओं से अवगत कराया तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने उनकी समस्याओं का समाधान करने का वादा किया था I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि तभी से दिल्ली का उद्योग मंत्रालय इन व्यापारियों की समस्या के समाधान हेतु काम कर रहा था I अब वह काम लगभग समाप्ति के कगार पर आ गया है I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि सभी व्यापारियों ने विभाग द्वारा बताई गई औपचारिकताएं लगभग पूरी कर ली है और अभी तक की स्टेटस रिपोर्ट को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जल्द से जल्द इन 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्रों को जल्द ही नियोजित किया जा सकेगा I

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि जब दिल्ली में केजरीवाल जी की सरकार बनी थी, तो दिल्ली के लोकप्रिय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने दिल्ली की जनता को अधिक से अधिक और रोजगार देने का वादा किया था I उन्होंने कहा कि दिल्ली के इन 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र के नियोजित होने से न केवल व्यापार संगठनों को, व्यापारियों को ही लाभ पहुंचेगा, अपितु दिल्ली के पढ़े लिखे युवाओं को रोजगार भी मिलेगा I उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के इस कदम से दिल्ली में रोजगार सृजन बढ़ेगा और जो पढ़े लिखे युवा रोजगार की तलाश में घूम रहे हैं, उन सभी को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मिल सकेंगे I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि दिल्ली को रोजगार हब बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का सपना है और इस कदम से वह सपना साकार होता नजर आएगा I

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इस बैठक के संदर्भ में बताते हुए कहा, कि दिल्ली के व्यापार को सरल और सुगम बनाना केवल सरकार के हाथ में नहीं है I यह काम दिल्ली के व्यापारियों और दिल्ली सरकार को मिलकर करना है, तभी यह संभव हो पाएगा I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बैठक में मौजूद व्यापारियों के कार्य की सराहना करते हुए कहा, कि जैसा की बैठक में जानकारी मिली है, कि सभी व्यापारियों ने लगभग वह सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली है, जिसके लिए विभाग की ओर से कहा गया था, अब ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह काम जल्द से जल्द पूरा हो सकेगा और दिल्ली के व्यापारी एवं दिल्ली की केजरीवाल सरकार मिलकर दिल्ली के रोजगार सिस्टम को सरल और सुगम बना सकेंगे और दिल्ली के रोजगार को कामयाबी की बुलंदियों तक लेकर जाएंगे I

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया की बैठक के दौरान प्रक्रिया को आगे बढ़ते हुए डीएसएसआईडीसी और औद्योगिक विभाग के अधिकारियों को जल्द से जल्द मामले से जुड़ी टेंडर प्रक्रिया को पूरा करने के निर्देश दिए गए और टेंडर प्रक्रिया पूरी हो जाने पर कार्य की प्रगति से संबंधित जानकारी से अवगत कराने के भी निर्देश दिए गए I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि दिल्ली के व्यापारी दिल्ली की जानता ही है और दिल्ली के हर एक निवासी की समस्याओं का निवारण करना तथा उसको सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना केजरीवाल सरकार का दायित्व है और हम अपने इस दायित्व को निभा रहे हैं I मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने दिल्ली के व्यापारियों से उनके व्यापार में हर समस्या के समाधान के लिए साथ खड़े रहने का वादा किया है और हम कोशिश कर रहे हैं, कि यह जो 27 अनियोजित औद्योगिक क्षेत्र हैं, जल्द से जल्द इनको नियोजित करने का काम पूरा कर लिया जाए और इस क्षेत्र में जो 27000 कल कारखाने हैं, उन कारखानों के मालिकों की जिंदगी, उन व्यापारियों की जिंदगी और कारखाने में काम करने वाले लाखों मजदूरों की जिंदगी को सरल बनाया जा सके I