Thursday, June 20, 2024
31.1 C
New Delhi

Rozgar.com

31.1 C
New Delhi
Thursday, June 20, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesChhattisgarhबस्तर और सरगुजा का विकास सरकार की पहली प्राथमिकता - साय

बस्तर और सरगुजा का विकास सरकार की पहली प्राथमिकता – साय

दंतेवाड़ा

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि महिला दिवस किस तरह मनाएं इस पर खूब विचार किया तब बात समझ में आई कि आप सभी बस्तर जैसे क्षेत्र में अपनी जान का जोखिम उठाकर राज्य और देश की सुरक्षा के लिए तैनात है। इस अवसर पर उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस और महाशिवरात्रि को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे देश में नारियों का प्राचीन काल से ही सम्मान किया गया है। कहा जाता है कि यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता:। हमें बुद्धि चाहिए होती है तो हम माँ सरस्वती की पूजा करते हैं, हम धन और समृद्धि के लिए माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं। आज देश के सर्वोच्च पद पर महामहिम राष्ट्रपति के रूप में श्रीमती द्रौपदी मुर्मू विराजित हैं। महिलाऐं आज हर क्षेत्र में आगे हैं। बस्तर और सरगुजा का विकास हमारी प्राथमिकता है, इसके लिए हम पैसों की कोई कमी नहीं आने देंगे।

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा कि  हमारी सरकार को ढाई महीने होने जा रहे है, इतने अल्प समय में ही हमने कई अहम निर्णय लेते हुए मोदी जी की गारंटी को पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ा चुके है।18 लाख से ज्यादा गरीब परिवार आवास से वंचित थे, हमने उन्हें आवास की स्वीकृति दी,12 लाख से ज्यादा किसानों को हमने 3716 करोड़ रुपए का दो साल का बकाया धान बोनस दिया। किसानों से किया वादा हमने पूरा किया, प्रदेश के किसानों को धान का 31 सौ रुपए प्रति क्विंटल दिया है और प्रति एकड़ 21 क्विंटल धान खरीदा है।

श्री साय ने कहा कि इस साल सबसे ज्यादा 145 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी हुई है, जो अंतर की राशि बची हुई है, उसे आने वाले 12 मार्च को 24 लाख 72 हजार किसानों के खातों में भेजेंगें। महतारी वंदन योजना के लिए भी अब विवाहित माताओं बहनों को ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा, अभी दो-चार दिनों में ही पात्र हितग्राहियों के खाते में पैसे आएंगे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की जिनमें बस्तर के सभी जिलों के मुख्यालयों में माँ दंतेश्वरी शक्ति केंद्र खोलने,कारली में शहीद स्मारक और अमर वाटिका बनाये बनेगी। इसी प्रकार से जवांगा एजुकेशन हब को उच्च सुविधायुक्त बनाने और स्पोर्ट सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा।

उन्होने पालनार, बड़ेगुडरा में 100 -100 सीटर कन्या छात्रावास, समेली , मड़कामिरास में 25-25 सीटर प्री मैट्रिक छात्रावास ,जंगमपाल और मारजूम में 50-50 सीटर छात्रावास बरगुम, कोटाली , नहाड़ी में आश्रम छात्रावास का पुन: निर्माण किये जाने की घोषणा की। जावंगा के नवीन महाविद्यालय का नामकरण वीरांगना मासक देवी पर किये जाने की घोषणा की।अरनपुर, रोंजे और गंजेनार में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तथा संभाग के सातों जिलों में आवश्यकता अनुसार दो-दो उप स्वास्थ्य केंद्र खोले जाने और दंतेवाड़ा के फाल्गुन मड़ई के लिए दस लाख रुपये के लिए घोषणा देने की घोषणा की।