Friday, April 19, 2024
37.9 C
New Delhi

Rozgar.com

37.9 C
New Delhi
Friday, April 19, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi Newsमोदी वाले मर्दों को खाना मत दो; केजरीवाल ने क्यों कहा ऐसा,...

मोदी वाले मर्दों को खाना मत दो; केजरीवाल ने क्यों कहा ऐसा, 19 वाली वजह

नई दिल्ली

लोकसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल महिला वोटर्स पर खास ध्यान दे रहे हैं। दिल्ली सरकार ने हाल ही में पेश किए गए बजट में महिलाओं को बड़ा तोहफा दिया है।18 साल से अधिक की सभी महिलाओं को एक हजार रुपए महीना देने का ऐलान किया गया है। इस घोषणा पर महिलाओं से बातचीत के दौरान केजरीवाल ने मजाकिया अंदाज में यह भी कहा कि यदि उनके पति मोदी-मोदी करते हैं तो उन्हें रात को खाना ना दें। आखिर केजरीवाल ने यह हंसी मजाक में ही कहा या इसके पीछे कोई खास वजह है? आइए समझने की कोशिश करते हैं।

केजरीवाल ने क्या कहा
अरविंद केजरीवाल ने अपील की कि सभी महिलाएं मतदान जरूर करें। उन्होंने इसके साथ ही मर्दों से भी आम आदमी पार्टी के लिए वोट कराने को कहा और हंसते हुए इसके तरीके भी बताए। केजरीवाल ने कहा,'अपने घर के सारे मर्दों से भी वोट डलवानी है। कई मर्द मोदी-मोदी कर रहे हैं। उनका दिमाग आप ही ठीक कर सकते हो। यदि आपका पति कहे मोदी तो कहना कि शाम का खाना नहीं मिलेगा। अपने सर की कसम खिला देना सबको। बोलना मेरे सर कि कसम है मेरे। पत्नी की बात तो माननी पड़ेगी पति को। अपने सर कि कसम खिला दी जो जरूर माननी पड़ेगी। सारी माताएं अपने बेटों को कसम खिलाएंगी कि इस बार केजरीवाल को वोट देना है। सारी बहने अपने भाई और पिता को कसम खिलाएंगी।'

खाता खोलने की कोशिश में केजरीवाल
दिल्ली विधानसभा के लिए लगातार दो चुनाव में प्रचंड वोट और लगातार तीन बार सरकार बना चुकी आम आदमी पार्टी अपने गढ़ से एक भी सांसद लोकसभा नहीं भेज सकी है। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली। यही वजह है कि पार्टी इस बार कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है। भाजपा से मुकाबले के लिए केजरीवाल ने इस बार कांग्रेस से गठबंधन करके चार सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। 'संसद में भी केजरीवाल, तो होगी दिल्ली और खुशहाल' का नारा दिया गया है। केजरीवाल यह कहकर दिल्लीवालों से वोट मांग रहे हैं कि यदि दिल्ली के सातों सांसद इंडिया गठबंधन के हो गए तो फिर दिल्लीवालों के काम केंद्र सरकार नहीं रोक पाएगी।

मर्दों से AAP के हक में वोट डलवाने की अपील के पीछे क्या वजह
वैसे तो पिछले कुछ चुनावों भाजपा की सफलता में महिलाओं का योगदान पुरुषों के मुकाबले अधिक पाया गया है। हालांकि, दिल्ली की बात करें तो तस्वीर थोड़ी अलग सामने आती है। 2019 लोकसभा चुनाव के बाद एक्सिस माय इंडिया की तरफ से किए गए पोस्ट पोल सर्वे के मुताबिक दिल्ली में महिलाओं के मुकाबले पुरुषों ने भाजपा के हक में ज्यादा मतदान किया। वहीं, आम आदमी पार्टी को पुरुषों के मुकाबले महिलाओं ने अधिक वोट दिए। सर्वे के मुताबिक, भाजपा को 60 पर्सेंट पुरुषों ने वोट दिया तो 54 फीसदी महिला मतदाताओं ने पीएम मोदी के लिए वोट किया। आम आदमी पार्टी को जहां 22 फीसदी महिलाओं ने पसंद किया तो केजरीवाल के लिए 14 पर्सेंट मर्दों ने ही मतदान किया। वहीं कांग्रेस को 24 पर्सेंट पुरुषों और 22 पर्सेंट महिलाओं ने वोट दिया था।