27.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeRaghav Chadha: भाजपा शासित राज्यों में साइलेंट और गैर भाजपा शासित राज्यों...

Raghav Chadha: भाजपा शासित राज्यों में साइलेंट और गैर भाजपा शासित राज्यों में वाइलेंट हैं ईडी-सीबीआइ- राघव चड्ढा।

ED-CBI are silent in BJP ruled states and violent in non-BJP ruled states – Raghav Chadha.

  • ईडी-सीबीआई के 95 फीसद केस विपक्ष के नेताओं के खिलाफ, भाजपा के खिलाफ उठने वाली आवाज को कुचलने के लिए इन्हें छोड़ा गया है- राघव चड्ढा
  • इंडिया गठबंधन बनने के बाद से एजेंसियों की कार्रवाई तेज हो गई है, जो भाजपा की डर को दर्शाता है- राघव चड्ढा
  • भाजपा में जो चला जाएगा, वो ईनाम पाएगा, वरना उसके घर पर ईडी नाम का मेहमान आएगा- राधव चड्ढा
  • मनगढ़ंत आरोप लगाकर सांसद संजय सिंह को जेल भेजा गया और आज ‘‘आप’’ विधायक अमानतुल्लाह के घर ईडी की रेड हो रही है- राघव चड्ढा
  • पिछले साल सितंबर में एसीबी ने अमानतुल्लाह को गिरफ्तार किया था, लेकिन कोर्ट ने उसे फटकार लगाते हुए जमानत दे दी थी- राघव चड्ढा
  • आम आदमी पार्टी एजेंसियों के आक्रमण से नहीं डरती, हम सच्चाई की लड़ाई लड़ते रहेंगे- राघव चड्ढा
  • जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आएगा, वैसे-वैसे घबराई हुई भाजपा की एजेंसियों का आक्रमण बढ़ता रहेगा- राघव चड्ढा

दिल्ली के ओखला विधानसभा से ‘‘आप’’ विधायक अमानतुल्लाह खान के यहां मंगलवार को ईडी की छापेमारी पर आम आदमी पार्टी ने भाजपा को आड़े हाथ लिया। ‘‘आप’’ के राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने कहा कि जिन राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं, वहां जांच एजेंसियां साइलेंट हैं और जहां गैर भाजपा दलों की सरकारें हैं, वहां ये वायलेंट हैं। पिछले 9 वर्षों में ईडी-सीबीआई ने 3100 जगहों पर रेड की है, जिसमें 95 फीसद केस विपक्ष के नेताओं के खिलाफ हैं। इंडिया गठबंधन बनने के बाद से जांच एजेंसियों की कार्रवाई तेज हो गई है, जो भाजपा की डर को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि मनगढ़ंत आरोप लगाकर सांसद संजय सिंह को जेल भेज दिया गया और आज ‘‘आप’’ विधायक अमानतुल्लाह के घर ईडी की रेड हो रही है। ईडी जिस मामले में रेड कर रही है, उसी मामले में पिछले साल एसीबी ने अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार किया था, लेकिन कोर्ट ने एसीबी को फटकार लगाते हुए उनको जमानत दे दी थी। आम आदमी पार्टी एजेंसियों के आक्रमण से नहीं डरती है। हम सच्चाई और धर्म की लड़ाई लड़ते रहेंगे।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता कर कहा की भाजपा शासित राज्यों में एजेंसियां साइलेंट हैं और गैर भाजपा शासित राज्यों में एजेंसियां वायलेंट हैं। 2004 से 2014 से बीच जब यूपीए की सरकार थी, तो इन 10 सालों में ईडी ने केवल 112 जगह रेड की, लेकिन 2014 से 2023 तक 9 वर्षों में ईडी ने 3100 जगहों पर रेड की। सीबीआई-ईडी ने पिछले नौ सालों में जितने नेताओं के खिलाफ मुकदमें किए हैं, उनमें से 95 फीसद मामले विपक्ष के नेताओं के खिलाफ हैं। यह दिखाता है कि बदले और कोई व्यक्ति भाजपा के खिलाफ आवाज न उठाए, उसकी आवाज कुचलने की भावना से एजेंसियों को लोगों पर छोड़ा जाता है। खासतौर पर जबसे एक मजबूत ‘‘इंडिया’’ गठबंधन बना है। इस गठबंधन के अंतर्गत देश की 135 करोड़ आबादी समा रही है। देश को बचाने के लिए देश के कोने-कोने से बड़े-बड़े राजनीतिक दल और नेता साथ आए।

सांसद राघव चड्ढा ने कहा कि जब से इंडिया गठबंधन बना है, इन एजेंसियों द्वारा की जा रही रेड, जांचें और समन की कार्रवाई लगातार बढ़ती जा रही है। कभी तमिलनाडु में डीएमके के मंत्री, कभी पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के तृणमूल कांग्रेस के मंत्री या नेताओं और कभी कांग्रेस के नेताओं पर रेड हो रही होती है तो कभी महाराष्ट्र में शिवसेना के नाताओं को पकड़ कर जेल में डाला ज रहा होता है। इन्हें आम आदमी पार्टी से विशेष प्यार है। इन्होंने हमारे कई नेताओं को पकड़कर झूठे मुकदमे में जेल में डाल दिया है। देश में एक माहौल बनाया जा रहा है कि सिर्फ विपक्ष या इंडिया गठबंधन के नेताओं को पकड़ कर जेल में डालो। ये वही लोग करेंगे, जिन्हें इंडिया गठबंधन से डर लगता है। जेल में हमें ज्यादा से ज्यादा कुछ दिन या महीने रख लेंगे, फिर कोर्ट से छूट जाएंगे। लेकिन यह इनका डर और खौफ दिखाता है।

उन्होंने कहा कि अगर इन मामलों से किसी नेता को छुटकारा पाना है तो वो बीजेपी ज्वाइन कर सकता है या किसी भी राजनीतिक पार्टी को इन सारे मुकदमों से निजात पानी है तो वो एनडीए का हिस्सी बन सकता है। जैसे ही आप भाजपा ज्वाइन कर लेंगे, ये सारे मुकदमें बंद हो जाएंगे। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि असम के एक बड़े नेता, बंगाल के शारदा चिट फंड घोटाले में आरोपी माने जाने वाले बड़े नेता, सिंचाई घोटाला करने वाले महाराष्ट्र के एक बड़े नेता समेत कई और बड़े नेता हैं, जिन पर हजारों-करोड़ों के घोटाले के आरोप लगे, ईडी-सीबीआई ने जाचें कीं। उस नेता ने अपनी पार्टी छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली और उसके सारे मुकदमे बंद हो गए। जो बीजेपी में चला जाएगा वो ईनाम पाएगा और जो बीजेपी के खिलाफ आवाज उठाएगा, उसके घर ईडी नाम का मेहमान आएगा। ये आज इस देश के लोकतंत्र की सच्चाई है।

राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के खिलाफ लोगों ने दुनिया भर के झूठे आरोप लगाए। हमारे मंत्री सत्येंद्र जैन पर आरोप लगाकर उन्हें गिरफ्तार करवाया, उनके पूरे केस में एक फूटी कौड़ी बरामद नहीं हुई। क्योंकि कोई घोटाला था ही नहीं। मनीष सिसोदिया को झूठे आरोप लगाकर जेल में रखने की कोशिशें की गई। अबतक एक हजार से ज्यादा जगहों पर रेड हो गई लेकिव एक फूटी नया पैसा नहीं मिला। सांसद संजय सिंह संसद के अंदर और बाहर सबसे मजबूती से भाजपा का विरोध करते है, आज इसी की सजा भाजपा ने उन्हें दी है और मनगढ़ंत आरोप लगाकर उन्हें सलाखों के पीछे डाल दिया।

राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने कहा कि इसी कड़ी में ओखला विधानसभा से ‘‘आप’’ विधायक अमनतुल्लाह खान के घर सुबह से ईडी की रेड चल रही है। इसी मामले में अमानतुल्लाह को 16 सितंबर 2022 में एसीबी द्वारा गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने अपनी गिरफ्तारी को कोर्ट में चुनौती दी और 28 सितंबर 2022 को कोर्ट ने उनको जमानत दे दी। विधायक अमानतुल्लाह खान को छोड़ते हुए कोर्ट ने एसीबी को फटकार लगाई थी और साफ-साफ कहा था कि इस मुकदमे में कोई जान नहीं है, गलत मुकदमा करके गिरफ्तारी की गई है। लेकिन बीजेपी द्वारा आज अमानातुल्लाह खान पर रेड करा कर इसलिए सजा दी, क्योंकि वो आम आदमी पार्टी के नेता हैं।

सांसद राघव चड्ढा ने पिछले साल इसी मुकदमों में राउज एवेन्यू के लोवर कोर्ट में विधायक अमानतुल्लाह खान के केस की सुनवाई हुई। 28 सितंबर 2022 को कोर्ट ने अमानतुल्लाह को रिहा करते हुए अपने ऑर्डर के पारा 45 में कहा था कि वक्फ बोर्ड का चेयरमैन रहते हुए जिन 32 लोगों को नौकरी और सैलरी देने का आरोप लगाया गया है, वो पूरी तरह से निराधार है। कोर्ट ने कहा कि इससे पहले भी वक्फ बोर्ड में लोगों की भर्तियां होती रही हैं और इस बात के कोई सुबूत नहीं है कि इन लोगों को गलत सैलरी दी गई है, जिसे इन लोगों ने बैंक से निकालकर चेयरमैंन को रिश्वत के तौर पर दे दी। यह गलत है और इसका कोई सुबूत नहीं है।

राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने बताया कि इस ऑर्डर के पारा 47 में कोर्ट में कहा कि ऐसे कोई भी सुबूत नहीं मिले हैं, जिससे ये साबित होता हो कि किसी कर्मचारी द्वारा नौकरी के लिए किसी तरह की रिश्वत दी गई हो। साथ ही कोर्ट ने पारा 49 में दूसरे आरोप को गलत और झूठा बताया जिसमें कहा गया था कि चेयरमैन ने वक्फ बोर्ड की संपत्ति को काफी सस्ते किराए पर दे दिया जिससे सरकार का नुकसान हुआ। लेकिन उन संपत्तियों को मार्केट से ज्यादा किराए पर दिया गया था और सरकार को कोई नुकसान नहीं हुआ। इस तरह कोर्ट ने इसे भी निराधार बताते हुए कहा कि इस मामले में ऐसे कोई सुबूत नहीं हैं, जिससे सरकार का कोई नुकसान नहीं हुआ है। कोर्ट ने कहा कि आप जो आरोप लगा रहे हैं, वो न तो संगीन है और न गंभीर है। मैं इनको जमानत देता हूं। कोर्ट ने एसीबी को फटकार लगाते हुए विधायक अमानतुल्ला को रिहा किया था। आज उन्हीं के घर पर ईडी की रेड चल रही है।

राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने कहा कि बीजेपी का आक्रमण देखिए कि एक एजेंसी ने अमानतुल्लाह को पकड़ा और कोर्ट ने फटकार लगाकर उनको रिहा कर दिया। अब उसी मुकदमे में इनहोंने दूसरी एजेंसी को भेज दी। कल सीबीआई तो परसो इनकम टैक्स को भेज देंगे। फिर रॉ को भेज देंगे। ये रोजाना नई एजेंसी एक ही कथित अपराध में भेजे जाएंगे, जिसमें पहले ही कोर्ट एजेंसी को फटकार लगाकर अभियुक्त को रिहा कर चुका है। कोर्ट ने अपने बेल ऑर्डर में कहा था कि हमें नहीं लगता कि अभियुक्त सुबूतों से कोई छेड़छाड़ करेंगे। इनके पुराने मुकदमों में भी इन्हें रिहा कर दिया गया और इन्हें सलाखों के पीछे रखने की कोई जरूरत नहीं है और उन्हें बेल दे दी। आज उसी मामले में ईडी इन पर फिर रेड कर रही है। भाजपा और इन एजेंसियों का असली चेहरा यही है, जो देश की जनता के सामने आना चाहिए।

उन्होने कहा कि आम आदमी पार्टी एजेंसियों के आक्रमण से डरती नहीं है। सच्चाई, धर्म और र्इ्रमानदारी आम आदमी पार्टी के खेमे में हैं और अंत तक हम इस लड़ाई को लड़ते रहेंगे। साथ ही, भाजपा एक नहीं, हजार कोशिशें कर ले और हमारे किसी भी नेता को पकड़कर कथित अपराध में जेल में डालने का प्रयास कर ले, अंत में जीत सच्चाई, ईमानदारी, अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी की ही होगी। जैसे-जैसे लोकसभा के चुनाव नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे एजेंसियों द्वारा घबराई हुई भाजपा का आक्रमण बढ़ता रहेगा।