Friday, April 19, 2024
37.9 C
New Delhi

Rozgar.com

37.9 C
New Delhi
Friday, April 19, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesBihar-Jharkhandलालू यादव के करीबी बालू माफिया पर ED का शिकंजा, कई ठिकानों...

लालू यादव के करीबी बालू माफिया पर ED का शिकंजा, कई ठिकानों पर छापा

पटना

लालू यादव के करीबी बालू माफिया सुभाष यादव ED ने शिकंजा कसा है. उनके कई ठिकानों पर छापे मारी हो रही है. सुभाष यादव आरजेडी नेता हैं और झारखंड से आरजेडी के टिकट पर चुनाव भी लड़ चुके हैं. दानापुर समेत तकरीबन 6 ठिकानों पर ईडी छापेमारी कर रही है.

जानकारी के मुताबिक, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के करीबी सुभाष यादव के आवास पर ईडी (ED) की टीम शनिवार को छापेमारी करने पहुंची. ईडी सुभाष यादव के खिलाफ ये कार्रवाई बालू कारोबार से संबंधित मामले में कर रही है

बता दें कि RJD नेता सुभाष यादव ये पूर्व विधायक ही नहीं, बल्कि पिछले बार लोकसभा चुनाव के दौरान झारखंड के चतरा से उम्मीदवार थे, लेकिन वो चुनाव हार गए थे. चतरा से राजद प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे सुभाष प्रसाद यादव अकूत संपत्ति के मालिक हैं. यहां यह भी बता दें कि इनका लालू यादव से कोई पारिवारिक रिश्ता नहीं है, लेकिन ये उनके करीबी बताए जाते हैं.
लालू यादव के खास बताए जाते हैं सुभाष यादव

सुभाष यादव पटना जिले के शाहपुर क्षेत्र के हेतनपुर गांव निवासी 52 वर्षीय सुभाष प्रसाद यादव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू यादव के करीबी बताए जाते हैं. वह ब्रॉडसन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी चलाते हैं. बता दें कि ईडी की रडार पर कई ऐसे सफेदपोश हैं जिन्होंने अकूत संपत्ति अर्जित की है. इसी कड़ी में शुक्रवार को आयकर विभाग ने राजद के एक नेता के ठिकानों पर जांच की थी.
राजद के विधान पार्षद पर आयकर के छापे

बता दें कि RJD MLC विनोद जायसवाल के ठिकानों पर आयकर टीम के द्वारा 6 घंटे से अधिक समय तक छापेमारी की गई. तलाशी में आयकर अधिकारियों ने बड़ी संख्या में दस्तावेज समेत कई कागजात जब्त किए हैं. जब्त कागजात में विभिन्न वित्तीय संस्थानों में निवेश के अलावा कई स्थानों पर जमीन जायदाद में भी निवेश से जुड़े कागजात शामिल हैं.
तीन दिनों से IT की टीम डाल रही रेड

बताया जा रहा है कि टैक्स में गड़बड़ी से जुड़े भी कुछ कागजात बरामद हुए हैं. फिलहाल इन सभी कागजातों की जांच चल रही है और जांच के बाद ही स्थिति होगी स्पष्ट हो पाएगी. आयकर विभाग की टीम विनोद जायसवाल के कोलकाता समेत करीब आधा दर्जन ठिकानों पर पिछले तीन दिनों से छापेमारी कर रही है.