Thursday, June 20, 2024
31.1 C
New Delhi

Rozgar.com

31.1 C
New Delhi
Thursday, June 20, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesMadhya Pradeshछोटे और ग्रामीण स्थलों पर पर्यटक सुविधाओं के विस्तार पर नजर

छोटे और ग्रामीण स्थलों पर पर्यटक सुविधाओं के विस्तार पर नजर

भोपाल

राज्य सरकार अब विलेज टूरिज्म पर फोकस कर रही है। छोटे गांव और तहसीलों में अब होटल-रिसोर्ट, वाटर टूरिज्म, इको-टूरिज्म, वाइल्ड लाइफ रिसोर्ट, वाटर पार्क बनाए जाएंगे। पहले चरण में प्रदेश के 28 ग्रामीण अंचलों में 180 करोड़ रुपए खर्च कर सरकार 28 स्थानों पर होटल-रिसोर्ट और पर्यटक सुविधाओं का निर्माण करेंगी।

मुख्यमंत्री मोहन यादव का फोकस अब छोटे और ग्रामीण स्थलों के आसपास पर्यटक सुविधाओं के विस्तार पर है। यहां आने वाले पर्यटकों को न केवल स्थानीय क्षेत्रों में बने होम स्टे की सुविधा और पारंपरिक भोजन दिया जाएगा वहीं जो लक्जरी सुविधाएं पर्यटक चाहते है उनके लिए होटल, रिसोर्ट, इको टूरिज्म और वाटर स्पोर्ट्स तथा वाटर टूरिज्म से जुड़ी सुविधाओं को विकसित करने पर है ताकि देशी-विदेशी पर्यटक यहां आकर यहां के प्राकृतिक सौंदर्य, पहाड़ियों, झरनों, घने जंगलो के बीच मनोहर वातावरण में अपनी छुट्टियां व्यतीत कर सके और निजी कंपनियां, उद्योगपति यहां आकर अपनी बैठकें आयोजित करें। इससे इन क्षेत्रों का तीव्र विकास होगा और यहां के स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिल सकेगा। इसी कड़ी में अब छोटे ग्रामीण अंचलों में इन सुविधाओं का विकास किया जाएगा। सरकार इसमें निवेशकों को जोड़कर उनकी मदद से ये निर्माण करेगी और इनके संचालन और व्यवस्थाओं से भी उन्हें सीधे जोड़ेगी। लाभ में भी इनकी हिस्सेदारी होगी।

 शहडोल में डेवलप होगा वॉटर टूरिज्म
पर्यटन विभाग शहडोल जिले की ब्यौहारी तहसील के पहाड़िया गांव में 45 हेक्टेयर जमीन पर 25 करोड़ रुपए खर्च कर रिसोर्ट तथा वॉटर टूरिज्म और अन्य पर्यटक सुविधाओं का विकास करेगी। नीमच जिले के ग्राम लोटवास में 7.21 हेक्टेयर और 9.83 हेक्टेयर जमीन पर दस-दस करोड़ रुपए खर्च कर रिसोर्ट बनाए जाएंगे। देवास जिले की सोनकच्छ तहसील और निवाड़ी के ओरछा और रायसेन जिले के बरेली तहसील के समनापुर कला गांव में  में दस-दस करोड़ रुपए खर्च कर रिसोर्ट बनाए जाएंगे और अन्य पर्यटक सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

मंडला में तीन जगह ईको टूरिज्म
नीमच के बस्सी में चार रिसोर्ट,  अशोकनगर के फतेहाबाद में एक रिसोर्ट, विदिशा के नेहरयाई में एक रिसोर्ट,  कटनी के गुलवारा में रिसोर्ट तथा अन्य पर्यटक सुविधाएं , शिवपुरी के मढ़खेड़ा में दो, अनूपपुर के हर्राटोला, खुडवा के भोगांवा में रिसोर्ट बनाया जाएगा। इसी तरह शाजापुर के बिजाना में होटल अथवा रिसोर्ट,  शहडोल के ढोढा में रिसोर्ट और अन्य पर्यटक सुविधाएं, मंडला की सरही में इको टूरिज्म गतिविधि तीन स्थानों पर शुरु होगी। रायसेन के समनापुर कला,में रिसोर्ट और अन्य पर्यटक सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

मंदसौर के गांधीसागर में होगा वाइल्ड लाइफ रिसोर्ट
विदिशा जिले के ग्राम कागपुर, शाजापुर जिले के ग्राम बिजाना,में पांच-पांच करोड़ की लागत से होटल रिसोर्ट विकसित किए जाएंगे। सीधी जिले के चमराडोल,  शिवपुरी जिले के मढ़खेड़ा सिवनी के सर्राहिरी, मंदसौर जिले के ग्राम गांधीसागर में तीन स्थानों पर पचास हेक्टेयर जमीन पर पांच-पांच करोड़ की लागत से वाइल्ड लाईफ रिसोर्ट बनाए जाएंगे।  बुरहानपुर के रहीपुरा में 5 हेक्टेयर जमीन पर रिसोर्ट अथवा फिक्स्ड टेंउिंग यूनिट अथवा वाटर पार्क की सुविधाएं विकसित की जाएंगी।