Saturday, June 15, 2024
34.1 C
New Delhi

Rozgar.com

34.1 C
New Delhi
Saturday, June 15, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img

कर्नाटक हाईकोर्ट ने यौन उत्पीड़न मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी

बेंगलूरू कर्नाटक हाईकोर्ट ने यौन उत्पीड़न मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने उनको राहत...
HomeWorld Newsपूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगौड़ा ने भगोड़े पोते प्रज्वल रेवन्ना को कड़ी चेतावनी...

पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगौड़ा ने भगोड़े पोते प्रज्वल रेवन्ना को कड़ी चेतावनी जारी की

बेंगलुरु
पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगौड़ा ने गुरुवार को कर्नाटक में कथित सेक्स वीडियो कांड के मुख्य आरोपी अपने भगोड़े पोते और जद-एस सांसद प्रज्वल रेवन्ना को कड़ी चेतावनी जारी की। देवेगौड़ा ने सोशल मीडिया पर लिखा, “मैंने प्रज्वल रेवन्ना को चेतावनी जारी की है कि वह जहां भी हैं, वहां से तुरंत वापस आएं और खुद को कानूनी प्रक्रिया के अधीन करें। उन्‍हें मेरे धैर्य की और परीक्षा नहीं लेनी चाहिए।”

'प्रज्वल रेवन्ना को मेरी चेतावनी' शीर्षक के तहत अपने पोते को संबोधित दो पन्नों के पत्र में अनुभवी जद-एस नेता ने लिखा : "मुझे उस सदमे और दर्द से उबरने में कुछ समय लगा, जो उन्‍होंने मुझे, मेरे पूरे परिवार, मेरे सहकर्मी, मित्र और पार्टी कार्यकर्ताओं को दिया है।" उन्होंने लिखा, ''मैं पहले ही कह चुका हूं कि दोषी पाए जाने पर उन्हें कानून के तहत कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। इस समय मैं केवल एक ही काम कर सकता हूं। मैं प्रज्वल को कड़ी चेतावनी दे सकता हूं और उनसे कह सकता हूं कि वह जहां भी हैं, वहां से लौट आएं और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दें। उन्हें खुद को कानूनी प्रक्रिया के अधीन करना चाहिए।''

देवेगौड़ा ने लिखा, "यह कोई अपील नहीं है जो मैं कर रहा हूं, यह एक चेतावनी है… उन्‍हें अपने परिवार के सभी सदस्यों के गुस्से का सामना करना पड़ेगा। कानून उनके खिलाफ आरोपों का ख्याल रखेगा, लेकिन परिवार की बात न सुनने से यह सुनिश्चित हो जाएगा उनका पूर्ण अलगाव है। अगर उनके मन में मेरे लिए कोई सम्मान बचा है, तो उन्हें तुरंत लौटना होगा।” “लोगों का विश्‍वास दोबारा अर्जित करना मेरे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। वे मेरे राजनीतिक जीवन के 60 वर्षों से अधिक समय तक मेरे साथ खड़े रहे हैं और मैं उनका बहुत आभारी हूं। जब तक मैं जीवित हूं, मैं उन्हें कभी निराश नहीं करूंगा।''

“पिछले कुछ हफ्तों में लोगों ने मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ सबसे कठोर शब्दों का इस्तेमाल किया है। मुझे इसकी जानकारी है। मैं उन्हें रोकना नहीं चाहता। मैं उनकी आलोचना नहीं करना चाहता। मैं उनसे बहस करने की कोशिश नहीं करूंगा कि उन्हें सारे तथ्य सामने आने तक इंतजार करना चाहिए था।“

“मैं लोगों को यह विश्‍वास नहीं दिला सकता कि मैं प्रज्वल की गतिविधियों से अनजान था। मैं उन्हें यह विश्‍वास नहीं दिला सकता कि मुझे उनकी रक्षा करने की कोई इच्छा नहीं है। मैं उन्हें यह विश्‍वास नहीं दिला सकता कि मुझे उनकी गतिविधियों के बारे में जानकारी नहीं है और मुझे उनकी विदेश यात्रा के बारे में जानकारी नहीं थी। मैं अपनी अंतरात्मा को जवाब देने में विश्‍वास रखता हूं। मैं ईश्‍वर में विश्‍वास करता हूं और मैं जानता हूं कि सर्वशक्तिमान सत्य जानता है।“

देवेगौड़ा ने लिखा, “मैं हाल के हफ्तों में दुर्भावनापूर्ण रूप से फैलाए गए राजनीतिक षड्यंत्रों, अतिशयोक्ति, उकसावे और झूठ पर टिप्पणी करने का जोखिम नहीं उठाऊंगा। मुझे यकीन है कि जिन लोगों ने ऐसा किया है, उन्हें ईश्‍वर को जवाब देना होगा और एक दिन इसकी भारी कीमत चुकानी होगी। मैं अपनी सच्चाई और अपना बोझ प्रभु के चरणों में रखता हूं।''

पूर्व प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि वह यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ जांच में उनके परिवार के सदस्य कोई हस्तक्षेप न करें।उन्होंने कहा, "इस संबंध में मेरे मन में कोई भावना नहीं है। केवल उन लोगों के लिए न्याय का मुद्दा है जो उनके कथित कार्यों और दुष्कर्मों के परिणामस्वरूप पीड़ित हुए हैं।"