19 C
New Delhi
Tuesday, March 5, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeManipur MPs: गौरव गोगोई ने साधा मणिपुर के सांसदो के मौनव्रत पर...

Manipur MPs: गौरव गोगोई ने साधा मणिपुर के सांसदो के मौनव्रत पर निशाना।

Gaurav Gogoi targeted the silence of Manipur MPs.

Manipur MPs: मणिपुर में तीन मई को हिंसा की शुरुआत हुई थी… संसद का मानसून सत्र शुरू होने से ठीक पहले दो महिलाओं को निर्वस्त्र करने के बाद परेड का वीडियो सामने आया था… इसके बाद मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई… गौरव गोगोई ने अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में चर्चा की शुरुआत करते हुए केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला। गोगोई ने कहा कि पीएम मोदी ने संसद में न बोलने का मौन व्रत लिया है… इसी चुप्पी को तोड़ने के लिए वह अविश्वास प्रस्ताव लाए हैं।

3278646 180
Manipur MPs: गौरव गोगोई ने साधा मणिपुर के सांसदो के मौनव्रत पर निशाना। 2

Manipur MPs: गौरव गोगोई ने मणिपुर हिंसा से लेकर महंगाई के मुद्दे पर पीएम मोदी को घेरा.. स्पीच के दौरान गोगोई ने कहा कि मणिपुर पर बोलने में पीएम मोदी को 80 दिन क्यों लग गए, जब बोले तो वो भी महज 30 सेकंड.. उसके बाद गौरव गोगोई ने आरोप लगाया कि मणिपुर से बीजेपी के दो सांसद आते हैं… लेकिन उनमें से किसी को भी पार्टी ने बोलने नहीं दिया… गोगोई का कहना है कि एक सांसद तो केंद्र सरकार में मंत्री हैं लेकिन मणिपुर पर उन्हें अपनी बात रखने का मौका नहीं मिला…

आइए जानते हैं मणिपुर के उन दो सांसदों के बारे में,…. जिनका जिक्र गौरव गोगोई ने किया…

Manipur MPs: भीतरी मणिपुर लोकसभा सीट से बीजेपी के डॉ. राजकुमार रंजन सिंह सांसद हैं। 2019 के चुनाव में उन्होंने 263,632 वोट हासिल करते हुए जीत दर्ज की थी। वहीं दूसरे नंबर पर रहे कांग्रेस के ओइनम नबकिशोर सिंह को 245,877 वोट मिले थे। राजकुमार रंजन सिंह को आरके रंजन सिंह के नाम से भी जाना जाता है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में 7 जुलाई 2021 को उन्होंने राज्यमंत्री की शपथ ली। उनके पास शिक्षा के साथ ही विदेश राज्यमंत्री का प्रभार है।

Manipur MPs: राजनीति में आने से पहले राजकुमार रंजन सिंह शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय रहे। उन्होंने गौहाटी विश्वविद्यालय से भूगोल में पीएचडी की डिग्री हासिल की है। इसके साथ ही वह असिस्टेंट प्रोफेसर, डेप्युटी रजिस्ट्रार और रजिस्ट्रार जैसे पदों पर रहे। 2012 में रिटायर होने से पहले यूजीसी अकादमिक स्टाफ कॉलेज और मणिपुर यूनिवर्सिटी में राजकुमार रंजन सिंह ने काम किया। 2013 में सियासत में आने से पहले मणिपुर यूनिवर्सिटी के भूगोल डिपार्टमेंट में वह सीनियर विजिटिंग फेलो थे। इसके साथ ही उन्होंने आठ किताबें भी लिखी हैं।

Manipur MPs: बाहरी मणिपुर लोकसभा सीट से नगा पीपुल्स फ्रंट के लोरहो एस फोजे सांसद हैं। 2019 के चुनाव में फोजे ने बीजेपी के हौलिम एस एम बेंजामिन को शिकस्त दी थी। फोजे को कुल 363,527 वोट मिले थे। वहीं दूसरे नंबर पर रहे बीजेपी के बेंजामिन ने 289,745 वोट हासिल किए थे…

Manipur MPs: इधर गौरव गोगोई के बारे में बता देते हैं जो कि असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के पुत्र हैं… 40 साल के गौरव कलिएबोर लोकसभा सीट से दो बार से सांसद हैं। गौरव गोगोई ने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद एक टेलीकॉम कंपनी में काम किया। बाद में वह दिल्ली में एक एनजीओ से जुड़ गए। गोगोई ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में सबसे पहले बात रखते हुए मणिपुर का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि हम अविश्वास प्रस्ताव इसलिए लाए ताकि पीएम मोदी का मौनव्रत तोड़ा जा सके। गोगोई ने इस दौरान सवाल किया, ‘प्रधानमंत्री ने आज तक मणिपुर के मुख्यमंत्री को बर्खास्त क्यों नहीं किया? गुजरात, उत्तराखंड, त्रिपुरा में चुनाव आने से पहले मुख्यमंत्री बदल दिया। मणिपुर के मुख्यमंत्री को ऐसा क्या आशीर्वाद दे रहे हैं?’

Manipur MPs: अब बात दोनों सांसदो की जिन्हें मणिपुर के घटना पर बोलना चाहिए था.. सवाल ये कि आखिर क्या वजह रहीं होगी कि दोनो बीजेपी सांसदो ने इसपर बोलना उचित नहीं समझा.. क्या पार्टी का प्रेशर था.. या पार्टी ने जो जवाबदेही देने के लिए कहां उसपर दोनों सांसदो की सहमति नहीं बनी इसलिए उनकी तरफ से कोई चर्चा नहीं हुई… दोनों सांसद जिस जगह से आते हैं उनका कर्तव्य बनता था कि वो मणिपुर के घटना पर अपनी बात रखें ताकि वहां के लोगो को कुछ तो आश्वासन मिलता … सवाल ये कि …चुप्पी क्यों साधी वहां के अपने हीं सांसदो ने।

यह भी पढ़े- जनसंख्या की कमी से जूझ रहे इस देश ने निकाली गजब की स्कीम