Tuesday, May 28, 2024
36.1 C
New Delhi

Rozgar.com

34.1 C
New Delhi
Tuesday, May 28, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeWorld News11 मार्च द्वारका एक्सप्रेसवे पर फर्राटा भरने के लिए हो जाइए तैयार!खासियत...

11 मार्च द्वारका एक्सप्रेसवे पर फर्राटा भरने के लिए हो जाइए तैयार!खासियत से लेकर हर एक बात जानिए

नई दिल्ली

केंद्र सरकार के बहुप्रतीक्षत प्रोजेक्ट द्वारका एक्सप्रेस वे के उद्घाटन की तारीख नजदीक है। आगामी 11 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे। 29 फरवरी को उपायुक्त निशांत यादव और शहर के पुलिस प्रमुख विकास अरोड़ा के नेतृत्व में टीमों ने अंतिम दौरा किया था। उद्घाटन को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं। ऐसा भी कहा जा रहा है कि शुभारंभ से पहले पीएम मोदी एक रोड शो भी कर सकते हैं। बता दें कि द्वारका एक्सप्रेस वे महिपालपुर में शिवमूर्ति के नजदीक से लेकर गुरुग्राम में खेड़कीदौला टोल प्लाजा तक तैयार हो चुका है। अब जब उद्घाटन की तारीख नजदीक है, ऐसे में इसका आनंद उठाने के लिए कई लोग इंतजार में होंगे। आइए इसकी खासियत से लेकर हर एक बात आज आपको बताते हैं।

द्वारका एक्सप्रेस वे एक नजर में
➤द्वारका एक्सप्रेस वे हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) की बहुप्रतीक्षित परियोजनाओं में से एक है। यह पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट भी है।
➤परियोजना के साथ रेलवे ओवरब्रिज बनाने के लिए भारतीय रेलवे और हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) के बीच एक समझौता हुआ है, इसके लिए एक किलोमीटर का क्षेत्र आवंटित किया गया है।
➤यह एक्सप्रेसवे अन्य एक्सप्रेसवे की तुलना में बेहतर होगा क्योंकि यह इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (IGI) हवाई अड्डे और गुड़गांव को सीधी कनेक्टिविटी प्रदान करेगा।
➤यह दिल्ली और गुड़गांव के बीच यातायात के प्रवाह को काफी सुगम बनाएगा। हुडा(HUDA) ने सितंबर 2013 में अदालती फैसले का पालन करने के बाद द्वारका एक्सप्रेसवे के साथ इलाकों में याचिकाकर्ताओं को वैध मुआवजा और भूमि क्षेत्र प्रदान किया है।
➤दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) द्वारा परियोजना के साथ एक मेट्रो रेल कॉरिडोर का प्रस्ताव दिया गया था, लेकिन अभी भी स्वीकृति की प्रतीक्षा है। यह गुड़गांव और दिल्ली के बीच मेट्रो कनेक्टिविटी को और सुविधाजनक बनाएगा।
➤भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने 29 किलोमीटर की पहुंच सीमा के लिए 80 किलोमीटर प्रति घंटे की गति सीमा निर्धारित की है।
➤24 मार्च, 2021 को एक सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में, एनएचएआई ने घोषणा की कि द्वारका एक्सप्रेसवे (और दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे) भारत का पहला टोल-मुक्त राजमार्ग होगा। इसलिए, इस मार्ग से यात्रा करने वाले यात्रियों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

द्वारका एक्सप्रेसवे के प्रमुख फायदे
➤यह 29 किमी लंबा (16 लेन वाला) राष्ट्रीय राजमार्ग – 8 का खंड है, जिसमें चार बहु-स्तरीय इंटरचेंज हैं और यह बिना सिग्नल वाला हाईवे है।
➤इस इंजीनियरिंग के चमत्कार में मोटरवे के दोनों ओर तीन लेन की सर्विस लेन, चार बहु-स्तरीय इंटरचेंज और प्रमुख जंक्शनों पर कई सबवे हैं।
➤हरियाणा सरकार ने गुड़गाँव-मानेसर शहरी परिसर के विकास के लिए द्वारका एक्सप्रेसवे के साथ एक मास रैपिड ट्रांजिट सिस्टम कॉरिडोर (या मेट्रो रेल) की योजना बनाई है।
➤यह द्वारका से शुरू होकर मानेसर और नीमराना तक चलेगा, जो खेरकी डौला में 162 एकड़ के भूखंड पर बनाए जा रहे मेट्रो हब और नए इंटरस्टेट बस टर्मिनल के रास्ते चलेगा।
➤वाटिका INXT2 से होकर गुजरने वाला एक समर्पित अंडरपास बनाया जाएगा, जो NH 352W को द्वारका एक्सप्रेसवे (NH 248BB) से जोड़ेगा।
➤इस विश्व स्तरीय कॉरिडोर इंटिलिजेंट ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम(ITS) जैसे एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, टोल मैनेजमेंट सिस्टम, सीसीटीवी कैमरे, निगरानी आदि होंगे।