27.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeHaryana: जनसंवाद को 19 दिन पूरे, कार्यक्रम का उद्देश्य तसल्ली से बातचीत...

Haryana: जनसंवाद को 19 दिन पूरे, कार्यक्रम का उद्देश्य तसल्ली से बातचीत कर लोगों की समस्याएं जानना: मुख्यमंत्री

Haryana: Chief Minister Manohar Lal to hear the problems of the public.

Haryana: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा जनसाधारण की समस्याएं जमीनी स्तर पर लोगों से सीधा सुनने के लिये आरम्भ किए गए जनसंवाद के तहत आज कुरुक्षेत्र के उमरी गांव में 19वां दिन आरम्भ हुआ। 90 दिन तक यह कार्यक्रम चलना निश्चित है।

आज कुरुक्षेत्र जिला के ऐतिहासिक गांव उमरी में जनसंवाद के लिए पहुंचने पर मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम गांव के प्राचीन शिव मंदिर में पूजा-अर्चना की। यहां पहुंचने पर गांव की सरपंच मीना कुमारी ने मुख्यमंत्री को पुष्पगुच्छ व नम्बरदार बाबू राम ने सम्मान का प्रतीक पगड़ी पहनाकर उनका भव्य स्वागत किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने रेड क्रॉस द्वारा उपलब्ध करवाई गई व्हीलचेयर व श्रवण यंत्र चार व्यक्तियों को वितरित किए। जन संवाद के दौरान उमरी चौक पर लम्बे रूट की बसों के ठहराव के बारे रखी गई मांग पर मुख्यमंत्री ने महाप्रबंधक हरियाणा रोडवेज को निर्देश दिये कि उमरी चौक पर एक विशेष रजिस्टर रखा जाए, जिसमें दैनिक यात्री अपने यात्रा का ब्यौरा दर्ज करें और उसी के अनुसार लम्बे रूट की बसों के ठहराव की व्यवस्था की जाएगी।

bdcd 1
Haryana: जनसंवाद को 19 दिन पूरे, कार्यक्रम का उद्देश्य तसल्ली से बातचीत कर लोगों की समस्याएं जानना: मुख्यमंत्री 2

सरकार ने भ्रष्टाचार पर कसा शिकंजा

Haryana: मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम में स्पष्ट रूप से कहते हैं कि गरीब को हक दिलाना उनकी पहली प्राथमिकता है। सरकार ने भ्रष्टाचार पर काफी हद तक शिकंजा कसा है, किसी भी सूरत में गलत काम नहीं होने दिया जाएगा, बिचौलियों की भूमिका को हमने खत्म किया है। उन्होंने कहा कि पहले अध्यापक अपना स्थानांतरण करवाने के लिये नेताओं को ढूंढते थे, परन्तु आज ऐसा नहीं है। हमारी सरकार ने ऑनलाइन ट्रांसफर नीति बनाई, जिसके माध्यम से ही आज अध्यापकों को उनके पसंदीदा स्टेशन मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आम लोगों के जीवन को सुगम बनाने के लिए सरकार ने ऑनलाइन व्यवस्था आरम्भ की। सीएम विंडो में 13 लाख से अधिक फरियाद सरकार के पास सीधे पहुंची है, जिनका तुरंत समाधान हुआ है।

सीईटी पर लोगों को किया जा रहा है गुमराह

Haryana: मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी नौकरी के लिये हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आरम्भ की गई संयुक्त पात्रता परीक्षा के बारे में कुछ नेताओं द्वारा लोगों को गुमराह किया जा रहा है। ये आयोग का कार्य है कि किस एजेंसी से वे पेपर सेट करवाते हैं। पेपर में प्रश्न तय करना पेपर सेट करने वाली एजेंसी का कार्य है, न कि सरकार का। उन्होंने कहा कि अब तक 1.10 लाख लोगों को सरकारी नौकरियां दी जा चुकी हैं और अगले तीन मास में 30 हजार ग्रुप सी की भर्तियां की जाएंगी।

परिवार पहचान पत्र एक अहम दस्तावेज

Haryana: कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने उपस्थित लोगों को परिवार पहचान पत्र की महत्वता के बारे जानकारी देते हुए कहा कि अब हर योजना का लाभ परिवार पहचान पत्र के माध्यम से मिलता है। यहां तक की गांव की आबादी के अनुसार प्रति व्यक्ति 2000 रुपये की ग्रांट गांव के विकास कार्यों के लिये दी जाती है तथा आबादी के हिसाब से उमरी गांव में प्रत्येक वर्ष 1.82 करोड़ रुपये की ग्रांट मिलेगी तथा केन्द्र सरकार की ग्रांट इससे अलग है

समस्या आप लाओ, समाधान मनोहर लाल करेगा    

Haryana: मुख्यमंत्री ने कहा कि आम जनमानस के जीवन को परेशानी मुक्त करना सरकार की प्राथमिकता है और इसलिए राज्य सरकार ने बड़े पैमाने पर आईटी का उपयोग करते हुए व्यवस्था परिवर्तन के काम किए हैं। समस्याओं को सुलझाकर लोगों को योजनाओं का लाभ प्रदान करना हमारी जिम्मेवारी है। वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना के मामले में तो दो-दो घंटे में ही लोगों का नाम लाभार्थी की सूची में शामिल हुआ है। उन्होंने लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि समस्याएं आप लाओ, हल मनोहर लाल करेगा।

पुलिस भर्ती की लम्बित ज्वाइनिंग की उच्च न्यायालय ने दी मंजूरी

Haryana: मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा पुलिस में लगभग 6600 पदों पर पुरुष व महिला सिपाहियों की भर्ती की गई थी, जिसमें से अधिकांश को ज्वाइनिंग दे दी गई थी, परन्तु 2000 पुरुष व एक हजार महिला सिपाहियों की ज्वाइनिंग का मामला न्यायालय में पहुंच गया था, गत दिवस न्यायालय ने इन्हें जॉइनिंग करवाने की अनुमति प्रदान कर दी है और शीघ्र ही इनको ज्वाइनिंग करवा दी जाएगी।

जनसंवाद उमरी व आस-पास के गांवों के लिये लाया सौगात

Haryana: उमरी गांव में आयोजित जनसंवाद में मुख्यमंत्री ने गांव उमरी में 2 एकड़ में बनाए जाने वाले सामुदायिक भवन, सरकारी स्कूल के जर्जर भवन का नवीनीकरण करने, व्यायामशाला के लिए बजट मंजूर करने, गांव की ढाई एकड़ फिरनी को पक्का करने, प्रजापत धर्मशाला के साथ-साथ अन्य कुछ धर्मशालाओं को पक्का करने की घोषणा की। उन्होंने गांव उमरी के तालाब की खुदाई करवाने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने सरपंच व अन्य आसपास के गांवों से आए सरपंचों से मांग पत्र प्राप्त किये।

जनसंवाद कार्यक्रमों में अब तक 16 हजार से अधिक लिखित प्रतिवेदन हुए हैं प्राप्त

Haryana: मुख्यमंत्री ने उपस्थित ग्रामीणों को अवगत करवाते हुए बताया कि जनसंवाद कार्यक्रमों के दौरान अब तक 16 हजार प्रतिवेदन प्राप्त हुए थे, जिनमें से 2600 प्रतिवेदनों से संबंधित कार्य हो चुके हैं। 11 हजार पर काम जारी है और 2500 प्रतिवेदन अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि आज भी जो प्रतिवेदन प्राप्त हुए हैं, जिला स्तर पर संबंधित जो कार्य होंगे उन्हें प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा और जो कार्य मुख्यालय स्तर के होंगे उन्हें बेहतर समन्वय के साथ करते हुए उनका निदान किया जाएगा।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 6 लाभार्थियों को मौके पर ही राशन कार्ड उपलब्ध करवाने का काम किया, जिनमें देशराज, जसवंत सिंह, रोशन लाल, रामकली, राज सिंह और बाबूराम शामिल है। कार्यक्रम में जिला परिषद चेयरपर्सन कमलजीत कौर, पूर्व विधायक डॉ पवन सैनी, पूर्व सांसद कैलासो सैनी, पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन धर्मबीर मिर्जापुर, मुख्यमंत्री के ओएसडी जवाहर यादव सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें :Punjab: अलग-अलग जेलों में यह कदम उठाने की तैयारी में पंजाब सरकार।