Monday, April 15, 2024
24 C
New Delhi

Rozgar.com

24.1 C
New Delhi
Monday, April 15, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeSportsहुसामुद्दीन विश्व ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर से बाहर

हुसामुद्दीन विश्व ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर से बाहर

हुसामुद्दीन विश्व ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर से बाहर
सात्विक-चिराग की जोड़ी सेमीफाइनल में, चेन से हारी सिंधू

मुक्केबाज हुसामुद्दीन का निराशाजनक प्रदर्शन, सात्विक-चिराग की जोड़ी सेमीफाइनल में

बस्तो अर्सिज़ियो / पेरिस
भारत के विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन की चोट से उबरने के बाद वापसी निराशाजनक रही और वह यहां पहले विश्व ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर में पुरुषों के 57 किग्रा भार वर्ग में आयरलैंड के जूड गैलाघेर से 0-4 से हार गए।

हुसामुद्दीन को पहले दौर में बाइ मिली थी। वह विश्व चैंपियनशिप 2023 के क्वार्टर फाइनल के दौरान बायें घुटने में लगी चोट के बाद पहली बार प्रतिस्पर्धा कर रहे थे। हुसामुद्दीन को लय हासिल करने में समय लगा और उन्होंने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन गैलाघेर को बढ़त हासिल करने का मौका दिया।

आयरलैंड के 22 वर्षीय मुक्केबाज ने पहले राउंड में 5-0 से जीत दर्ज की। हुसामुद्दीन ने दूसरे राउंड में वापसी की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे। गैलाघेर ने तीसरे राउंड में भारतीय मुक्केबाज को आक्रमण नहीं करने दिया और आखिर में यह मुकाबला जीता।

भारत ने इस प्रतियोगिता में नौ मुक्केबाज उतारे थे लेकिन अब केवल निशांत देव (71 किग्रा) ही ओलंपिक कोटा हासिल करने की दौड़ में बने हुए हैं।

भारत के लिए अभी तक निकहत ज़रीन (50 किग्रा), प्रीति (54 किग्रा), परवीन हुडा (57 किग्रा) और लवलीना बोरगोहेन (75 किग्रा) ने एशियाई खेलों में अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर पेरिस ओलंपिक का कोटा हासिल किया है।

सात्विक-चिराग की जोड़ी सेमीफाइनल में, चेन से हारी सिंधू

पेरिस
सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की भारतीय जोड़ी ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए शुक्रवार को यहां फ्रेंच ओपन सुपर 750 बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरुष युगल के सेमीफाइनल में प्रवेश किया लेकिन दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पी वी सिंधू ओलंपिक चैम्पियन चेन यू फेइ से हार गई।

यहां 2022 में खिताब जीतने वाले सात्विक और चिराग ने क्वार्टर फाइनल में थाईलैंड के सुपाक जोमकोह और किटिनुपोंग केड्रेन पर 21-19 21-13 से जीत के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाई। उनका अगला मुकाबला विश्व चैंपियन और तीसरी वरीयता प्राप्त कांग मिन ह्युक और सियो सेउंग जे से होगा।

भारत की इस स्टार जोड़ी ने इससे पहले मलेशिया के मान वेइ चोंग और केइ वू ती को सीधे गेम में हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था।

चोट के कारण चार महीने बाद वापसी कर रही सिंधू ने करीब डेढ घंटे तक चले मुकाबले में अपनी फिटनेस और कौशल की बानगी पेश की लेकिन आखिर में उन्हें 24.22, 17.21, 18.21 से पराजय झेलनी पड़ी।

सिंधू ने 2019 में दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी चेन को हराकर विश्व चैम्पियनशिप स्वर्ण जीता था। उसके बाद से पिछले दो मुकाबलों में वह चेन से हार चुकी है।

महिला युगल में त्रिसा जॉली और गायत्री गोपीचंद भी क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई। उन्होंने सातवीं वरीयता प्राप्त जापान की युकी फुकुशिमा और सायाका हिरोता को 21.18, 21.13 से हराया। अब उनका सामना शीर्ष वरीयता प्राप्त किंग चेन चेन और यि फान जिया की चीनी जोड़ी से होगा।