Tuesday, May 21, 2024
37.1 C
New Delhi

Rozgar.com

37.1 C
New Delhi
Tuesday, May 21, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeLifestyleHealthमूत्राशय स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए अपने आहार में शामिल...

मूत्राशय स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए अपने आहार में शामिल करें ये 5 सुपरफ़ूड्स

आप जो खाते-पीते हैं, उसका सीधा असर आपके मूत्राशय (ब्लैडर) पर पड़ता है। यदि आपको बार-बार पेशाब आने की समस्या रहती है या मूत्र संक्रमण (यूटीआई) जल्दी हो जाता है। मूत्राशय की समस्याएं रोजाना के कामकाज को बाधित कर सकती हैं। ब्लैडर के खराब होने से आपको पेशाब से जुड़े कई रोग जैसे मूत्र संक्रमण (यूटीआई), मूत्र असंयम (यूरिनरी इन्कॉन्टीनेंस), मूत्र अवरोध (यूरिनरी रिटेंशन) आदि का रिस्क हो सकता है।

मूत्राशय की समस्या के लक्षणों में शामिल हैं- पेशाब रोकने में असमर्थता या पेशाब का रिसाव, बार-बार या अचानक पेशाब करने की आवश्यकता, पेशाब का धुंधला होना, पेशाब में खून आना, पेशाब करने से पहले, दौरान या बाद में दर्द या जलन महसूस होना, पेशाब करने में शुरू करने में परेशानी या कमजोर धारा आना, मूत्राशय पूरी तरह से खाली न हो पाना।

नॉएडा के ई-260 सेक्टर 27 स्थित 'कपिल त्यागी आयुर्वेद क्लिनिक' के डायरेक्टर कपिल त्यागी के अनुसार, कुछ खाद्य पदार्थ इन समस्याओं को बढ़ा सकते हैं। चाहे आपको अभी कोई समस्या न हो, फिर भी स्वस्थ मूत्राशय बनाए रखने के लिए कुछ चीजों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

नाशपाती

हाई फाइबर और मैलिक एसिड की मात्रा के कारण नाशपाती मूत्राशय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। ये यूरिनरी ट्रैक्ट स्टोन को रोकने में मदद कर सकते हैं। साथ ही, इनमें विटामिन सी भी पाया जाता है, जो मूत्राशय को स्वस्थ रखने और बार-बार पेशाब आने की समस्या को कम करने में मदद करता है।

जामुन

स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी, ब्लूबेरी और क्रैनबेरी जैसे जामुन फ्लेवोनॉल्स और विटामिन सी से भरपूर होते हैं जो बैक्टीरिया से लड़ते हैं। इनमें पानी की मात्रा भी अधिक होती है जो मूत्राशय को साफ रखने में मदद करती है।

साबुत अनाज

ब्राउन राइस, क्विनोआ और जौ जैसे साबुत अनाज आपके आहार में शामिल करने से मूत्राशय का स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

ओट्स

ओट्स में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो मूत्राशय के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। यह कब्ज को रोकता है और मूत्राशय पर दबाव को कम करता है। इसके अलावा, यह सिस्टिटिस जैसी स्थितियों में होने वाले मूत्राशय के दर्द को कम करने में भी मदद कर सकता है।

नट्स

नट्स प्रोटीन, फाइबर और आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जो मूत्राशय के लिए फायदेमंद होते हैं। बादाम, काजू, मूंगफली और सूरजमुखी के बीज मूत्राशय के स्वास्थ्य के लिए विशेष रूप से अच्छे विकल्प हैं।