20.1 C
New Delhi
Wednesday, February 21, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi NewsKejriwal Disappointed: चुनावी वादों पर केजरावाल ने किया निराश, दिल्ली के छोटे...

Kejriwal Disappointed: चुनावी वादों पर केजरावाल ने किया निराश, दिल्ली के छोटे व्यापारियों को दिया धोखा।

Kejriwal disappointed on election promises, cheated small businessmen of Delhi.

  • आदमी पार्टी द्वारा संचालित एमसीडी ने न केवल दिल्लीवासियों को 2022 एमसीडी चुनावों से पहले किए गए सभी चुनावी वादों पर निराश किया है, बल्कि आज एल.एस.सी. दुकानदारों सहित दिल्ली के छोटे व्यापारियों को धोखा दिया है और उन्हे परेशान करने पर आमादा है — वीरेंद्र सचदेवा
  • मेयर सार्वजनिक तौर पर शर्मनाक तरीके से एल.एस.सी. को आश्वासन देती रहीं और व्यापारियों को कहती रहीं कि उनकी दुकानें और परिसर जल्द ही खोले जाएंगे, लेकिन सच्चाई यह है कि एमसीडी ने यह कहने के लिए फिर से माननीय सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया है कि डीसीलिंग आदेश उचित नहीं है — वीरेंद्र सचदेवा
  • दिल्ली बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मुख्यमंत्री और मेयर से पूछा कि जब एमसीडी एल.एस.सी. की सीलिंग जारी रखने की मांग को लेकर कोर्ट में गई है तो फिर मेयर एल.एस.सी. के व्यापारियों के साथ बैठकें क्यों बुला रही हैं, यह स्पष्ट है कि यह सब एक फंड डील करने की चाल है — वीरेंद्र सचदेवा
  • एमसीडी को कल सुप्रीम कोर्ट से अपना आवेदन वापस लेना चाहिए और कल से डीसीलिंग शुरू करनी चाहिए अन्यथा भाजपा कार्यकर्ता बुधवार 3 जनवरी की सुबह एल.एस.सी की इन दुकानों को डीसील कर देंगे — वीरेंद्र सचदेवा
  • आप द्वारा संचालित एमसीडी व्यापारियों को परेशान कर रही है और लैंडफिल साइटों की सफाई पर भी विफल रही है – वीरेंद्र सचदेवा

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने आज एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आम आदमी पार्टी द्वारा संचालित दिल्ली नगर निगम ने 2022 एमसीडी चुनावों से पहले किए गए सभी चुनावी वादों से न केवल दिल्लीवासियों को निराश किया है, बल्कि आज पूरी तरह से धोखा देने पर आमादा है। एल.एस.सी.दुकानदारों सहित दिल्ली के छोटे व्यापारी को परेशान कर रही है।

सचदेवा ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मंत्री आतिशी, मेयर डॉ. शैली ओबेरॉय और आप के एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक मिलकर झूठे आश्वासनों से दिल्ली की जनता को बेवकूफ बना रहे हैं, जबकि एमसीडी की विफलता से एक साल से दिल्ली की सफाई सेवा बदहाल है, व्यापारियों को परेशान किया जा रहा है। एमसीडी में विपक्ष के नेता सरदार राजा इकबाल सिंह और दिल्ली भाजपा मीडिया प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपस्थित थे और उन्होंने बताया कि कैसे आम आदमी पार्टी के नए एमसीडी पार्षदों ने समानांतर प्रशासन चलाकर एमसीडी को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया है और एमसीडी कर्मचारियों को परेशान कर रहे हैं। दिल्ली भाजपा मंत्री हरीश खुराना एवं मीडिया रिलेशन प्रमुख विक्रम मित्तल भी मंचासीन थे।

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि आज हम एमसीडी में आम आदमी पार्टी की विफलता और व्यापारियों को धोखा देने के 5 मुख्य बिंदु सूचीबद्ध करते हैं।

  1. एमसीडी स्थानीय शॉपिंग कॉम्प्लेक्स व्यापारियों को धोखा दे रही है: पिछले महीने भारत के माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने वर्षों के विवादों के बाद, जिस दौरान केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने हमेशा एल.एस.सी. के मुद्दे का समर्थन किया था उस मामले में फैसला देते हुऐ व्यापारियों की एल.एस.सी. में सील पड़ी दुकानों और परिसरों को डी-सील करने का आदेश दिया। एक महीने से अधिक समय बीत चुका है पर एमसीडी ने अभी तक डीसीलिंग की कवायद शुरू नहीं की है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तुरंत बाद दिल्ली की मेयर डॉ. शैली ओबेरॉय ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कोर्ट के आदेश का श्रेय लिया और कुछ दिनों के भीतर डी-सीलिंग का आश्वासन दिया, हालांकि जमीन पर ऐसा कुछ भी नहीं किया गया है जिससे यह संकेत मिले कि वह दुकानों को डी-सील करना चाहती हैं।

सचदेवा ने कहा कि जब हमने पूछताछ की तो मामले की सच्चाई सामने आ गयी। मेयर सार्वजनिक तौर पर शर्मनाक तरीके से एल.एस.सी. दुकानदारों को आश्वासन देती रही हैं कि उनकी दुकानें और परिसर जल्द ही खोले जाएंगे, लेकिन तथ्य यह है कि एमसीडी ने यह कहने के लिए फिर से माननीय सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया है कि डी-सीलिंग आदेश उचित नहीं है।

एमसीडी और अरविंद केजरीवाल शासन वास्तव में एल.एस.सी. को डी-सील नहीं करना चाहते और हमने सुना है कि “आप” के एक वरिष्ठ व्यापारी नेता, जो व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडलों की मुख्यमंत्री, मंत्रियों और मेयर से मुलाकात कराते रहते हैं, व्यापारियों के साथ “आप” के लिए चुनावी फंड जुटाने के बारे में बात कर रहे हैं। वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि एमसीडी को कल सुप्रीम कोर्ट से अपना आवेदन वापस लेना चाहिए और कल से डीसीलिंग शुरू करनी चाहिए अन्यथा भाजपा कार्यकर्ता बुधवार 3 जनवरी की सुबह इन एलएससी दुकानों को डीसील कर देंगे।

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मुख्यमंत्री और मेयर से पूछा है कि जब एमसीडी एल.एस.सी. की सीलिंग जारी रखने की मांग को लेकर कोर्ट में गई है. दुकानें तो फिर वे एल.एस.सी. के व्यापारियों के साथ बैठकें क्यों बुला रहे हैं, यह स्पष्ट है कि यह सब फंड डील करने की चाल है।

  1. ट्रेड लाइसेंस गैर नवीनीकरण के लिए दुकानों की सीलिंग: पूरे 2021-22 के दौरान हमने आप नेताओं को यह कहते सुना है कि सत्ता में आने पर वे ट्रेड लाइसेंसिंग प्रणाली को खत्म कर देंगे और इसे सिंगल विंडो पर बहुत सरल बना दिया जाएगा। एक साल बाद हमें पता चला कि व्यापारियों को कोई चेतावनी दिए बिना जनरल ट्रेड लाइसेंस के नवीनीकरण न होने जैसी मामूली कमी के कारण सैकड़ों दुकानें सील की जा रही हैं।

एमसीडी व्यापारियों, नर्सिंग होम आदि पर भारी स्वच्छता शुल्क लगा रही है। 2022 में दुर्गेश पाठक जैसे आम आदमी पार्टी के नेता व्यापारियों पर स्वच्छता शुल्क का विरोध करते थे, लेकिन एक साल सत्ता में रहने के बाद हमने पाया कि एमसीडी न केवल व्यापारियों पर स्वच्छता शुल्क लगा रही है, बल्कि चार्ज राशि बढ़ा दी। दरअसल, वे भुगतान न करने वाले व्यापारियों को सीलिंग नोटिस दे रहे हैं।

आम आदमी पार्टी एक विशेष समुदाय को खुश करने के लिए दिल्लीवासियों की धार्मिक भावनाओं के साथ खेल रही है : दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यह खेदजनक है कि “आप” ने अपने पार्षदों से एक प्रस्ताव लगवाया और उसे पारित कर दिया, जिससे मंदिर या गुरुद्वारे से मांस की दुकान की दूरी 150 मीटर से घटकर 100 मीटर हो गई।

“आप” ने दिल्लीवासियों की धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ करते हुए एक विशेष समुदाय को खुश करने के लिए ऐसा किया है।

  1. लैंडफिल साइटों को साफ ना करने से दिल्लीवासी निराश, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि सीएम अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी के लोग दिल्लीवासियों से कहते थे कि हमें एमसीडी दे दो और हम एक साल में दिल्ली की तीन लैंडफिल साइटों को साफ कर देंगे।

एमसीडी में आम आदमी पार्टी की सत्ता के एक साल बाद हमने पाया कि गाज़ीपुर, ओखला भलस्वा में सभी 3 लैंडफिल साइटें वैसी ही मौजूद हैं जैसी वे जनवरी 2022 में थीं जब “आप” ने एमसीडी पर कब्जा कर लिया था।

एमसीडी में एलओपी सरदार राजा इकबाल सिंह ने कहा है कि हर कुछ महीनों में हम आप पार्षदों और उनके परिवार के सदस्यों को एमसीडी इंजीनियरों, हाउस टैक्स इंस्पेक्टरों के साथ झगड़े में शामिल होते देखते हैं। अक्सर हम सुनते हैं कि AAP पार्षद अनधिकृत निर्माणों और अतिक्रमणों से धन उगाही करने के लिए समानांतर कर्मचारी चला रहे हैं। आप पार्षदों का भ्रष्टाचार चरम पर है।

सरदार राजा इकबाल सिंह ने कहा कि एमसीडी की पिछली बैठक में मेयर ने एलएससी की दुकानों की डी-सीलिंग पर बार-बार जोर देने के लिए मुझे और 3 अन्य भाजपा पार्षदों को निलंबित कर दिया था और आज हम समझते हैं कि डी-सीलिंग पर विशेष सत्र बुलाना एक दिखावा था, वे वास्तव में एलएससी की सील को बनाए रखने की कोशिश कर रहे हैं।

मीडिया प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि यदि आप पार्षदों के भ्रष्टाचार का पार्टी समर्थन नहीं करती है तो महापौर को पार्षद ज्योति गौतम, हेमलता लाडला और शीतल के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जो एमसीडी अधिकारियों के साथ झगड़े में शामिल रही हैं और जो दरियागंज, बादली, पटेल नगर पार्षदों के साथ समानांतर प्रशासन चला रहे हैं उन्हे रोके।