16.8 C
New Delhi
Tuesday, March 5, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeBusinessFinanceBharat Vs Maldives: मालदीव को उठाना पड़ेगा भारी नुकसान! टूरिज्म ही नहीं,...

Bharat Vs Maldives: मालदीव को उठाना पड़ेगा भारी नुकसान! टूरिज्म ही नहीं, इन क्षेत्रों में भी भारत करता है सहयोग।

Maldives will have to suffer huge losses! Not only tourism, India cooperates in these areas also.

मालदीव का अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से पर्यटन पर निर्भर रहता है और इसमें सबसे बड़ा योगदान भारतीयों का होता है. भारत दिसंबर 2020 और जून 2023 के बीच मालदीव के लिए दुनिया का सबसे बड़ा पर्यटक बाजार रहा है।

maldives
Bharat Vs Maldives: मालदीव को उठाना पड़ेगा भारी नुकसान! टूरिज्म ही नहीं, इन क्षेत्रों में भी भारत करता है सहयोग। 3

मालदीव में चीन समर्थित सरकार के सत्ता में आने के बाद भारत के साथ उसके रिश्तों में काफी तनाव आ गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया लक्षद्वीप दौरे के बाद ये विवाद और बढ़ चुका है. बता दें कि दोनों के संबंध एक समय काफी अच्छे थे हाल के दिनों में अब ठीक-ठाक कड़वाहट आ गई है. मालदीव का अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से पर्यटन पर निर्भर रहता है और इसमें सबसे बड़ा योगदान भारतीयों का होता है. भारत दिसंबर 2020 और जून 2023 के बीच मालदीव के लिए दुनिया का सबसे बड़ा पर्यटक बाजार रहा है. आंकड़ों के अनुसार, अकेले नवंबर 2023 में देश में 18,905 भारतीय पर्यटकों के आगमन के साथ भारत दूसरे स्थान पर रहा.

कोविड में भी भारत बना सहारा

मालदीव की जीडीपी का लगभग 25% सीधे पर्यटन से प्राप्त होता है. मालदीव की एक तिहाई से अधिक रोजगार संभावनाएं सीधे तौर पर पर्यटन उद्योग से संबंधित हैं. मालदीव समेत पूरी दुनिया जब कोविड के चपेट में थी, उस वक्त भी भारतीयों ने मालदीव जाकर वहां के अर्थव्यवस्था को सपोर्ट किया. कोविड काल के दौरान करीब 63000 भारतीयों ने मालदीव की यात्रा की।

मालदीव में एयरपोर्ट्स बना रहा भारत

भारतीय विदेश मंत्रालय (एमईए) के अनुसार, मालदीव के पर्यटन उद्योग को समर्थन देने के लिए 34 द्वीपों पर कई तरह के वाटर सेनिटाइजेशन प्रग्राम चल रहे हैं. इंडियन एयरपोर्ट अथॉरिटी ने इन हनीमाधू और गण अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा पुनर्विकास परियोजनाओं के लिए डीपीआर भी तैयार कर लिया है. बता दें कि इस प्रोग्राम को भी भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है।

एसबीआई ने निभाया साथ

मालदीव अपने कृषि और मछली पकड़ने के उद्योगों से भी अच्छी खासी कमाई करता है. विदेश मंत्रालय के अनुसार, फरवरी 1974 से, भारतीय स्टेट बैंक ने द्वीप राष्ट्र को द्वीप रिसॉर्ट्स के विकास और समुद्री उत्पादों के निर्यात में महत्वपूर्ण सहायता की है. इसके अलावा भारत के सबसे बड़े बैंक ने लोन देकर भी लोकल उद्योग के विकास में काफी योगदान दिया है।

पीएम के लक्षद्वीप दौरे का असर

पीएम के लक्षद्वीप दौरे के बाद लक्षद्वीप गूगल सर्च में टॉप पर बना हुआ है।

Bharat Vs Maldives: मालदीव को उठाना पड़ेगा भारी नुकसान! टूरिज्म ही नहीं, इन क्षेत्रों में भी भारत करता है सहयोग। 4

शुक्रवार को 50,000 से अधिक लोगों ने केंद्र शासित प्रदेश को गूगल पर देखा. बता दें कि एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर एक पोस्ट में, पीएम मोदी ने कहा, “हाल ही में, मुझे लक्षद्वीप के लोगों के बीच रहने का अवसर मिला. मैं अभी भी इसके द्वीपों की अद्भुत सुंदरता और यहां के लोगों की अविश्वसनीय गर्मजोशी से आश्चर्यचकित हूं.” पीएम के इस ट्वीट के बाद क्रिकेटरों और फिल्मी हस्तियां भी खुलकर सामने आए हैं. उन्होंने लक्षद्वीप में समुद्र तट पर्यटन को बढ़ावा देने के पीएम मोदी के आह्वान के प्रति भी समर्थन जताया।