Monday, April 15, 2024
24 C
New Delhi

Rozgar.com

24.1 C
New Delhi
Monday, April 15, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesMadhya Pradeshमोहन सरकार की किसानों को बड़ी सौगात, गेहूं की खरीदी पर प्रति...

मोहन सरकार की किसानों को बड़ी सौगात, गेहूं की खरीदी पर प्रति क्विंटल 125 रुपये का बोनस देगी मध्य प्रदेश सरकार

भोपाल

लोकसभा चुनाव से पहले सरकार ने प्रदेश के किसानों को बड़ी सौगात दी है। सोमवार को सीएम डॉ.मोहन यादव की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक मंत्रालय में आयोजित हुई। इसमें में किसानों को प्रति क्विंटल पर 125 रुपए बोनस देने का निर्णय लिया है। कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कैबिनेट के निर्णयों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सरकार ने किसानों को गेहूं पर 2275 रुपए समर्थन मूल्य के साथ ही प्रति क्विंटल 125 रुपए बोनस देने का निर्णय लिया है। यानी सरकार 2400 रुपए प्रति क्विंटल गेंहू खरीदेगी। साथ ही किसानों को खाद और उर्वरक की जरूरत को ध्यान में रखकर फिर से मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ को नोडल एंजेसी घोषित किया है। उसमें 850 करोड़ रुपए की निशुल्क शासकीय प्रत्यावृति स्वीकृत की गई है। वहीं, सरकार ने प्रदेश के सभी जिला अस्पताल में नि:शुल्क शव वाहन रखने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी है। इसे उपलब्ध कराने का अधिकार कलेक्टर और सीएमएचओ के पास रहेगा। इसके अलावा धर्मस्व विभाग और मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का कार्यालय सतपुड़ा से उज्जैन शिफ्ट करने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी है। 
 लोकसभा चुनाव की घोषणा से पहले मध्‍य प्रदेश की मोहन यादव कैबिनेट की अंतिम बैठक आज आयोजित की गई। बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कैबिनेट के निर्णयों की जानकारी दी।

धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग का संचालन उज्जैन में स्थानांतरित होगा।

खाद के लिए 850 करोड़ रुपये की गारंटी सरकार मार्कफेड को देगी।

पूरे प्रदेश में साइबर तहसील लागू करने के निर्णय का अनुसमर्थन किया गया

मध्य प्रदेश में 13 नर्सिंग महाविद्यालय खोले जाएंगे

उज्जैन में मेडिकल कॉलेज और 100 बिस्तर के लिए अस्पताल लगभग 600 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई।

पीएम श्री एंबुलेंस सेवा का अनुमोदन कैबिनेट ने किया। जिसमें एक हेलीकॉप्टर और हवाई जहाज रहेगा। जिसके पास आयुष्मान का कार्ड होगा। उसे निश्शुल्क ले जाने की सुविधा होगी। मरीज कौन होगा, इसका निर्णय कलेक्टर सीएमओ करेंगे। यदि कोई व्यक्ति निजी अस्पताल में इलाज कराने जाएगा तो उसके लिए एक शुल्क रखा जाएगा।

गेहूं के उपार्जन के लिए 30 हजार करोड़ रुपये की प्रतिभूति होती की गारंटी सरकार ने दी है।

प्रदेश सरकार गेहूं के उपार्जन पर प्रति क्विंटल 125 रुपए का बोनस देगी। अभी 2 हजार 275 रुपये समर्थन मूल्य है उसके ऊपर यह राशि मिलेगी

उज्जैन में आईआईटी इंदौर का कैंपस कॉलेज खोलने की स्वीकृति दी गई।

प्रधानमंत्री जनमन योजना के अंतर्गत बैगा, भारिया सहरिया के आवास पर विद्युतीकरण कराया जाएगा।

आयुष्मान कार्डधारियों को नि:शुल्क मिलेगी एयर एंबुलेंस की सुविधा
पीएम श्री एयर एंबुलेंस सेवा के प्रदेश में संचालन को भी कैबिनेट ने स्वीकृति दी है। इसमें एक हेलीकॉप्टर और हवाई जहाज होगा। इसका लाभ आयुष्मान योजना के कार्डधारी मरीज को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने के लिए नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। यदि कोई मरीज निजी अस्पताल में भर्ती होता है तो सरकार उसके लिए शुल्क रखा जाएगा। इसके शुल्क का निर्धारण जल्द किया जाएगा। इसकी सुविधा उपलब्ध कराने का अधिकार कलेक्टर और सीएमएचओ को दिया जाएगा।

 
जनजातीय समुदाय के घरों तक बिजली पहुंचाएंगी सरकार  
प्रधानमंत्री के जनजाति आदिवासी महाअभियान के तहत ही प्रदेश में बैगा, सहरिया और भारिया अति पिछड़ी जनजातियों के घरों पर बिजली पहुंचाने के प्रस्ताव को कैबिनेट ने स्वीकृति दी है। इसके लिए संबंधित तीन जनजातियों के लोगों के घरों तक बिजली पहुंचाई जाएगी। जंगल में रहने वाले जनजाति के लोगों के घरों पर सोलर एनर्जी के माध्यम से बिजली की व्यवस्था की जाएगी।

आईआईटी के सहयोग से इंजीनियरिंग कॉलेज होंगे हाईटेक
आईआईटी इंदौर ने देश के पहले डीप-टेक रिसर्च एंड डिस्कवरी सेंटर का शुभारंभ उज्जैन में किया है। इसके निर्माण पर करीब 237 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इसके अलावा सरकार ने आईआईटी इंदौर से प्रदेश के 6 इंजीनियरिंग कॉलेजों को हाईटेक करने मार्गदर्शन प्रदान करने अनुबंध किया है। ताकि इंजीनियरिंग कॉलेजों का स्तर आईआईटी तक ले जाया जा सके। इसमें लगने वाले खर्च की सरकार समय समय पर स्वीकृति प्रदान करेगी।

13 नए नर्सिंग कॉलेज खोलने स्वीकृति
प्रदेश के नए मेडिकल कॉलेज नीमच, मंदसौर, श्योपुर और सिंगरौली के भवन तैयार हो गए है। उनके संचालन के लिए उपकरण खरीदने सरकार ने फिर से करीब 1200 करोड़ की स्वीकृति प्रदान की है। इसके अलावा प्रदेश में मेडिकल कॉलेज के पास नर्सिंग कॉलेज खोलने की केंद्र समर्थित योजना को कैबिनेट ने स्वीकृति दी है। इसमें 13 नए नर्सिंग कॉलेज खोले जाएंगे। इस पर करीब 192 करोड़ रुपए खर्च होंगे। जिसमें केंद्र का भी अंश होगा।  

इन प्रस्ताव को भी भी कैबिनेट ने दी स्वीकृति

  • – मध्य प्रदेश के नए लोकायुक्त जस्टिस सत्येंद्र कुमार सिंह के निर्णय के प्रस्ताव का अनुसमर्थन किया है।
  • – प्रदेश में सभी सायबर तसहील शुरू करने के निर्णय के प्रस्ताव का अनुसमर्थन को स्वीकृति दी है।
  • – उज्जैन में नवीन शासकीय मेडिकल कॉलेज और 100 बिस्तर का अस्पताल बनाने के लिए 592 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है।  
  • – बिजली की भविष्य की आवश्यकता को देखते हुए 800 मेगावाट बिजली के लिए निजी एजेंसी से अनुबंध की स्वीकृति प्रदान की है। इससे प्रदेश सरकार को बिजली की उपलब्धता के साथ सस्ती बिजली भी मिलेगी।
  • – भोपाल के मुखर्जी नगर कोलार मार्ग 15 किमी के लिए 305 करोड़ रुपएकी पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति दी है। इसमें रोड किनारे लाइट, नालियां और सौंदर्यीकरण का काम किया जाएगा।
  • – प्रदेश में समर्थन मूल्य पर विकेन्द्रीत योजना के तहत खाद्यान के उपार्जन सार्वजनिक वितरण प्रणाली और अन्य शासकीय योजना के संचालन के लिए कमी की पूर्ति के लिए नि:शुल्क शासकीय प्रत्यावर्ति की  स्वीकृति दी गई है। यह 30 हजार करोड़ रुपए के असपास होगी। इसकी गारंटी कैबिनेट ने प्रदान की है।

लोकायुक्त पर उमंग सिंघार का बयान गलत
कैलाश विजयवर्गीय ने कैबिनेट के निर्णय के बाद उमंग सिंघार का लोकायुक्त की नियुक्ति को अवैध बताने के बयान पर प्रतिक्रिया दी। विजयवर्गीय ने कहा कि उमंग सिंगार का बयान गलत है, सीएम आवास से अधिकारी उनके पास पहुंचे थे. उन्हें इस बारे में जानकारी दी लेकिन उन्होंने अपनी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी। मुख्यमंत्री और चीफ जस्टिस ने इस विषय पर अपनी राय दी थी। उमंग सिंगार से पूछा गया था। लेकिन अगर वह असहमत थे तो उन्हें लिख देना चाहिए था। यह गलत कह रहे हैं कि सरकार ने उनसे पूछा नहीं था.