Monday, May 20, 2024
39 C
New Delhi

Rozgar.com

39 C
New Delhi
Monday, May 20, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesMadhya Pradeshराहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा में 50 हजार से अधिक ...

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा में 50 हजार से अधिक लोगों ने पहुंचकर सभा को ऐतिहासिक बना दिया

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा में 50 हजार से अधिक  लोगों ने पहुंचकर सभा को ऐतिहासिक बना दिया

राहुल गांधी का बदनावर की जनता ने गर्म जोशी से किया स्वागत

धार
 राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का बदनावर के कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया । राहुल जी की आमसभा में हजारों की संख्या में उमड़े  जन सैलाब ने बदनावर की धरती पर  विधायक भंवरसीह शेखावत की मेहनत कार्यकर्ताओं की लगन एवं नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंगार के नेतृत्व में बदनावर में राहुल जी की आमसभा ऐतिहासिक बना दिया। आमसभा में  50 हजार से अधिक लोगों ने सहभागिता कर राहुल जी के इरादे और मजबूत कर दिए। कांग्रेस के युवा नेता राहुल गांधी ने भी जनसैलाब को देखते हुए यहां काफी लंबा समय दिया। न्याय यात्रा के दौरान राहुल जी करीब 3 घंटे तक बदनावर सभा में मौजूद रहे।

 गजानंद नगरी में आयोजित आमसभा में जन सैलाब ने एक बार फिर कांग्रेस के वजूद पर मोहर लगा दी । राहुल गांधी ने  20 मिनट के उद्बोधन में  प्रमुख रूप से आदिवासी एवं युवाओं के अधिकार को लेकर चर्चा की। राहुल जी ने आदिवासियों के लिए जल जमीन व जंगल का महत्व बताते हुए वनवासी और आदिवासी में क्या फर्क है इस पर भी ध्यान  आकर्षण की।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का बुधवार दोपहर बड़नगर से बदनावर आगमन हुआ। बड़ी चौपाटी के पास गजानन नगरी के सभा स्थल पर राहुल गांधी ने एक बड़ी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमें भाजपा के चाल चरित्र व चेहरे पर शर्म आती है। जब कोई भाजपा कार्यकर्ता ही किसी आदिवासी पर पेशाब करने की घटना का वीडियो बनाकर वायरल करता है। इससे घटिया बात और क्या हो सकती है। यह हमें आदिवासियों के प्रति भाजपा की सोच का इशारा करती है।

    उन्होंने आदिवासी एवं वनवासी के बीच अंतर बताते हुए कहा कि आदिवासी ही इस देश के जल जंगल व जमीन के असली मालिक है। किंतु बीजेपी वाले इनके लिए वनवासी शब्द का उपयोग कर इन्हें अपनी विरासत से बेदखल करना चाहते हैं। सरकार इन्हें मालिक नहीं बल्कि मजदूर बना कर ही रखना चाहती है।

    उन्होंने कहा कि आज भी कोई आदिवासी भाई किसी निजी विद्यालय या अस्पताल का मालिक नहीं है और न ही उस जमीन का मालिक है। इससे यह स्पष्ट है कि भाजपा का गरीब, दलित व शोषित वर्ग से कोई सरोकार नहीं है। वह केवल पूंजीपति वर्ग की ही संरक्षक है। अदानी जैसे एक दो पूंजीपत्तियों का देश की आर्थिक स्थिति पर कब्जा हो गया है। वे ही पूरा उद्योग कारोबार चला रहे हैं।
    उन्होंने घोषणा की कि हम आर्थिक जातिगत गणना करके क्रांतिकारी कदम उठा रहे हैं। इससे हर समाज की वास्तविक स्थिति सामने आएगी।

एमएसपी की मांग के बारे में कहा कि जहां एक ओर किसान सड़क पर उतरकर आंदोलन कर रहा है। किंतु सरकार उन पर लाठियां बरसा कर आंदोलन को कुचलने के लिए आमादा है। वहीं दूसरी ओर सरकार देश के पूंजी पत्तियों के 16 लाख करोड़ रुपए माफ कर देती है। लेकिन वह किसानों को एमएसपी देने के लिए तैयार नहीं है। मैं आपसे वादा करता हूं कि हमारी सरकार बनने पर एमएसपी तत्काल लागू करेगी।

    इससे पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को पार्टी ने इस बार मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनाया। उनके ऊपर दुनिया का सबसे बड़ा व्यापम घोटाले का आरोप है। पूरी सरकार ही गड़बड़झाले की सरकार थी। मुझे आश्चर्य होता है कि सरकार ने 3 लाख से अधिक वनोपज के पट्टे खारिज कर दिए। जो सरकार गरीबों का शोषण करती है वह गरीब वर्ग की क्या सेवा करेगी। उनके नेता गरीबों के पैर धोने का आडंबर कर रहे हैं।  जबकि उन्हें समय पर खाना देने, घर देने और जीवन स्तर ऊपर उठाने की ओर ध्यान देना चाहिए। जब तक  वर्णाश्रम की व्यवस्था रहेगी तब तक गरीबों का उद्धार नहीं हो सकेगा। आज भाजपा राज में देश भर में समाज का हर वर्ग बेरोजगारी, महंगाई, अत्याचार, भ्रष्टाचार से परेशान है किंतु भाजपा के नेता इस बारे में एक शब्द नहीं बोलते। मोदी जिस गारंटी की बात करते हैं वह बकवास की गारंटी है। क्या उनके राज में किसानों की आय दोगुनी हुई है। क्या लोगों के खातों में 15 लाख रुपए आए हैं। आज झूठों के सरदार मोदीजी हो गए हैं। यही नहीं इलेक्ट्रॉल बॉन्ड के बारे में सुप्रीम कोर्ट के आदेश की भी अवहेलना जा रही है। यदि इस बारे में सरकार बताती है तो उसके भ्रष्टाचार की पोल खुलना तय है। भाजपा शासित राज्यों में कैग की रिपोर्ट के अनुसार लगभग 8 लाख 50 हजार करोड़ के घोटाले हुए हैं।

    मंच पर पार्टी पदाधिकारी वेणुगोपाल, जयराम रमेश, दिग्विजय सिंह एवं अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी उद्बोधन दिया। संचालन नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने किया। आभार माना विधायक भंवरसिंह शेखावत ने।

    बदनावर में पहली बार सरकार व प्रशासन  के सहयोग के बिना ऐतिहासिक सभा हुई। राहुल गांधी का काफिला बडनगर से होता हुआ बदनावर पहुंचा था। सड़क मार्ग की दोनों साइड झंडे बैनर होल्डिंग से पाट दी गई थी। दोनों तरफ हजारों लोग जमा थे। सभा स्थल भी खचाखच भर गया था। सभा खत्म होने के बाद भी करीब आधे घंटे तक बड़ी चौपाटी पर वाहनों के निकलने से जाम लगा रहा। यहां से न्याय यात्रा रतलाम के लिए रवाना हुई।

    कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कई दिनों से तैयारी चल रही थी। उमंग सिंगार एवम  विधायक भंवर सिंह शेखावत , जिला अध्यक्ष कमल किशोर पाटीदार निर्मल मेहता के मार्ग दर्शन में परितोष सिंह राठौर,,जयदीप सिंह पवार ,संदीपसिंह शेखावत,अभिषेक मोदी, महेश पाटीदार, मुकेश होती, निर्मल वर्मा, अनूप जैन,   समेत वरिष्ठ नेताओं ने आयोजन की जिम्मेदारी ले रखी थी। ।
राहुल गांधी को सुनने के लिए बदनावर धार सरदारपुर मनावर गंधवानी एवं झाबुआ बड़वानी उज्जैन सहित कई जिले के लोग पहुंचे थे संचालन नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंगार एवं संगठन सह प्रभारी कुलदीप इंदौर आने किया अंत में आभार विधायक भंवर सिंह शेखावत ने माना। जानकारी कांग्रेस मीडिया प्रभारी महेश पाटीदार  ने दी।