Monday, April 15, 2024
24 C
New Delhi

Rozgar.com

24.1 C
New Delhi
Monday, April 15, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeWorld Newsरामेश्वरम कैफे ब्लास्ट जांच के लिए पहुंची NSG... IED से हुआ विस्फोट

रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट जांच के लिए पहुंची NSG… IED से हुआ विस्फोट

बेंगलुरु

समय दोपहर का था. माहौल रोज की तरह सामान्य था, लोग कैफे में आ रहे थे, ऑर्डर कर रहे थे, कुछ लोग टेबल पर बैठे थे. मैंने भी अपना ऑर्डर किया और काउंटर पर ही खड़ा था कि, इतने में मां का फोन आ गया. ऑर्डर दे चुका था, इसलिए फोन पर बात करते हुए मैं काउंटर से हट गया और वहां से यूं ही चलते हुए 10-15 मीटर दूर हो गया. इसके बाद जो तेज आवाज हुई, मेरी समझ ही नहीं आया कि क्या हुआ, जब तक कुछ समझ पाता चारों ओर से धुएं में घिर चुका था.

पुलिस ने व्हाइटफील्ड क्षेत्र में विस्फोट स्थल से टाइमर और आईईडी के अन्य हिस्सों को बरामद किया, और अधिकारियों ने कहा कि आरोपी का पता लगाने के प्रयास जारी हैं, जिसे विस्फोट से ठीक पहले सीसीटीवी विजुअल में कैफे में एक बैग रखते हुए देखा गया था। वहीं अब  बम विस्फोट की जांच के लिए  NSG की टीम रामेश्वरम कैफे पहुंच चुकी है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने पुष्टि की कि यह एक बम विस्फोट था, उन्होंने घटना की उचित जांच का आश्वासन दिया और विपक्षी दलों से इस पर राजनीति नहीं करने का आग्रह किया।

1. Rameshwaram cafe पहुंची NSG की टीम
रामेश्वरम कैफे की व्हाइटफील्ड ब्रांच में शुक्रवार को हुए इस धमाके के बारे में बात करते कुमार अलंकृत के रोंगटे खड़े हो जाते हैं और डर, उनके चेहरे पर साफ झलकता है. वह अलंकृत ही थे, जिन्होंने इस धमाके का पहला वीडियो शेयर किया. रामेश्वरम कैफे में हुए इस ब्लास्ट के बाद जांच एजेंसियां लगातार सक्रिय हैं और इस मामले की गहन जांच में जुटी हुई हैं. सामने आया है कि  Rameshwaram cafe के अंदर NSG की टीम पहुंची है. यहां NSG की बॉम्ब डिस्पोजल यूनिट कैफे के अंदर जांच कर रही है.

2. कर्नाटक सीएम आज करेंगे बैठक
रामेश्वरम कैफे में ब्लास्ट के बाद कर्नाटक के सरकारी अमलों में अफरा-तफरी का माहौल है. प्रशासन इस विस्फोट के बाद अपने चेक पाॉइंट्स खंगाल रहा है. वहीं, कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया ने शनिवार को दोपहर 1 बजे खास बैठक बुलाई है. सिद्धारमैय शनिवार दोपहर 1 बजे गृह विभाग के बड़े अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे.

3. सीसीटीवी में दिखा संदिग्ध
रामेश्वरम कैफे विस्फोट मामले में नया सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें संदिग्ध को सफेद टोपी और मास्क पहने, कंधे पर बैग लेकर कैफे की ओर जाते देखा जा सकता है.

4. कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने किया कैफे का दौरा
कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार और गृह मंत्री जी परमेश्वर ने शुक्रवार शाम रामेश्वरम कैफे में विस्फोट स्थल का दौरा किया. डीके शिवकुमार ने कहा कि इस धमाके के आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. उन्होंने मीडिया कर्मियों को कैफे में हुए विस्फोट के बारे में ब्रीफ करते हुए कहा, 'आरोपी की उम्र करीब 28 साल से 30 साल के बीच है. सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि वह कैफे में आया और काउंटर से कूपन लिया. उसने रवा इडली का ऑर्डर दिया, लेकिन खाया नहीं. जिस बैग में बम था, उसे रखकर बाहर चला गया'.

5. यह कोई बड़ा धमाका नहींः डिप्टी सीएम
कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री ने कहा, 'हमने सीसीटीवी से आरोपी की पहचान कर ली है. सेंट्रल क्राइम ब्रांच इस मामले की जांच कर रही है. लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. हमने अन्य एजेंसियों को भी सूचित कर दिया है. हमें विश्वास है कि पुलिस कुछ ही घंटों में इस मामले का खुलासा कर देगी. विस्फोट में कोई भी गंभीर रूप से घायल नहीं है. ये कोई बहुत बड़ा बम धमाका नहीं था, लेकिन हम फिर भी अपना कर्तव्य निभा रहे हैं'.

6. जो मैं जानता हूं, वह अभी नहीं बता सकताः कर्नाटक के गृहमंत्री
कर्नाटक के गृहमंत्री जी परमेश्वरा ने आजतक से बात करते हुए कहा कि, 'ये घटना दुखद है. हम BENGALURU को SAFE CITY बनाना चाहते हैं. कुछ गलत लोग इसे खराब करने की कोशिश में हैं, लेकिन हम उनको पकड़ लेंगे. CCTV देख रहे हैं. पता कर रहे हैं कि कौन सा बम वो आरोपी लेकर आया था.TERROR ANGLE है या नहीं ये मैं अभी नहीं बता सकता पर ये कुछ भी हो सकता है. हम जांच कर रहे हैं. जब तक हम उसे पकड़ नहीं लेते , सवाल नहीं करते तब तक इन सवालों के जवाब नहीं दिए जा सकते. मैं अभी वो सारी चीजें नहीं बता सकता जो मैं जानता हूं.

7. राज्यपाल ने की घायलों से मुलाकात
राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने शुक्रवार रात वैदेही अस्पताल और ब्रुकफील्ड मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल पहुंचकर बेंगलुरु बम विस्फोट के पीड़ितों से मुलाकात की. इस ब्लास्ट में 9 लोगों के घायल होने की बात सामने आई है. इसके अलावा जो अन्य लोग बच गए हैं वह मानसिक तौर पर परेशान हैं, बेहद डरे हुए हैं. धमाके की चपेट में आई स्वर्णम्बा (49) नाम की महिला 40% जल गई है. अन्य घायलों में कैफे स्टाफ फारूक (19), अमेज़ॅन कंपनी का कर्मचारी दीपांशु (23), मोहन (41), नागश्री (35), मोमी (30), बलराम कृष्णन (31), नव्या (5), श्रीनिवास (67) शामिल हैं. कैफे में धमाके वाली जगह से बैटरी, जला हुआ बैग और कुछ आईडी कार्ड मिले हैं. राज्य के गृहमंत्री ने कहा कि धमाका कैफे के सीटिंग एरिया में हुआ था.

8. आरोपी की हुई पहचान, इस एक्ट में दर्ज हुआ मामला
बेंगलुरु कैफे में ब्लास्ट करने वाले आरोपी की पहचान कर ली गई है. उसकी उम्र 28 से 30 साल बताई जा रही है. सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि वो कैफे में आया और काउंटर से कूपन लिया. उसने रवा इडली का ऑर्डर दिया, लेकिन खाया नहीं. जिस बैग में बम था, उसे रखकर बाहर चला गया. विस्फोट के संबंध में बेंगलुरु के एचएएल पुलिस स्टेशन में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

9. विस्फोट के लिए हुआ था IED का इस्तेमाल
कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि वह जांच पूरी होने के बाद ही इस बारे में टिप्पणी कर सकते हैं. फॉरेंसिक डिपार्टमेंट ने मौके से साक्ष्य इकट्ठे किए हैं. धमाके में विस्फोट के लिए IED  का इस्तेमाल हुआ था, यह लैब टेस्ट के बाद सामने आया है. रामेश्वरम cafe में जो IED ब्लास्ट हुआ उसका CCTV देखने पर लगता है की IED की इंटेस्टी ज्यादा रही है यानी की Explosive की मात्रा काफी ज्यादा थी अगर ये IED कैफे के अंदर रखा गया होता तो नुकसान काफी ज्यादा होता.

10. साल 2024 में भी हुआ IED ब्लास्ट
28 दिसंबर 2014 को बंगलोर के चर्च स्ट्रीट रोड पर Coconut Grove रेस्टोरेंट के बाहर IED ब्लास्ट हुआ था, एक महिला की मौत हुई थी. Rameshwaram cafe के बाहर जो धमाका हुआ ठीक उसी तरह का IED ब्लास्ट लग रहा है. हालांकि रामेश्वरम cafe में जो IED ब्लास्ट हुआ उसका CCTV देखने पर लगता है की IED की इंटेस्टी ज्यादा रही है यानी की Explosive की मात्रा काफी ज्यादा थी अगर ये IED कैफे के अंदर रखा गया होता तो नुकसान काफी ज्यादा होता. 

11. प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस पर साधा निशाना
केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस विस्फोट के बाद कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि,  CONGRESS की तुष्टिकरण की राजनीति के कारण ऐसी चीजें हो रही हैं. ये घटना उनकी तुष्टीकरण के कारण हुई है. हम इसकी निंदा करते हैं.