29 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeSpiritualityRamlala's statue: प्राण प्रतिष्ठा से पहले रामलला की खुली आंखों वाली मूर्ति...

Ramlala’s statue: प्राण प्रतिष्ठा से पहले रामलला की खुली आंखों वाली मूर्ति की तस्वीर वायरल, मुख्य पुजारी ने की जांच की मांग, कही ये बात…

75 / 100

Picture of Ramlala’s statue with open eyes before consecration goes viral.

Ramlala’s statue: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले खुली आंखों वाली मूर्ति की तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है. इस पर राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने नाराजगी जताई है और कहा कि ऐसा स्वरूप मिल नहीं सकता अगर ऐसा हुआ है तो उसकी जांच होगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा तक भगवान के नेत्र नहीं खुलेंगे।

Ramlalas statue
Ramlala's statue: प्राण प्रतिष्ठा से पहले रामलला की खुली आंखों वाली मूर्ति की तस्वीर वायरल, मुख्य पुजारी ने की जांच की मांग, कही ये बात… 2

Ramlala’s statue: 22 जनवरी को होने वाली प्राण प्रतिष्ठा को लेकर सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी कर दी गई है. इस बीच रामलला की प्रतिमा की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. पहले रामलला की आंखों पर पट्टी बंधी हुई तस्वीरें सामने आईं, लेकिन उसके बाद जो तस्वीर वायरल हो रही है उसमें प्रतिमा की आंखों पर पट्टी नहीं बंधी है. इसे लेकर जांच की मांग की जा रही है। असाधारण उपलब्धि हासिल करने वाले बच्चों को किया जाएगा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित।

Ramlala’s statue: श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा, “प्राण प्रतिष्ठा पूरी होने से पहले भगवान राम की मूर्ति की आंखें नहीं खोली जा सकतीं. जिस मूर्ति में भगवान राम की आंखें दिखाई दे रही है, वह असली मूर्ति नहीं है. अगर आंखें देखी जा सकती हैं तो आंखें किसने दिखाईं और मूर्ति की तस्वीरें कैसे वायरल हो रही हैं, इसकी जांच होनी चाहिए.”।

Ramlala’s statue: राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा, “जहां नई मूर्ति है वहीं प्राण प्रतिष्ठा के नियम हो रहे हैं. अभी शरीर को कपड़े से ढक दिया गया है, जो आंख खुली हुई मूर्ति दिखाई गई वो सही नहीं है. प्राण प्रतिष्ठा से पहले नेत्र नहीं खुलेंगे. अगर ऐसी तस्वीर आ रही है तो इसकी जांच होगी कि ऐसा किसने किया है.”।

यह भी पढ़े-  शहर की आध्यात्मिक यात्रा ने आधुनिक कनेक्टिविटी के साथ उड़ान भरी।