20.7 C
New Delhi
Tuesday, March 5, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Home'India' Alliance: 'इंडिया' अलायंस से पीएम मोदी को लगता हैं डर, इसलिए...

‘India’ Alliance: ‘इंडिया’ अलायंस से पीएम मोदी को लगता हैं डर, इसलिए लगातार हो रही हैं रेड-आतिशी।

PM Modi is afraid of ‘India’ Alliance, that is why raids are being conducted continuously.

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘इंडिया’ अलायंस से डर लगता है, अलायंस के नेताओं पर लगातार होते रेड इसी डर का परिणाम-आतिशी
  • ‘इंडिया’ अलायंस के सारे दल एक साथ रहेंगे,जितनी मर्ज़ी सीबीआई-ईडी की रेड होती रहे ‘इंडिया’ एलायंस पीएम मोदी की हराकर रहेगी-आतिशी
  • 2024 लोकसभा चुनाव में भाजपा हारेगी और ‘इंडिया’ जीतेगा, मोदी जी कितनी भी कोशिश कर लें, हम डरने वाले नहीं हैं-आतिशी
  • 2024 के चुनाव में भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हारना तय, बौखलाहट में ‘इंडिया’ अलायंस के नेताओं को डराने के लिए उनके पीछे सीबीआई-ईडी को लगाया-आतिशी
  • मोदी जी की बौखलाहट उनका डर दिखा रही है, तभी पिछले 5 दिनों में ‘इंडिया’ अलायंस के 8 घटक दलों और अपने ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाले 20 वरिष्ठ पत्रकारों पर रेड करवाई-आतिशी
  • हार के डर से हर हथकंडे का इस्तेमाल कर रहे प्रधानमंत्री, अपनी सारी एजेंसियों का इस्तेमाल कर ‘इंडिया’ अलायंस को डराने-धमकाने का कर रहे है प्रयास-आतिशी
  • सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, शरद पवार, हेमंत सोरेन, एम.के.स्टालिन, संजय सिंह आदि जैसे ‘इंडिया’ अलायंस के नेताओं पर रेड-करवाई इसी डर का नतीजा-आतिशी
  • एक तरफ़ ‘इंडिया’ अलायंस से देशभर की पार्टियाँ जुड़ती रही तो दूसरी तरफ़ इन सभी पार्टियों के नेताओं पर एक के बाद एक करवाई जा रही है ईडी,सीबीआई, इनकम टैक्स की रेड-आतिशी
  • पिछले एक हफ़्ते में और भी ज़्यादा बढ़ी मोदी जी की बौख़लाहट,अब हर ऐसे व्यक्ति को चुप करने का प्रयास किया जा रहा है जो मोदी जी और उनकी सरकार के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाता है-आतिशी
  • इंडिया अलायंस और आम आदमी पार्टी मोदी जी की सीबीआई-ईडी की धमकियों से डरने वाली नहीं है, वो कितने रेड-गिरफ़्तारी करवा ले पर आने वाले चुनाव ज़रूर हारेंगे-आतिशी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘इंडिया’ अलायंस से डर लगता है, अलायंस के नेताओं पर लगातार होते रेड इसी डर का परिणाम है। आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता व दिल्ली कैबिनेट मंत्री आतिशी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ़्रेस के दौरान ये बातें कही। उन्होंने कहा कि, 2024 के चुनाव में भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हारना तय है। इसी बौखलाहट में ‘इंडिया’ अलायंस के नेताओं को डराने के लिए उनके पीछे सीबीआई-ईडी को लगाया गया है। लेकिन ‘इंडिया’ अलायंस के सारे दल एक साथ रहेंगे,जितनी मर्ज़ी सीबीआई-ईडी की रेड होती रहे ‘इंडिया’ अलायंस पीएम मोदी की हराकर रहेगी। 2024 लोकसभा चुनाव में भाजपा हारेगी और ‘इंडिया’ जीतेगा, मोदी जी कितनी भी कोशिश कर लें, हम डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि, मोदी जी की बौखलाहट उनका डर दिखा रही है, तभी पिछले 5 दिनों में उन्होंने ‘इंडिया’ अलायंस के 8 घटक दलों के नेताओं और अपने ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाले 20 वरिष्ठ पत्रकारों पर रेड करवाई। प्रधानमंत्री मोदी हार के डर से हर हथकंडे का इस्तेमाल कर रहे
है, इंडिया’ अलायंस को डराने-धमकाने के लिए अपनी सारी एजेंसियों का इस्तेमाल कर रहे है। सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, शरद पवार, हेमंत सोरेन, एम.के.स्टालिन, संजय सिंह आदि जैसे ‘इंडिया’ अलायंस के नेताओं पर रेड इसी डर का नतीजा है। लेकिन मैं बताना चाहूँगी कि, इंडिया अलायंस और आम आदमी पार्टी मोदी जी की सीबीआई-ईडी की धमकियों से डरने वाली नहीं है, वो कितने रेड-गिरफ़्तारी करवा ले पर आने वाले चुनाव ज़रूर हारेंगे

आतिशी ने साझा करते हुए कहा कि, दो दिन पहले आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह जी के यहाँ ईडी की रेड हुई जो 8 घंटे तक चली। संजय सिंह जी के 4 कमरे के घर में ईडी ने कोना-कोना छाना। लेकिन उनको भ्रष्टाचार का एक रुपया तक नहीं मिला। लेकिन फिर भी मोदी जी और भाजपा की ईडी ने संजय सिंह को गिरफ़्तार कर लिया।

उन्होंने कहा कि, आज ये समझने की ज़रूरत है कि संजय सिंह जी के यहाँ रेड क्यों हुई? उन्हें गिरफ़्तार क्यों किया गया। ये रेड सिर्फ़ संजय सिंह के घर पर नहीं बल्कि जो भी मोदी जी के विरोध में बोलता है, जो पार्टियाँ मोदी जी के विपक्ष में खड़ी होती है, उनके भ्रष्टाचार को उजागर करती है उनके लिए है, मोदी जी ने उन सभी के पीछे ईडी-सीबीआई को छोड़ रखा है।

आतिशी ने कहा कि, जबसे विपक्ष की सारी पार्टियाँ एकत्र होना शुरू हुई, ‘इंडिया’ अलाइंस बनना शुरू हुआ। तब से हम एक पैटर्न को देख सकते है कि एक तरफ़ देश की सभी पार्टियाँ साथ आ रही है, ‘इंडिया’ अलाइंस बन रहा है तो दूसरी तरफ़ इन सारी पार्टियों के नेताओं पर एक के बाद एक ईडी,सीबीआई, इनकम टैक्स की रेड हो रही है। ये सब सिर्फ़ इसलिए हो रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ये समझ आ गया है कि वो आने वाला लोकसभा चुनाव हारने वाले है। इसी बौख़लाहट में प्रधानमंत्री हर हथकंडे का इस्तेमाल कर रहे है, अपनी सारी एजेंसियों का इस्तेमाल कर रहे है और किसी भी तरह से ‘इंडिया’ अलायंस को चुप करने का, डराने का प्रयास कर रहे है।

क्या रहा इंडिया अलायंस के नेताओं को डराने-धमकाने का प्रधानमंत्री मोदी व भाजपा का पैटर्न

आतिशी ने साझा करते हुए कहा कि, 5 अप्रैल को ‘इंडिया’ अलाइंस के एक घटक दल डीएमके के नेता एम.के.स्टालिन, उनके पार्टी के नेता सेंथिल बालाजी के घर इनकम टैक्स की रेड हुई।

16 जुलाई को समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव जी के घर सीबीआई की रेड होती है।

20 जुलाई को शिव सेना(उद्धव ठाकरे) दल के सुजीत पाटेकर के घर और उनसे जुड़े कई लोकेशन पर ईडी की रेड होती है और उन्हें गिरफ़्तार कर लिया जाता है।

21 जुलाई को कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी.चिदंबरम जी के घर, दफ़्तर पर सीबीआई की रेड होती है।

2 अगस्त को सोनिया गांधी और राहुल गांधी से जुड़े मामलों पर ईडी की रेड होती है।

24 अगस्त को शरद पवार, ‘इंडिया’ अलाइंस के एक और घटक दल के नेता के घर ईडी की रेड होती है।

26 सितंबर को तृणमूल कांग्रेस की नेता, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और ‘इंडिया’ अलाइंस की मुखर नेता ममता बनर्जी के यहाँ ईडी की रेड होती है।

28 सितंबर को हेमंत सोरेन, झारखंड के मुख्यमंत्री और ‘इंडिया’ अलाइंस के दल झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता के यहाँ ईडी की रेड होती है।

जिस दिन झारखंड मुक्ति मोर्चा के राज्यसभा सांसद दिल्ली सर्विसेज़ बिल के ख़िलाफ़ वोट करते है, उसके अगले ही दिन उनके घर ईडी की रेड हो जाती है।

आतिशी ने कहा कि, ये पैटर्न दिखाता है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को इंडिया अलाइंस से डर लगता है। उन्हें पता है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में वो इंडिया अलाइंस से हारने वाले है। मोदी जी की ये बौखलाहट पिछले एक हफ़्ते में और भी ज़्यादा बढ़ गई है। अब वो हर ऐसे व्यक्ति को चुप करने का प्रयास कर रहे है जो मोदी जी और उनकी सरकार के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाता है।

उन्होंने कहा कि, चार दिन पहले हमने देखा कि इस देश के वरिष्ठ पत्रकारों के घर रेड की गई, उनको डिटेन किया गया, लैपटॉप-फ़ोन सीज कर लिए गए। क्योंकि वो मोदी जी की सरकार में बढ़ रही बेरोज़गारी-महंगाई पर सवाल उठते है। हमने देखा कि टीएमसी की मुखर नेता महुआ मोइत्रा जी, कृषि भवन जाती है, वहाँ पर मोदी जी की नीतियों पर आवाज़ उठाती है, कृषि मंत्री से मिलने की कोशिश करती है तो दिल्ली पुलिस बर्बरता से उन्हें वहाँ से घसीट कर लेकर जाती है और डिटेन कर लेती है।

उसके बाद हमने देखा संजय सिंह जी के यहाँ रेड होती है, भ्रष्टाचार का एक रुपया नहीं मिलता लेकिन फिर भी उन्हें गिरफ़्तार कर लिया जाता है।

उसके अगले दिन 5 अक्टूबर को कांग्रेस के नेता आर.एम.मंजूनाथ गौड़ा, के घर और उनसे जुड़े दफ़्तरों में ईडी की रेड होती है। 5 अक्टूबर को ही तृणमूल कांग्रेस के नेता रथींन घोष के घर और उनसे जुड़े दफ़्तरों में ईडी की रेड होती है।

5 अक्टूबर को ही बीआरएस के नेता मगनाती गोपीनाथ और डीएमके के नेता एस.जगतरक्षण के घर और उनसे जुड़े दफ़्तरों पर इनकम टैक्स की रेड होती है। पिछले 5 दिनों में इंडिया अलाइंस के घटक दलों के 8 से ज़्यादा जगहों पर रेड हुई, 20 से ज़्यादा वरिष्ठ पत्रकारों पर रेड हुई।

आतिशी ने कहा कि, ये सब प्रधानमंत्री मोदी जी के डर और बौखलाहट को दिखा रहा है कि वो किसी भी तरह से इंडिया अलाइंस के घटक दलों और उनके नेताओं को चुप करवाना चाहते है, डराना चाहते है।

उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी एजेंसियाँ ये नीति पिछले कई सालों से अपना रहे है। वो पहले विपक्षी नेताओं पर ईडी-सीबीआई की रेड करते है, फिर उनको भाजपा में शामिल होने का ऑफर देते है कि भाजपा में आकर हमारी वाशिंग मशीन में धूल जाओ तो सीबीआई-ईडी के सारे केस ख़त्म हो जाएँगे।

भाजपा के वाशिंग मशीन में अजीत पवार धूल गए जिनपर पहले सीबीआई-ईडी के केस चल रहे थे वो भाजपा में शामिल हो गये तो सिंचाई घोटाले के सारे केस ख़त्म हो गए। टीएमसी के सुबेंधु अधिकारी जिनके शारदा घोटाले पर भाजपा ने पश्चिम बंगाल में 2 चुनाव लड़ लिए, जब वो भाजपा में शामिल हो गए तो उनके भी सारे केस भाजपा की वाशिंग मशीन में धूल गये। ऐसे ही नारायण राणे, हेमंत विश्वशर्मा,भावना गावड़ी, बी.एस.येदुरप्पा आदि की लंबी लिस्ट है जो भाजपा की वाशिंग मशीन में धूल गये और उनके सारे केस ख़त्म हो जाते है।

आतिशी ने कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी जी को बताना चाहता हूँ कि इंडिया एलायंस और आम आदमी पार्टी आपकी सीबीआई-ईडी की धमकियों से डरने वाली नहीं है, आप चाहे कितने रेड करवा लीजिए, कितने नेताओं को गिरफ़्तार कर लीजिए लेकिन आने वाला लोकसभा चुनाव हारने वाले है। इंडिया अलाइंस आपके विरोध में देश के हर हिस्से में चुनाव लड़ेगी और आपको हरायेगी।