Tuesday, April 16, 2024
28.1 C
New Delhi

Rozgar.com

27.1 C
New Delhi
Tuesday, April 16, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesChhattisgarhधर्मांतरण कराने लाउड स्पीकर पर हिंदू देवी-देवताओं का कर रहा था अपमान,...

धर्मांतरण कराने लाउड स्पीकर पर हिंदू देवी-देवताओं का कर रहा था अपमान, पुलिस ने पादरी को दबोचा

जांजगीर चांपा.

जांजगीर चांपा जिले के नगर पालिका वार्ड नंबर 25 के अमरैया पारा में बामिया पूर्ति के द्वारा हिंदू धर्म के देवी देवता को अपमानित कर हिंदू धर्म के भाई-बहनों को अपने ईसाई धर्म में शामिल होने के लिए माइक से प्रचार-प्रसार किया जा रहा था। इसकी शिकायत वार्ड नंबर 25 के रहने वाले ग्राम पंचायत सचिव शिव कुमार साहू ने सिटी कोतवाली थाने में की। शिकायत के  बाद पुलिस ने पास्टर बामिया पूर्ति को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा दिया। वहीं, बैनर-पोस्टर, पुस्तकें, पानी और सरसों तेल की बोतल को जब्त किया गया है।

वार्ड नंबर 25 निवासी शिव कुमार साहू ने बताया कि वह सुबह अपने घर में था। बामिया पूर्ति नाम का व्यक्ति पास्टर पादरी घर में टेंट और लाउडस्पीकर लगाए हुए था।  ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार करते हुए 100-150 संख्या में हिंदू धर्म के भाई-बहनों को एकत्रित कर ईसाई धर्म को अपनाने की बात कह रहा था। वहीं, हिंदू धर्म के देवी-देवता को छोड़कर ईसाई धर्म ग्रहण कर प्रचार-प्रसार करने की बात माइक से कह रहा था। वह हिंदू देवी-देवताओं को अपमानित कर रहा था। इसके बाद हिंदू समुदाय के लोगों ने इसका विरोध किया।
विरोध करने पर बामिया पूर्ति घर से बाहर आ गया और लोगों के साथ धक्का-मुक्की करने लगा। वह खुद ही कुर्सियों व घर में रखे सामान को तोड़ने की धमकी देने लगा, ताकि उसके खिलाफ कोई मामला न दर्ज हो। लोगों ने इसकी शिकायत कोतवाली थाने में की। तहरीर के आधार पर पुलिस ने बामिया पूर्ति को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद मसीही समाज के लोग बड़ी संख्या में सिटी कोतवाली पहुंचे। उन्होंने पास्टर बामिया पूर्ति पर लगाए गए आरोपों को झूठा होने का दावा किया। थाना प्रभारी प्रवीण कुमार द्विवेदी ने कहा कि शिव कुमार साहू ने शिकायत दर्ज कराई की वार्ड नंबर 25 अमरैया पारा का रहने वाला बामिया पूर्ति हिंदू देवी-देवताओं का अपमान कर रहे थे। साथ ही धर्मांतरण करा रहे थे। जिस पर आरोपी बामिया पूर्ति के खिलाफ धारा 295 A, छत्तीसगढ़ स्वतंत्रता अधिनियम की धारा 4 के तहत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।