27.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomePunjab: पंजाब में "आयुष्मान योजना" के लाभ के लिए सरकार बना रहीं...

Punjab: पंजाब में “आयुष्मान योजना” के लाभ के लिए सरकार बना रहीं नयी योजना।

Punjab: There is important news for those who take advantage of “Ayushman Yojana” in Punjab.

Punjab: पंजाब में “आयुष्मान योजना” का लाभ लेने वालों के लिए अहम खबर है। दरअसल, सरकार के प्रमुख प्रोग्राम ‘आयुष्मान भारत मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना’ को जमीनी स्तर पर लागू करने के उद्देश्य से पंजाब के स्वास्थ्य और परिवार भलाई मंत्री डा. बलबीर सिंह ने इस बीमा योजना के संबंध में लोगों को जागरूक करने के अलावा सभी योग्य लाभपात्रियों को योजना में कवर करने के लिए शुक्रवार को 7 ‘इंफॉर्मेशन एजुकेशन और कम्युनिकेशन’ (आई.ई.सी.) वैनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह योजना प्रति परिवार वार्षिक  5 लाख रुपए का बीमा कवर प्रदान करती है।

Screenshot 2023 07 29 at 12.19.24 PM
Punjab: पंजाब में "आयुष्मान योजना" के लाभ के लिए सरकार बना रहीं नयी योजना। 2

Punjab: इस मौंके पर डॉ बलबीर सिंह ने एक प्रेस वार्ता बुलाई जिसमे उन्होंने वैन को रवाना करते हुए कहा कि इस जागरूकता अभियान का उद्देश्य इसे ग्रामीण लोगों तक पहुंचाना है ताकि योग्य व्यक्ति इस फ्लैगशिप स्कीम का लाभ ले सकें। उन्होंने कहा कि पंजाब की 70 प्रतिशत योग्य आबादी को पहले ही इस स्कीम में कवर किया जा चुका है और इस जागरूकता अभियान से पंजाब सरकार 100 प्रतिशत आबादी को कवर करेगी। बता दें कि पंजाब में इस योजना में 44 लाख परिवार आते हैं और राज्य के 900 से अधिक सरकारी और प्राइवेट अस्पताल सूचीबद्ध हैं जिनमें इस योजना में इलाज के लिए 1579 ट्रीटमैंट पैकेज उपलब्ध हैं। इसके अलावा इस योजना के लाभपात्री पूरे भारत में कहीं भी सूचीबद्ध अस्पतालों में इलाज की सुविधाएं ले सकते हैं।

Punjab: डा. बलबीर सिंह ने बताया कि मौजूदा समय में स्मार्ट राशन कार्ड धारक, जे-फार्म धारक किसान, रजिस्टर्ड मजदूर, छोटे व्यापारी, मान्यता प्राप्त पत्रकार और सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (एस.ई.सी.सी.) 2011 में सूचीबद्ध परिवार इस योजना के अंतर्गत कवर हैं। रजिस्टर्ड कुल 44 लाख लाभपात्री परिवारों में से लगभग 16.65 लाख परिवार एस.ई.सी.सी. अधीन आते हैं जिसका खर्चा केंद्र और राज्य सरकार 60:40 के अनुपात में उठाती हैं जबकि बाकी 27.35 लाख परिवारों का सारा खर्चा राज्य सरकार वहन करती है। पिछले 15 महीनों में मार्च 2022 से 730 करोड़ रुपए की लागत से लगभग 5.80 लाख ट्रीटमैंट पैकेज प्रदान किए गए हैं।जागरूकता वैनें सभी जिलों में स्कीम में लोगों को रजिस्टर करवाने के लिए लामबंद करेंगी। इसके साथ ही मौके पर ई-कार्ड बनाने की सुविधा भी मुहैया करवाई जाएगी। मंत्री ने बैंक ऑफ बड़ौदा का धन्यवाद किया जिनके द्वारा विभाग को 2 वैनों के लिए सेवाएं प्रदान करके अभियान में योगदान दिया गया।

यह भी पढ़ें :Tori Kelly Health Update: डिनर करते समय अचानक गिर पड़ी थीं सिंगर टोरी केली।