Tuesday, May 28, 2024
36.1 C
New Delhi

Rozgar.com

36.1 C
New Delhi
Tuesday, May 28, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesRajasthanRajasthan: चुनाव में सहयोग नहीं करने पर हो रहे तबादले? पूर्व MLA...

Rajasthan: चुनाव में सहयोग नहीं करने पर हो रहे तबादले? पूर्व MLA का CM शर्मा को लिखा पत्र वायरल, जानें मामला

जयपुर.

राजस्थान सरकार की ओर से हाल ही में एक के बाद एक तबादले की सूची जारी की गई। भाजपा सरकार बनने के बाद यह अब तक का सबसे बड़ा प्रशासनिक फेर बदल था। अब इन तबादलों पर सवाल खड़े हो रहे हैं, ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि, भाजपा के पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी की ओर से मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा को भेजी गई एक सूची सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस सूची में पुलिस अधिकारियों के नाम देकर तबादला करने की बात कही गई हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि तबादलों को लेकर जो करण दिया गया है वह हैरान करने वाला है।

पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी की ओर से मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा को लिखे गए पत्र में अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा विधानसभा चुनाव में असहयोग करने पर तबादले की बात कही गई हैं। इसमें झुंझुनू जिले के सात पुलिस अधिकारियों के नाम दिए गए हैं। इनमें उदयपुरवादी थाने के सीआई मांगीलाल मीणा, पुलिस चौकी पचलंगी के एएसआई लक्ष्मण सिंह और गुढ़ागौड़जी थाने के सीआई हरिनारायण मीणा, एसआई महेंद्र यादव, विजेंद्र सिंह सुरेश मीणा और कैलाश सिंह के नाम हैं। इनके अलावा में स्वास्थ्य विभाग के भी 43 अधिकारियों और कर्मचारियों के भी नाम हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ पत्र
पूर्व विधायक चौधरी की ओर से जारी किया गया यह पत्र सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। कहा जा रहा है कि उदयपुरवाटी विधानसभा सीट पर चुनाव के दौरान जिन अधिकारी और कर्मचारियों ने सहयोग नहीं किया उनका तबादला इस प्रकार कराया जा रहा है। वहीं, लोग और विपक्षी पार्टियों के नेता सवाल पूछ रहे हैं कि पूर्व विधायक चौधरी किस तरह के सहयोग की बात कर रहे हैं।

इन लोगों की मानसिकता घटिया
तबादले के लिए जारी सूची को लेकर  उदयपुरवाटी से कांग्रेस विधायक भगवाना राम सैनी ने भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने कहा- देश लोकतंत्र से चलता है, कोई किसी को भी वोट दे सकता है और किसी का भी समर्थक हो सकता है। लेकिन, भाजपा सत्ता का दुरुपयोग कर कर्मचारियों को प्रताड़ित कर रही है, यह ठीक नही है। लिस्ट देखकर लगता है कि जनता का उन्हें हराने का फैसला बिल्कुल सही था। इन लोगों की मानसिकता ही घटिया है। 

हार का गुस्सा निकाल रहे
झुंझुनू कांग्रेस जिला अध्यक्ष दिनेश सुंडा ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही लिस्ट देखी है। लिस्ट देखकर लग रहा है कि हार का गुस्सा कर्मचारियों को प्रताड़ित करके निकाला जा रहा है, जो न्याय संगत नहीं है। इस तरह की चीजें नहीं होनी चाहिए।

शुभकरण चौधरी का विवादों से पुराना नाता
पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी का विवादों से पुराना नाता है। 2018 के विधानसभा चुनाव में चौधरी का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे भाजपा कार्यकर्ताओं को फर्जी वोट डालने का समय बता रहे थे। 2023 के विधानसभा चुनाव में चौधरी ने एक सभा में कहा था कि जिस गांव से जीतने वोट आएंगे उस गांव को उतना ही पानी मिलेगा। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।