Friday, May 24, 2024
31.8 C
New Delhi

Rozgar.com

31.8 C
New Delhi
Friday, May 24, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomePoliticsउनके आत्मविश्वास में कमी ही दिखा रहा है कि अमेठी अब कांग्रेस...

उनके आत्मविश्वास में कमी ही दिखा रहा है कि अमेठी अब कांग्रेस का गढ़ नहीं रही, चुनाव लड़ने पर चुनौती : स्मृति ईरानी

नई दिल्ली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी के बारे में अटकलें लग रही हैं कि वे आगामी लोकसभा चुनाव दो सीटों से लड़ सकते हैं। केरल की वायनाड के अलावा वे अपनी पुरानी लोकसभा सीट अमेठी से भी मैदान में उतर सकते हैं। इसके अलावा, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी रायबरेली से अपना पहला चुनाव लड़ सकती हैं। अमेठी से राहुल गांधी के लड़ने की अटकलों पर वहां से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी की प्रतिक्रिया सामने आई है।

स्मृति ईरानी ने कहा है कि जो कहते हैं अमेठी गांधी परिवार का गढ़ है, वे अपनी ओर से एक कैंडिडेट देने में इतना समय क्यों लगा रहे हैं। उनके आत्मविश्वास में कमी ही दिखा रहा है कि अमेठी अब कांग्रेस का गढ़ नहीं रही है। अगर वे दो सीटों से लड़ते हैं तो अमेठी से अपनी हार को चुनाव होने से पहले ही घोषित कर रहे हैं। अगर उनके नेता में दम है तो बिना मायावती और अखिलेश के सहारे के अकेले सिर्फ अमेठी से चुनाव लड़कर क्यों नहीं दिखाते। वहीं दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

यूपी की अमेठी लोकसभा सीट दशकों से गांधी परिवार का गढ़ रही है। इसी तरह रायबरेली भी गांधी परिवार के खाते में जाती रही है। खुद राहुल गांधी अमेठी से साल 2004 से 2019 के बीच तीन बार लगातार सांसद रहे। हालांकि, 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें बीजेपी की स्मृति ईरानी से हार का सामना करना पड़ा। स्मृति ने पिछले लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी को अमेठी से 50 हजार वोटों से हराया था। स्मृति ईरानी को जहां 468,514 वोट मिले थे तो राहुल गांधी को 413,394 वोट मिले थे। इसी तरह जीत का अंतर लगभग 55 हजार था।

चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कुछ दिनों में कर सकता है। बीजेपी ने अपने 195 उम्मीदवारों की पहली सूची पिछले दिनों जारी कर दी है, जिसमें वाराणसी से पीएम मोदी, गांधीनगर से अमित शाह समेत कई दिग्गजों के नाम हैं। वहीं, कांग्रेस की गुरुवार को केंद्रीय चुनाव समिति की अहम बैठक है। इस बैठक में लोकसभा चुनाव के उम्मीदवारों के नाम फाइनल कर दिए जाएंगे। बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी समेत तमाम प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि इस लिस्ट में राहुल, प्रियंका समेत कई नेताओं के नाम शामिल हो सकते हैं और सूची एक दो दिन में जारी की जा सकती है।