Wednesday, July 17, 2024
32.1 C
New Delhi

Rozgar.com

32.1 C
New Delhi
Wednesday, July 17, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeBusinessByju's, के हजारो कर्मचारियों के वेतन में हो रही देरी, 10 मार्च...

Byju’s, के हजारो कर्मचारियों के वेतन में हो रही देरी, 10 मार्च की डेडलाइन पर भी लग रहा मुश्किल

मुंबई
एडटेक क्षेत्र की प्रमुख कंपनी Byju’s की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। कंपनी के संस्थापक बायजू रवींद्रन ने  कहा कि कंपनी अपने कर्मचारियों को वेतन नहीं दे पा रही है।कंपनी बायजू ने अपने 20 हजार से ज्यादा कर्मचारियों को फरवरी का वेतन जारी नहीं किया है। कंपनी वेतन देने की 10 मार्च की समय सीमा चूक सकती है। राइट्स इश्यू से जुटाया गया इसका फंड फंसा हुआ है।

उन्होंने जानकारी दी कि यह स्थिति निवेशकों के साथ कानूनी विवाद के चलते राइट निर्गम की राशि अलग खाते में बंद होने के कारण पैदा हुई है।

रवींद्रन ने Byju’s कर्मचारियों को लिखा पत्र

रवींद्रन ने कर्मचारियों को एक पत्र के जरिए कहा कि एक महीने पहले जारी किया गया राइट निर्गम सफलतापूर्वक पूरा हो गया है।

उन्होंने कहा, ”इसे एक सुखद घटनाक्रम माना जा रहा था। आखिरकार, अब हमारे पास अपनी अल्पकालिक जरूरतों को पूरा करने और देनदारियों को चुकाने के लिए धन था। हालांकि, मुझे आपको यह बताते हुए खेद है कि हम अभी भी आपका वेतन भुगतान करने में असमर्थ है।” न्यूज एजेंसी पीटीआई-भाषा ने इस पत्र को देखा है।

इस पत्र में रवींद्रन ने कर्मचारियों से कहा कि कंपनी अभी भी यह कोशिश कर रही है कि सभी की सैलरी का भुगतान 10 मार्च तक कर दिया जाए।

रवींद्रन ने कहा, ”हम भुगतान उसी समय कर सकेंगे, जब हमें कानून के मुताबिक ऐसा करने की अनुमति मिलेगी।”

रवींद्रन ने आगे कहा कि पिछले महीने कंपनी को पूंजी की कमी के कारण चुनौतियों का सामना करना पड़ा था, और ”अब हम धन होने के बावजूद देरी का सामना कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ”दुर्भाग्य से, कुछ चुनिंदा लोग (हमारे 150 से अधिक निवेशकों में चार) निर्मम रूप से गिर गए हैं, जिनकी वजह से हम आपकी मेहनत की कमाई का भुगतान करने के लिए जुटाए गए धन का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि राइट निर्गम के माध्यम से जुटाई गई राशि इस समय एक अलग खाते में बंद है।

बता दें कि फरवरी महीने की शुरुआत में, एडटेक फर्म के संस्थापक एवं मुख्य कार्या​धिकारी बैजू रवींद्रन ने कहा था कि कंपनी ने पिछले दो दिनों के दौरान कर्मचारियों को जनवरी का सभी बकाया वेतन दे दिया है। इसकी जानकारी 4 फरवरी को भी भेजे गए अन्य पत्र में कर्मचारियों को दी गई थी।

NCLT का निर्देश

राष्ट्रीय कंपनी वि​धि पंचाट (NCLT) ने 27 फरवरी के अपने आदेश में बैजूस को निर्देश दिया कि उसे राइट्स इश्यू से जो पैसा मिला है, उसे एस्क्रो खाते में रखे।

सूत्रों का कहना है कि इस पैसे को तब तक नहीं निकाला जा सकेगा, जब तक ​कि मामला सुलझ नहीं जाता। यह कंपनी के चार निवेशकों द्वारा बैजूस के खिलाफ दायर उत्पीड़न और कुप्रबंधन संबं​धित याचिका का हिस्सा है।

इस मामले से अवगत एक व्य​क्ति ने कहा, ‘राइट्स इश्यू के जरिये हासिल होने वाली रकम से कंपनी को अगले कुछ महीनों तक परिचालन जारी रखने में मदद मिल सकती ​थी। लेकिन अब मामला निपटने तक इस पैसे को नहीं निकाला जा सकेगा।’