Tuesday, April 16, 2024
28.1 C
New Delhi

Rozgar.com

29 C
New Delhi
Tuesday, April 16, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeWorld Newsवर्ल्‍ड बैंक ने कहा वित्त वर्ष 2025 में भारत की अर्थव्‍यवस्‍था की...

वर्ल्‍ड बैंक ने कहा वित्त वर्ष 2025 में भारत की अर्थव्‍यवस्‍था की विकास दर 6.6 प्रतिशत रहेगी

नई दिल्ली

भारत की अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर वर्ल्‍ड बैंक (World Bank) ने अपना अनुमान लगाया है. वर्ल्‍ड बैंक ने भारत की अर्थव्‍यवस्‍था (GDP) को लेकर कहा है कि देश की जीडीपी की ग्रोथ तेज रहने वाली है. विश्व बैंक ने कहा है कि 2024 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.5 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान है. इससे पहले वर्ल्‍ड बैंक ने इस अवधि के लिए जीडीपी की ग्रोथ को 1.2 प्रतिशत कम बताया था, लेकिन अब संशोधित करके भारतीय अर्थव्यवस्‍था का ग्रोथ अनुमान 7.5 प्रतिशत कर दिया है.

वर्ल्‍ड बैंक ने अपने नए दक्षिण एशिया इकोनॉमी ग्रोथ को लेकर कहा कि कुल मिलाकर, 2024 में दक्षिण एशिया में ग्रोथ रेट 6.0 प्रतिशत मजबूत होने की उम्मीद है, जो मुख्य रूप से भारत में मजबूत ग्रोथ (Indian Economy), पाकिस्तान और श्रीलंका में रिकवरी से प्रेरित है. वर्ल्‍ड बैंक ने कहा कि वित्त वर्ष 2025 में भारत की अर्थव्‍यवस्‍था की विकास दर 6.6 प्रतिशत होने की उम्‍मीद है.

इन सेक्‍टर्स में रहेगी मजबूती
वर्ल्‍ड बैंक (World Bank) ने कहा कि वित्त वर्ष 2024 और वित्त वर्ष 2025 के बीच विकास में गिरावट का अनुमान पिछले वर्ष के दौरान ज्‍यादा निवेश में गिरावट को बताता है. इसमें आगे कहा गया कि सर्विस और इंडस्‍ट्री में बढ़ोतरी मजबूत रहने की उम्‍मीद है. वहीं मैन्‍युफैक्‍चर और रियल एस्‍टेट में भी ज्‍यादा तेजी देखने को मिलेगी. वर्ल्‍ड बैंक के रिपोर्ट के मुताबिक, 2024 के दौरान साउथ एशिया में ग्रोथ रेट 6 प्रतिशत के हिसाब से रहने वाला है.

महंगाई का दबाव होगा कम
वर्ल्‍ड बैंक ने चेतावनी दी है कि लगातार संरचनात्‍मक चुनौतियां विकास को कमजोर कर सकती हैं. इससे सेक्‍टर्स की क्षमता में बाधा आएगी. नौकरियों और अन्‍य फैक्‍टर्स पर प्रभाव पड़ेगा. वहीं वर्ल्‍ड बैंक ने कहा कि महंगाई (Inflation) का दबाव कम होने की उम्‍मीद है. वहीं राजकोषीय घाटा और सरकारी कर्ज में गिरावट का अनुमान है, जो केंद्र सरकार द्वारा मजबूत उत्‍पादन बढ़ोतरी के कारण संभव होगा.

5 अप्रैल को आरबीआई की MPC बैठक
गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) 5 अप्रैल को चालू वित्त वर्ष के लिए पहली मौद्रिक नीति का ऐलान करेगा. आरबीआई GDP ग्रोथ और रिटेल इन्‍फ्लेशन पर अपना अनुमान पेश करेगा. अधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2024 की तीसरी तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था 8.4% की दर से बढ़ी और वित्त वर्ष 2024 में 7.6% की दर से बढ़ने का अनुमान है.

दक्षिण एशियाई देशों के विकास दर के बारे में अनुमान

मंगलवार को वर्ल्ड बैंक ने दक्षिण एशिया विकास को लेकर अपडेट जारी किया है, जिसमें दक्षिण एशियाई देशों के विकास दर के बारे में अनुमान जताए गए हैं। रिपोर्ट की मानें तो, आने वाले दो सालों दक्षिण एशियाई क्षेत्र में सबसे अधिक तेजी से विकास होगा। वही अगले साल यानी साल 2025 में भी दक्षिण एशियाई देशों की कुल विकास दर 6.1 फीसदी रहने का अनुमान है।

क्या है रिपोर्ट में

वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट कही है कि भारत की विकास दर वित्त वर्ष 2023-24 में 7.5 फीसदी रहने का अनुमान है। वहीं मिड टर्म के बाद यह वापस 6.6 फीसदी पर आ सकती है। देश की विकास दर के लिए सबसे अहम फैक्टर्स सर्विस सेक्टर और औद्योगिक विकास होंगे।’

वहीं बांग्लादेश की विकास दर को लेकर रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्तीय वर्ष 2024-25 में बांग्लादेश में 5.7 प्रतिशत की विकास दर रहने की उम्मीद है।

पड़ोसी देशों की अर्थव्यवस्था में होगा सुधार

वहीं भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान और श्रीलंका जो इस समय वित्तीय संकट से परेशान हैं उनके लिए भी सुधार के संकेत रिपोर्ट में दिए गए हैं। वर्ल्ड बैंक के अनुमान के अनुसार, पाकिस्तान की विकास दर वित्तीय वर्ष 2024-25 में 2.3 फीसदी रह सकती है। वहीं श्रीलंका में साल 2025 में विकास दर 2.5 फीसदी रहेगी।