Tuesday, May 21, 2024
37.1 C
New Delhi

Rozgar.com

37.1 C
New Delhi
Tuesday, May 21, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img

अब UP में सात साल से कोई दंगा नहीं हुआ, इंडिया गठबंधन यूपी के बुलडोजर से घबराया हुआ- योगी

नई दिल्ली पूर्वी दिल्ली में सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पार्टी प्रत्याशी हर्ष मल्होत्रा के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया।...
HomeReligionशिव जी को महाशिवरात्रि पर यह 5 सामग्री अवश्य चढ़ाएं

शिव जी को महाशिवरात्रि पर यह 5 सामग्री अवश्य चढ़ाएं

 हिंदू पंचांग के अनुसार प्रत्येक वर्ष फाल्गुन मास की त्रियोदशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मानाया जाता है। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती का शुभ विवाह हुआ था। तब से यह पर्व महाशिवरात्रि के नाम से लोक प्रचलित हुआ और शिव भक्तों के लिए यह महापर्व बन गया। इस साल महाशिवरात्रि का पर्व 8 मार्च 2024 दिन शुक्रवार को है। इस दिन लोग भगवान  शिव की आराधना में लीन रहते हैं। महाशिवरात्रि का दिन भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए साल का सबसे श्रेष्ठ दिन माना जाता है। मान्यता है कि इस दिन सच्ची श्रद्धा से जो भी भक्त भोलेनाथ की वंदना करते हैं, भगवान शिव उनसे शीघ्र प्रसन्न होकर उनकी हर मनोकामना को पूर्ण कर देते हैं।

अगर आप महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की कृपा पाना चाहते हैं तो इस दिन शिवलिंग की पूजा करना सबसे उत्तम माना जाता है। इसी के साथ अगर आप महाशिवरात्रि वाले दिन शिवलिंग पर भालेनाथ की प्रिय चीजों को अर्पित करते हैं, तो आपकी सारी मनोकामनाएं महादेव पूर्ण कर देंगे। आइए जानते हैं पूजा पद्धति के अनुसार शिवलिंग पर क्या-क्या चढ़ाया जाता है।

    बेलपत्र- शास्त्रों में बेलपत्र के बिना शिवलिंग की पूजा करना अधूरा माना गया है। धार्मिक मान्यता है कि शिवलिंग पूजन के दौरान सारी सामग्री चढ़ाने के बाद अगर बेलपत्र नहीं चढ़ाया, तो इसकी पूजा का फल प्राप्त नहीं होता है। महाशिवरत्रि वाले दिन शिवलिंग पर बेलपत्र जरूर चढ़ाएं। ऐसा करने से महादेव की अनुकंपा आप पर बरसेगी।

    धतूरा- महाशिवरात्रि वाले दिन अगर आप शिवलिंग की पूजा करते हैं या जलाभिषेक करते हैं, तो भगवान शिव को धतूरा जरूर चढ़ाएं। शिवलिंग पूजन में धतूरा चढ़ाने से भोलेनाथ जल्दी प्रसन्न होते हैं। इस दिन धतूरा चढ़ाने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है और मन को शांति प्राप्त होती है।

    भस्म- पुराणों में बताया गया है कि भगवान शिव अपने शरीर पर भस्म लगाते हैं। उन्हें भस्म लगाना बहुत प्रिय है, अगर महाशिवरात्रि पर आप शिवलिंग की पूजा करते हैं, तो भगवान शिव की कृपा प्राप्त करने के लिए भस्म अवश्य चढ़ाएं।

    चंदन- शिवलिंग पूजन के दौरान भगवान शिव को चंदन के लेप से तिलक लगाने की परंपार है। जो लोग चंदन का तिलक शिवलिंग पर लगाते हैं। उनके घर सुख-समृद्धि सदैव बनी रहती है और महादेव की अनुकंपा बरसती है।

    गंगाजल- महाशिवरात्रि के दौरान शिवलिंग का जलाभिषेक करने के लिए गंगाजल का प्रयोग करें। मान्यता है कि ऐसा करने से भोलेनाथ सभी बिगड़े काम बना देते हैं। इस दिन गंगाजल से शिवलिंग का अभिषेक करना बेहद शुभ माना जाता है। अतः गंगाजल शिवलिंग पर चढ़ाने से मोक्ष की प्राप्ति होती है।

    शहद- पूजा पद्धति के अनुसार शिवलिंग पर शहद से अभिषेक करने या इसे चढ़ाने से धनवृद्धि होती है।

    घी– मान्यता है कि शिवलिंग पर गाय का घी चढ़ाने से वंश की वृद्धि होती है। महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर घी अर्पित करने से आपके परिवार में खुशहाली आएगी।

    शमी के पत्ते- शिवलिंग पर बेलपत्र की तरह ही शमी के पत्ते चढ़ाने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं। अगर आप शिवलिंग पूजन के दौरान शमी की पत्ती अर्पित करते हैं, तो आपके सारे कष्ट महादेव दूर कर देंगे।

    कनेर का फूल- भगवान शिव को कनेर का पुष्प अति प्रिय है। महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पूजन के दौरान कनेर का फूल जरूर अर्पित करें और महादेव का आशीर्वाद प्राप्त करें। मान्यता है कि इसे चढ़ाने से सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।