29 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

Advertisementspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeStatesDelhi NewsMai Bhi Kejariwal: केजरीवाल को समर्थन देने कड़ाके के ठंड में जुटी...

Mai Bhi Kejariwal: केजरीवाल को समर्थन देने कड़ाके के ठंड में जुटी लोगों की भीड़, हुआ जनसंवाद।

Crowd of people gathered in extreme cold to support Kejriwal, public dialogue took place.

कड़ाके की ठंड के बावजूद जनसंवाद में जुटी लोगों की भारी भीड़, सीएम केजरीवाल को दिया समर्थन ‘‘आप’’ ने बाबरपुर विधानसभा के 233 सुभाष मोहल्ला वार्ड में किया जन संवाद, कड़ाके की ठंड में भी अरविंद केजरीवाल के समर्थन में घर से निकले लोग जनसंवाद में जनता बोली, हम अरिंवद केजरीवाल के साथ हैं और सभी मिलकर इस षड़यंत्र के खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे- गोपाल राय पूरी दिल्ली से आवाज आ रही है कि भाजपा की केंद्र सरकार दिल्ली का काम रोकने और आम आदमी पार्टी को खत्म करने के लिए ज्यादती कर रही है- गोपाल राय जिस तरह से ‘‘आप’’ के नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है, उसे लेकर दिल्ली की जनता में आक्रोश है- गोपाल राय ‘‘मैं भी केजरीवाल’’ डोर-टू-डोर हस्ताक्षर अभियान के बाद चार जनवरी से चल रहा है आम आदमी पार्टी का जन संवाद अभियान भाजपा के पास अगर ईडी-सीबीआई है तो अरविंद केजरीवाल के पास जनता की मोहब्बत है- गोपाल राय आप इकलौती ऐसी पार्टी है, जिसके उपमुख्यमंत्री, राज्यसभा सांसद और स्वास्थ्य मंत्री जेल में है, लेकिन वो भाजपा के सामने न झुके, न रुके और न ही बिके- गोपाल राय

WhatsApp Image 2024 01 07 at 12.12.53 1
Mai Bhi Kejariwal: केजरीवाल को समर्थन देने कड़ाके के ठंड में जुटी लोगों की भीड़, हुआ जनसंवाद। 3

आम आदमी पार्टी द्वारा ‘‘मैं भी केजरीवाल’’ कैंपेन के तहत आयोजित हो रहे जन संवाद में सीएम अरविंद केजरीवाल के प्रति दिल्ली की जनता का प्यार और समर्थन बढ़ता जा रहा है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दिल्ली में कड़ाके की ठंड पड़ रही है, इसके बावजूद जनसंवाद में लोगों की भारी भीड़ जमा हो रही है और अपना आक्रोश व्यक्त कर रही है। आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय के नेतृत्व में शनिवार को बाबरपुर विधानसभा के 233 सुभाष मोहल्ला वार्ड में जनसंवाद किया गया। यहां भी कड़ाके की ठंड के बावजूद लोगों की भारी भीड़ जमा हुई और सीएम अरविंद केजरीवाल को अपना समर्थन दिया। गोपाल राय ने बताया कि दिल्ली की जनता का कहना है कि हम अरविंद केजरीवाल के साथ हैं और हम सभी मिलकर भाजपा के इस षड़यंत्र के खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे। भाजपा की केंद्र सरकार दिल्ली का काम रोकने और आम आदमी पार्टी को खत्म करने के लिए ज्यादती कर रही है। जिस तरह से ‘‘आप’’ के नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है, उसे लेकर दिल्ली की जनता में भारी आक्रोश है।

बाबरपुर में जनसंवाद को संबोधित करते हुए ‘‘आप’’ दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के लोग बीजेपी की सरकार, सांसद औऱ विधायक बना चुकी है। दिल्ली के लोग कांग्रेस की सरकार भी बना चुकी है. लेकिन जब से दिल्ली के लोगों ने अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी की सरकार बनाई है, तब से यहां इतना काम हो रहा है कि बीजेपी की अन्य राज्यों की पांच-पांच बार की सरकार भी उतना काम नहीं कर पाई हैं। आप के दिल्ली संयोजक ने कहा कि बीजेपी को लगता है कि अब जब वह दिल्ली में चुनाव नहीं जीत सकते तो यहां हो रहे कामों को रोकने के लिए वह षड़यंत्र रच रहे हैं। पहली बार जब आम आदमी पार्टी ने चुनाव लड़ा तो 70 में से 67 सीट बीजेपी ने जीतीं, केवल 3 सीट बीजेपी के खाते में गई। केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी थे और पूरे देश में बीजेपी का जो विजयी रथ चल रहा था, उसको आम आदमी पार्टी ने रोक दिया था। दूसरी बार के चुनाव में बीजेपी को 8 सीट मिली। एमसीडी के चुनाव में जिस तरह से सारे षडयंत्रों के बावजूद बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा। आज उनको ऐसा लगता है कि पूरा देश भले ही जीत जाएं, लेकिन दिल्ली को कभी जीत नहीं सकते हैं। इसका बदला लेने की कोशिश बीजेपी और केंद्र की सरकार कर रही है। वो जानते हैं कि दिल्ली के लोग अरविंद केजरीवाल का साथ कभी छोड़ने वाले नहीं हैं। ये कोई व्यक्तिगत रिश्तेदारी नहीं है। दिल्ली के लोगों ने अरविंद केजरीवाल को वोट दिया और बदले में उन्होंने दिल्ली के लोगों के लिए काम करके दिया है।

उन्होंने ने कहा कि हमे इस बात का फक्र है कि पूरे देश में दिल्ली एक ऐसा राज्य है, जहां चाहे भले ही कोई गरीब हो या अमीर हो. पैसों की दिक्कत के चलते किसी के घर में अंधेरा नहीं हो सकता है। जो घर में उजाला करने की गारंटी देता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। जो हर लोगों के इलाज के लिए इलाज की गारंटी करता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। जो दिल्ली के अंदर स्कूलों को बेहतर बनाता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। दिल्ली के अंदर अस्पतालों को जो बेहतर बनाता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। मां-बहनों को जो बिना पैसों की यात्रा करवाता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। बुजुर्गों को देशभर में तीर्थयात्रा कराता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। 24 घंटे बिजली की गारंटी देता है, उसका नाम अरविंद केजरीवाल है।

‘‘आप’’ दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि कामों की फेहरिस्त इतनी लंबी है कि अगर गिनने बैठे तो पूरी रात बीत जाएगी। दिल्ली के अंदर जो काम हुए हैं, उसकी खुशबू पंजाब पहुंची है। पंजाब में सीबीईआई, ईडी और पैसों के दम पर सरकार नहीं बनी है। दिल्ली में जो काम अरविंद केजरीवाल ने किए हैं, उसके दम पर पंजाब में सरकार बनी। इसके बाद पंजाब की खुशबू गोवा पहुंची। वहां हमारे विधायक जीते, फिर गोवा की खुशबू गुजरात पहुंची। वहां हमारे विधायक जीते और देखते ही देखते आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय पार्टी बन गई। ये सब काम के दम पर हुआ। दिल्ली देश की राजधानी है तो देश का कोना-कोना चाहे वह केरल हो या कोलकाता, गुजरात हो या फिर मणिपुर कश्मीर हो या कन्याकुमारी। यहां देश के कोने-कोने से लोग आते हैं और यहां से काम की खुशबू देश के हर कोने में ले जाते हैं।

WhatsApp Image 2024 01 07 at 12.12.53
Mai Bhi Kejariwal: केजरीवाल को समर्थन देने कड़ाके के ठंड में जुटी लोगों की भीड़, हुआ जनसंवाद। 4

गोपाल राय ने कहा कि देश में पार्टियां तो बहुत हैं, लेकिन किसी पार्टी का उपमुख्यमंत्री जेल में नहीं है। राज्यसभा सांसद जेल में नहीं है. स्वास्थ्य मंत्री जेल के अंदर नहीं है। बीजेपी पूरे देश में किसी भी पार्टी को नेस्तानाबूत करने के लिए इतने जी-जान से जुटी नहीं है। दिल्ली में आज क्यों अरविंद केजरीवाल की घेराबंदी हो रही है। उनका सपना है कि लोकसभा चुनाव से पहले अरविंद केजरीवाल को तिहाड़ के सलाखों के पीछे पहुंचा दिया जाए, क्योंकि वह जानते हैं कि आज दिल्ली और पंजाब में जो काम हो रहे हैं, अगर अरविंद केजरीवाल को नहीं रोका गया तो वह जो पूरे देश में नफरत का बीज बो रहे हैं, उस बीज को अपने काम के दम पर मिटाने की अगर कोई क्षमता रखता है तो उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। उनको डर है कि देश में हमारी हुकुमत है, फिर भी दिल्ली में ऐसा झाड़ू चला कि वह कवर ही नहीं कर पा रहे हैं। उनको डर है कि कहीं देश की जनता ने एक दिन झाड़ू चला दिया तो पता नहीं चलेगा कि बीजेपी कहां गई। उनका पता-ठीकना नहीं चलेगा. जैसा कि आजकल दिल्ली में उनका पता-ठिकाना मालूम नहीं चलता है। पंजाब में बीजेपी का पता ठिकाना नहीं पता चलता है, इसलिए षडयंत्र कर मनीष सिसोदिया और संजय सिंह को जेल में रखा गया। अब वह चाहते हैं कि अरविंद केजरीवाल को भी जेल में रखा जाए.

‘‘आप’’ दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि 1 से 31 दिसंतब तक चले श्मैं भी केजरीवालश् अभियान के तहत कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर लोगों से बात की। इससे पता चला कि दिल्ली के लाखों लोगों ने एक आवाज में कहा कि हम लोग अरविंद केजरीवाल के साथ खड़े हैं। अरविंद केजरीवाल हमारे साथ है और हम अरविंद केजरीवाल के साथ हैं। चाहे फिर वह सचिवालय, सड़क या जेल में रहे, दिल्ली के लोग अरविंद केजरीवाल के साथ हैं और हमेशा रहेंगे। यही संकल्प दिल्लीवालों ने लिया है। पूरे दिल्ली में मैं भी केजरीवाल जनसंवाद अभियान चल रहा है। मैं यहां बस एक ही बात कहने आया हूं कि अरविंद केजरीवाल अपनी लड़ाई नहीं लड़ रहे हैं। आज की डेट में अगर जेल से मनीष सिसोदिया और संजय सिंह बीजेपी में शामिल होने की बात कह दें तो जेल से रिहा हो जाएंगे। देश के कई नेताओं को इन्होंने दबा लिया, छिपा लिया और वह जेल से बाहर आ गए। ईडी, सीबीआई के अंदर से उनकी फाइल भी गायब हो गई। कह रहे हैं कि फाइल खो गई, क्योंकि वह लोग बीजेपी में शामिल हो गए। मुख्यमंत्री भी बन गए। लेकिन देश में केवल आम आदमी पार्टी इकलौती है, जिनके नेताओं को जेल में एक साल हो गए। लेकिन, कोई झुकने, न बिकने को और न ही रुकने को तैयार है। लड़ रहे हैं और लड़ेंगे। क्योंकि अगर आज लड़ाई बंद हो गई तो पूरा देश बर्बाद हो जाएगा। इसलिए संविधान, लोकतंत्र को बचाने और दिल्ली में चल रहे कामों को आगे बढ़ाने के लिए लड़ाई जारी है, इसलिए ये लड़ाई हम सबकी है तो हमें पूरी क्षमता के साथ लड़ाई को जारी रखना होगा।

उन्होंने कहा कि ये पता नहीं है कि वह कब गिरफ्तार करेंगे। चारों तरफ घेराबंदी हो रही है। इसलिए आप सभी कार्यकर्ताओं से बस एक बात कहने आया हूं कि दुआ कीजिए और लोगों के बीच में जाकर उनको जागरुक करिए। उनके पास ईडी अगर ईडी-सीबीआई है तो हमारे पास लोगों की मोहब्बत है। ऐसे में इस लड़ाई को जारी रखना है। आपको लोगों के घर-घर जाकर लोगों को तैयार करना है और कहना है कि ये देश संकट में है। हमारी एक पीढ़ी ने लापरवाही की थी तो विदेशियों ने हमें गुलाम बनाया था। हमारी पीढ़ी के सामने भी वैसी ही स्थिति है, अगर हम लोगों ने इस समय लापरवाही की तो देश तानाशाहों का गुलाम बन जाएगा। फिर शायद संविधान की ताकत को वापस लाने के लिए लंबी लड़ाई लड़नी पड़े। इसलिए संविधान बचाने की इस लड़ाई में हम अरविंद केजरीवाल के साथ हैं और रहेंगे।